लाइव टीवी

जिस ऑफिस में बैठकर जीतू सोनी ने छपवाई हनी ट्रैप की खबरें, नगर निगम ने उसे भी किया ध्वस्त

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 11, 2019, 12:10 PM IST
जिस ऑफिस में बैठकर जीतू सोनी ने छपवाई हनी ट्रैप की खबरें, नगर निगम ने उसे भी किया ध्वस्त
जीतू सोनी के दफ्तर को गिराते निगम के कर्मचारी.

आईडीए (Indore Development Authority) ने शर्तो के उल्लंघन के कारण भवन की लीज (Lease) निरस्त कर जीतू सोनी के विरुद्ध कब्जे की शिकायत दर्ज थी.

  • Share this:
इंदौर. इंदौर (indore) के वांटेड फरार आरोपी जीतू सोनी (jitu soni) के अखबार का दफ्तर भी बुधवार को गिरा दिया गया. नगर निगम ने सांझ दैनिक लोकस्वामी के दफ्तर की इमारत पर बुलडोजर चलवा दिया. सोनी का ये छठवां ठिकाना था जिसमें नगर निगम ने तोड़फोड़ की है. इससे पहले अवैध निर्माण (illegal construction) के कारण उसकी होटल और बंगले पर कार्रवाई की जा चुकी है. जीतू सोनी के खिलाफ अब तक कुल मिलाकर 40 केस दर्ज हैं और गिरफ्तारी को लेकर 30 हजार रुपये का इनाम घोषित है.

3 घंटे में गिराया
बताया जा रहा है कि 1105 वर्गमीटर पर बने इस दफ्तर को निगम के अमले ने तीन घंटे में गिरा दिया. निगम ने एमआईजी थानांतर्गत प्रेस कॉम्प्लेक्स इलाके में सोनी के अखबार के दफ्तर को आधा दर्जन पोकलेन और जेसीबी की मदद से पूरे गिरा दिया गया. निगम अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान के अनुसार आधा दर्जन जेसीबी, और पोकलेन मशीन भवन गिराने के लिए लगाया गया.

पायलट गाड़ी जब्त

तोड़फोड़ की कार्रवाई में बड़ी संख्या में दस्तावेज मिले हैं. मौके से मिली एक बड़ी अलमारी और सोनी के काफिले की पायलट गाड़ी को पुलिस ने जब्त कर लिया. इसी वाहन में सवार होकर बंदूक धारी गार्ड सोनी के काफिले में सबसे आगे चलते थे. ये गाड़ी दफ्तर की पार्किंग में खड़ी थी.

IDA ने की थी शिकायत
जीतू सोनी का ये छठवां ठिकाना है जिसे इंदौर नगर निगम ने जमींदोज किया. इस जमीन को इंदौर विकास प्राधिकरण ने अखबार के उपयोग के लिए लीज पर दिया था. लेकिन जिस व्यक्ति को यह भवन एलॉट किया गया था उसने ही अखबार और भवन पर कब्जा करने की शिकायत पूर्व में दर्ज करायी थी. लिहाजा आईडीए ने शर्तो के उल्लंघन के कारण भवन की लीज निरस्त कर जीतू सोनी के विरुद्ध कब्जे की शिकायत की थी. इस शिकायत पर जिसके मंगलवार शाम को तुकोगंज पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था.40 मामलों में वांटेड
जीतू सोनी के ख़िलाफ मानव तस्करी सहित 40 केस दर्ज हैं. वो फरार है और उसकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने 30 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा है. जीतू सोनी के डांस बार पर छापे के बाद खुलासा हुआ था कि वहां युवतियों को बंधक बनाकर डांस करवाया जाता था. प्रशासन ने वहां से 67 बार बालाएं मुक्त करवाई थीं. युवतियां वहां बेहद अमानवीय तरीके से रखी गई थीं. 10 बाय 10 के कमरे में 10 युवतियां रहती थीं.

युवतियों के बयान पर दर्ज हुआ मामला
युवतियों के बयान के बाद ही जीतू सोनी, उसके बेटे अमित और उनके सहयोगियों के खिलाफ मानव तस्करी का मुकदमा पुलिस ने दर्ज किया था. इंदौर नगर निगम ने सोनी के अवैध कब्जों की सूची तैयार की थी और उसके बाद सोनी के मकान सहित होटल, रेस्टोरेंट और डांस बार पर नगर निगम ने अवैध निर्माण के कारण बुलडोजर चलाया था. उसके शांतिकुंज स्थित एक भवन को भी गिराया गया था. शांतिकुंज में सोनी अपनी महिला मित्र सोनिया के साथ रहता था.

आलीशान केबिन
सोनी के अखबार के दफ्तर के भीतर ही एक इवेंट कम्पनी का केबिन भी मिला था. जानकारी मिली है कि सोनी का छोटा बेटा इवेंट कम्पनी चलाता है. उसका इस जगह ऑफिस था. जीतू सोनी सुबह अखबार के दफ्तर में बैठता था. उसी में उसकी एक आलीशान केबिन बना था. खबर के संदर्भ में वो अधिकारियों और खबर से जुड़े संबंधित लोगों से वो वहीं मिलता था.

20 और ठिकाने
जानकारी मिली है कि पुलिस ने सोनी के करीब 20 ऐसे ठिकाने चिन्हित किए हैं जहां उसने अवैध कब्ज़ा कर अपना साम्रज्य स्थापित किया था. इनमें से अभी तक 6 ठिकाने धराशायी कर बाकी 14 के लिए नोटिस जारी कर दिए गए हैं. तय समय में जबाब नहीं मिलने पर निगम उन ठिकानों पर भी कार्रवाई करने की रणनीति बना चुका है.

ये भी पढ़ें-वॉंटेड जीतू सोनी का अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन ! अब तक 37 FIR दर्ज, तलाश जारी

100 का मटका 750 ₹ में और 5 करोड़ का ठेका 60 करोड़ में दिया, अब होंगी 100 FIR

अब हर मुश्किल का एक ही इमरजेंसी नंबर : डायल करना होगा '112'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 11:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर