कोरोना को हराने राम भक्त हनुमान ने बदला रूप, लोगों ने कहा- बस ये मुराद कर दो पूरी

इंदौर में हनुमान जी को डॉक्टर का रूप दिया गया है. आस्था कहती है कि वे ही कोरोना को हरा सकेंगे.

इंदौर में हनुमान जी को डॉक्टर का रूप दिया गया है. आस्था कहती है कि वे ही कोरोना को हरा सकेंगे.

आस्था से हारेगा कोरोना: इंदौर में राम भक्त हनुमान को डॉक्टर का रूप दिया गया है. लोगों की अनादि काल तपेश्वर महादेव मंदिर में बड़ी आस्था है. लोगों का कहना है कि भगवान ही कोरोना को हरा सकते हैं.

  • Last Updated: May 20, 2021, 7:23 AM IST
  • Share this:

इंदौर. इंदौर में भगवान श्री हनुमान का अनूठा श्रंगार आकर्षण का केंद्र बन गया है. यहां भगवान हनुमान का श्रंगार भगवा वस्त्रों की जगह सफेद वस्त्र से किया गया. प्रभु को इस दौरान धरती के भगवान ‘डॉक्टर’ की भेष-भूषा धारण करवाई गई और कोरोना आपदा से जल्द निजात की मांग की गई.

गौरतलब है कि इंदौर के  राजवाड़ा स्थित सुभाष चौक पर प्राचीन राम भक्त हनुमान अनादि काल तपेश्वर महादेव मंदिर है. इस मंदिर पर पूरे शहरवासियों की बड़ी आस्था है. लोग बताते हैं कि यहां मन मांगी मुराद जरूर पूरी होती है. पूरा देश इस वक्त  कोविड-19  वायरस से  दिन-रात लड़ रहा है. कितनों की जिंदगी चली गई. कितनों के हमसफर उनका साथ छोड़ जा चुके हैं. पूरे देश में  निराशा डर का माहौल है. इस महामारी से ईश्वर जल्द सभी को निजात दिलाएं, इसी मंगल कामना के साथ हनुमान जी का डॉक्टर के रूप में श्रृंगार किया गया.

आस्था से खुलता विश्वास की जीत का रास्ता

मंदिर में उपस्थित श्रद्धालुओं का कहना है कि हनुमान जी बिल्कुल धरती के भगवान ‘डॉक्टर’ के रूप में दिख रहे हैं. इस वक्त डॉक्टरों को भी इंसानों ने धरती के भगवान मान लिया है. अगर इस वक़्त डॉक्टरों को ईश्वर का पर्यायवाची मान लिया जाए तो ये अतिशयोक्ति नहीं होगी. ‘मंगल भवन अमंगल हारी, द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी' इसी मंगल कामना के साथ हनुमान जी का श्रृंगार किया गया, उनकी आरती गई की गई. जल्द से जल्द कोरोना महामारी से लोगों को मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की गई.
फिलहाल राहत भरी खबर

शहर में बुधवार को कोरोना से संक्रमित 1072 नए केस मिले. संक्रमण से पांच लोगों की मौत हुई. रिकवरी रेट बढ़कर 91.12 फीसदी हो गया है. कुल 1 लाख 42 हजार 672 संक्रमितों में से 1 लाख 30 हजार 3 इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं. देश में भी कोरोना के नए मरीजों को लेकर राहत रही. 2,76,072 नए मरीज मिले. हालांकि ठीक होने वालों की संख्या इससे भी अधिक रही. एक दिन में 3,68,940 लोग स्वस्थ हुए. देश में रिकवरी दर बढ़कर 86.71% हो चुकी है. बुधवार को देश में 3,876 मौतें हुईं. देश में अब तक 2,87,156 लोगों की मौत हो चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज