चर्चित हनी ट्रैप मामला: फंस सकते हैं तत्कालीन इंजीनियर हरभजन, खुद दिलवाया था लड़कियों को होटल में रूम

इंदौर के चर्चित हनीट्रेप मामले में नया मोड़ आ गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

इंदौर के चर्चित हनीट्रेप मामले में नया मोड़ आ गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

चर्चित हनी ट्रैप मामला: इस मामले को खुद नगर निगम के तत्कालीन सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह सबके सामने लेकर आए थे. अब कहानी में नया मोड़ दिखाई दे रहा है. उन्होंने खुद 2 लड़कियों के लिए होटल में रूम बुक कराए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 7:48 AM IST
  • Share this:
इंदौर. प्रदेश में सबसे ज्यादा चर्चिच हनी ट्रैप मामले में नया मोड़ आ गया है. जिस मामले को खुद नगर निगम के तत्कालीन सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह ने उछाला था, अब वही इसमें फंसते हुए नजर आ रहे हैं. उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल, नगर निगम के निलंबित इंजीनियर हरभजन सिंह पर ज्यादती का आरोप लगाने वाली युवती की अर्जी पर जिला एवं सत्र कोर्ट में सुनवाई हुई.

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि युवती का मेडिकल करवाया जाए और जिस होटल में युवतियों ने रूम बुक कराया था, उसके मालिक को बुलाया जाए. बुधवार को होटल के मालिक दिनेश कोर्ट पहुंचे और बयान दर्ज कराए. उन्होंने बयान में कहा कि हरभजन सिंह के कहने पर ही युवती को कमरा दिया गया था. हरभजन ने मोबाइल पर कमरा बुक करने के लिए कहा था.

नगर निगम इंजीनियर ने कहा था रूम दे दो- होटल मालिक

युवती की ओर से अधिवक्ता यावर खान थे. खान ने बताया कि होटल मालिक ने कोर्ट में बयान दर्ज करवाए हैं. उन्होंने कोर्ट को बताया कि हरभजन सिंह का फोन आया था. सिंह ने कहा था कि होटल में कमरा बुक कर दो. उसके कुछ अधिकारी गेस्ट आने वाले हैं. कुछ देर बाद दो महिलाएं आईं और हरभजन सिंह से बात करवाई. सिंह ने कहा कि इन्हें रूम दे दो. होटल मैनेजर ने कोर्ट के सामने बुकिंग रजिस्टर की प्रति भी पेश की, जिसमें हरभजन सिंह द्वारा रूम बुक किए जाने का उल्लेख है.
कोर्ट में पेश हुई युवती की मेडिकल रिपोर्ट

जानकारी के मुताबिक, जिला अस्पताल में युवती का मेडिकल टेस्ट कराया गया था. इसकी रिपोर्ट भी कोर्ट में पेश कर दी गई है. मेडिकल करने वाले डॉक्टर 19 मार्च को बयान देने कोर्ट पहुंचेंगे. मामले में एक अन्य गवाह ने कोर्ट को बताया कि पीड़ित युवती गरीब परिवार से है. युवती के पिता उसके परिचित हैं. युवती के पिता के साथ वे पुलिस में शिकायत करने गए थे, लेकिन हरभजन सिंह के विरुद्ध दुष्कर्म की FIR दर्ज नहीं हुई थी.

अभी तक राज है ये हनीट्रैप मामला- जानिए क्या है कांड



इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह की 3 करोड़ रुपए मांगने की शिकायत के बाद भोपाल और इंदौर पुलिस ने कार्रवाई कर ब्लैकमेलिंग करने वाली पांच महिलाओं को गिरफ्तार किया था. यह महिलाएं अफसरों और नेताओं के वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करती थीं. इस हाईप्रोफाइल मामले में एक पूर्व मुख्यमंत्री, पूर्व राज्यपाल, पूर्व सांसद, भाजपा और कांग्रेस से जुड़े नेता और नौकरशाहों के फंसे होने की बात कही जा रही है. हालांकि, अब तक इस मामले में किसी का नाम सामने नहीं आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज