• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • INDORE के नाम एक और रिकॉर्ड : पहला शहर जहां दो बाजारों को मिला क्लीन स्ट्रीट फूड हब का टैग

INDORE के नाम एक और रिकॉर्ड : पहला शहर जहां दो बाजारों को मिला क्लीन स्ट्रीट फूड हब का टैग

इंदौर की 56 दुकानें अपने खान पान के लिए प्रसिद्ध हैं.

इंदौर की 56 दुकानें अपने खान पान के लिए प्रसिद्ध हैं.

INDORE : FSSI की टीमों ने 5 अगस्त को दोनों चाट चौपाटियों का सर्वे किया था. उसमें साफ सफाई, हाईजीन, खाने पीने की चीजों की शुद्धता, कचरे का सही निपटान और बेहतर व्यवस्था के लिए अलग अलग पैमानों पर अंक दिए गए थे.

  • Share this:

इंदौर. देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर ने एक और कीर्तिमान रच दिया है. यहां के दो बाजारों 56 दुकान और सर्राफा को क्लीन स्ट्रीट फूड हब (clean street food hub) का दर्जा मिला है. शहर की दोनों चाट चौपाटियों को फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSI) ने ये टैग दिया है.

FSSI की टीमों ने 5 अगस्त को दोनों चाट चौपाटियों का सर्वे किया था. उसमें साफ सफाई, हाईजीन, खाने पीने की चीजों की शुद्धता, कचरे का सही निपटान और बेहतर व्यवस्था के लिए अलग अलग पैमानों पर अंक दिए गए थे. सर्राफा में रात को खाने पीने की चीजों का बाजार लगता है. वहीं 56 दुकान सुबह से लेकर रात तक गुलजार रहता है. इन दोनो बाजारों को FSSI के मापदंडों पर खरा उतरने के बाद ये तमगा दिया गया.

खुश हैं सब
इंदौर मध्यप्रदेश का पहला और देश का तीसरा शहर बन गया जहां दो बाजारों को एक साथ क्लीन स्ट्रीट फूड हब का दर्जा मिला है. अहिल्या की नगरी को ये गौरव मिलने के बाद लोगों में खुशी का माहौल है. 56 दुकान व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष गुंजन शर्मा का कहना है 56 दुकान को क्लीन स्ट्रीट फूड हब का सर्टिफिकेट तो पिछले साल मिल गया था. इस साल इसका रिन्यूअल हुआ है. लेकिन रिन्यू होने में भी बड़ी चुनौती थी कि साफ सफाई के साथ हम लोग ट्रेनिंग कैसे लें. कोरोना का समय था जैसे तैसे हम लोगों ने ट्रेनिंग पूरी की और फूड हेडलर का मेडिकल सर्टिफिकेट लेकर हम लोग यहां तक पहुंचे. ये बहुत कठिन प्रक्रिया थी. लेकिन हम लोगों ने ये सर्टिफिकेट दोबारा हासिल कर लिया. इंदौर के लिए ये गौरव की बात है कि मध्यप्रदेश का वो इकलौता शहर है जिसके दो बाजारों को ये क्लीन स्ट्रीट फूड हब का दर्जा मिला है.

खान पान और शुद्धता-सर्राफा व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष राम गुप्ता ने बताया कि उन्होंने दुकानदारों की ट्रेनिंग कराई. कोरोना के बावजूद साफ सफाई और खाने पीने के सामान की शुद्धता के लिए विशेष इंतजाम करने के उपाय किए. तब जाकर ये सर्टिफिकेट हासिल हुआ है. इन दोनों बाजारों में देश विदेश से स्वाद के शौकीन पहुंचते हैं और यहां जायकों को मजा लेते हैं. सर्राफा बाजार अल सुबह 4 बजे तक खुला रहता है. अब FSSI का सर्टिफिकेट मिलने के बाद इन बाजारों की ख्याति और बढ़ गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज