27 साल से झोपड़ी में रह रही थी शहीद की पत्नी, युवाओं ने स्वतंत्रता दिवस पर गिफ्ट किया घर

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 16, 2019, 11:24 PM IST
27 साल से झोपड़ी में रह रही थी शहीद की पत्नी, युवाओं ने स्वतंत्रता दिवस पर गिफ्ट किया घर
गांव के मोहन सिंह साल 1992 में शहीद हुए थे. त्रिपुरा में उग्रवादियों द्वारा लगाए गए एम्बुश में वो शहीद हुए थे.

मध्य प्रदेश के एक गांव में युवाओं ने एक शहीद की पत्नी को बड़ा तोहफा दिया है. इंदौर जिले के बेटमा गांव में युवाओं ने झोपड़ीनुमा घर में रह रहे एक शहीद के परिवार को पक्का घर उपहार में दिया.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के एक गांव में युवाओं ने एक शहीद की पत्नी को बड़ा तोहफा दिया है. इंदौर जिले के बेटमा गांव में युवाओं ने झोपड़ीनुमा घर में रह रहे शहीद के परिवार को घर उपहार में दिया. दरअसल गांव के मोहन सिंह 1992 में शहीद हुए थे. त्रिपुरा में उग्रवादियों द्वारा लगाए गए एम्बुश में वो शहीद हुए थे. वो बीएसएफ में थे. उनकी मृत्यु के सालों बीत जाने के बाद भी किसी सरकार की तरफ से परिवार की कोई सुध नहीं ली गई थी.

लेकिन जब लंबे समय तक सरकार ने कोई सुध नहीं ली तो गांव के युवाओं ने ही शहीद के परिवार को पक्का मकान गिफ्ट करने का प्रण लिया. युवाओं ने चंदे के जरिए करीब 11 लाख रुपये जुटाए. इसके लिए युवाओं ने अभियान भी चलाया था. अभियान से जुड़े विशाल राठी के मुताबिक मकान बनवाने में करीब 10 लाख की लागत आई थी. बाकी एक लाख रुपये युवाओं ने मोहन सिंह की पत्नी को दे दिए.

युवाओं ने मोहन सिंह की पत्नी का उनके नए घर में स्वागत हथेलियां जमीन पर बिछाकर किया. युवाओं ने रक्षाबंधन पर भाइयों का बहन के लिए गिफ्ट भी बताया है.

Loading...





युवाओं की इस इच्छा शक्ति की सीएम कमलनाथ ने भी तारीफ की उन्होने ट्वीट कर कहा, 'गांव के युवाओं ने जनसेवा की मिसाल पेश कर रक्षाबंधन को सार्थक बनाया है. युवाओं के इस जज्बे को सलाम उनका ये कार्य सभी के लिए प्रेरक है.'



युवाओं के इस प्रयास की सराहना राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी की है. उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'इंदौर के बेटमा गांव के युवाओं ने शहीद के परिवार की मदद कर देशभक्ति की मिसाल कायम की है! आप जैसे युवा ही भारत की असली पहचान हैं! आप सभी ने सच्चे अर्थों में साबित किया है कि देश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर करने वाले का परिवार उसके जाने के बाद देश का परिवार बन जाता है!'

(अरुण त्रिवेदी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:

मध्य प्रदेश की जेलों में अब नयी ड्रेस में नज़र आएंगे क़ैदी

नीमच में बाढ़ :आफत की बारिश में पत्ते की तरह बह गयीं गुमठी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 10:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...