Home /News /madhya-pradesh /

खजराना गणेश मंदिर के नाम एक और रिकॉर्ड, एक दिन में पहुंचे 8.35 लाख श्रद्धालु

खजराना गणेश मंदिर के नाम एक और रिकॉर्ड, एक दिन में पहुंचे 8.35 लाख श्रद्धालु

इंदौर के खजराना गणेण मंदिर का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन में दर्ज

इंदौर के खजराना गणेण मंदिर का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन में दर्ज

नये साल के पहले दिन सबसे ज्यादा श्रद्धालुओं ने खजराना गणेश मंदिर में दर्शन कर मंदिर का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन (World book of records london) में दर्ज करा दिया है

इंदौर.नये साल में इंदौर (indore) के विश्व प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर (khajrana ganesh temple) ने एक और कीर्तिमान रच दिया है. श्रद्धालुओं ने दर्शन करने के मामले में ये नया विश्व रिकॉर्ड (world record) बनाया है. नये साल के पहले दिन सबसे ज्यादा श्रद्धालुओं ने खजराना गणेश मंदिर में दर्शन कर मंदिर का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन (World book of records london)  में दर्ज करा दिया है. 1 जनवरी 2020 को 8 लाख 35 हज़ार 917 श्रद्धालुओं ने खजराना गणेश मंदिर में दर्शन किए.

दुनियाभर में प्रसिद्ध इंदौर के खजराना गणेश मंदिर में 31 दिसम्बर की रात 12 बजे से ही दर्शन शुरू हो गए थे. इसमें देश विदेश से लाखों श्रद्धालु पहुंचे थे क्योंकि हर कोई नई साल की शुरूआत प्रथम पूज्य गणेश के दर्शन कर करना चाहता था.लाखों की संख्या में श्रद्धालु मंदिर में दर्शन करने पहुंचे. आलम ये रहा कि खजराना के आसपास के इलाकों में नये साल के पहले दिन जाम लगा रहा. कई किलोमीटर लंबी लाइन में लगकर श्रद्धालुओं ने बप्पा के दर्शन किए.

गणेश के चरणों में सर्टिफिकेट समर्पित
वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स की ओर से खजराना गणेश के चरणों में ये सर्टिफिकेट भेंट किया गया. इस मौके पर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स की ओर से मधुर टेमले,प्रदीप मिश्रा,संजय पंजवानी और आशीष मिश्रा उपस्थित थे. मंदिर प्रबंधन समिति के महाप्रबंधक बी एल कांसट, प्रबंधक जी एस मिश्रा,मंदिर के पुजारी पंडित अशोक भट्ट, विनीत भट्ट, मोहन भट्ट मौजूद थे. खजराना गणेश मंदिर को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन में शामिल होने पर ब्रिटिश पार्लियामेंट के सांसद वीरेंद्र शर्मा, इंदौर के कमिश्नर आकाश त्रिपाठी, कलेक्टर लोकेश जाटव, निगम कमिश्नर आशीष सिंह और इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने शुभकामनाएं दी हैं.

नये साल में दर्शन के विशेष इंतजाम
284 साल पुराने इंदौर के प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर में नये साल पर श्रद्धालुओं के लिए विशेष व्यवस्थाएं की गईं थी. मंदिर में दर्शन व्यवस्था में भी बदलाव किया गया थ.. 31 दिसंबर और 1 जनवरी को गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश बंद कर दिया था. गर्भगृह के सामने चार स्टेप का निर्माण किया गया है, जिससे भक्त चार कतारों के माध्यम से दर्शन कर रहे थे. आरती के दौरान कतार चलायमान रखी गई थी. हर भक्त को 10 से 15 मिनट में दर्शन कराने का लक्ष्य रखा गया था. 1 जनवरी को बुधवार होने की वजह से मंदिर प्रशासन को करीब 3 से 4 लाख भक्तों के आने का अनुमान था लेकिन लेकिन मंदिर प्रशासन के अनुमान से दोगुने भक्त दर्शन करने पहुंच गए. इस वजह से 31 दिसम्बर की रात से रिंगरोड जाम हो गया था. मंदिर प्रशासन ने ड्रोन कैमरे से तस्वीरें लीं थीं जिसमें रिकार्ड भीड़ दिखाई दे रही थी.

अपने आप में खास है खजराना गणेश
इस मंदिर की खासियत ये है कि यहां भगवान गणेश के साथ रिद्धि-सिद्धि की मूल प्रतिमा विराजमान हैं. इसके अलावा मंदिर परिसर में भगवान शिव और मां दुर्गा के मंदिर सहित छोटे-बड़े कुल 33 मंदिर हैं.मंदिर परिसर में पीपल का एक प्राचीन पेड़ है, जिसके बारे में माना जाता है कि ये भी मनोकामना पूर्ण करने वाला है. यही कारण है कि देश दुनिया से भक्त यहां पहुंचते हैं और प्रथम पूज्य भगवान गणेश के दर्शन कर नए साल की शुरूआत करते हैं. पिछले साल यहां तीन लाख से ज्यादा भक्तों ने दर्शन किए थे.र इस बार बुधवार होने की वजह से भक्तों की संख्या करीब तीन गुना तक पहुंच गई

सेफ भोग प्लेस का भी मिल चुका है अवार्ड
भारत सरकार के भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण एफएसएसएआइ ने खजराना मंदिर की भोजनशाला को सेफ भोग प्लेस का प्रमाण पत्र दिया था. यहां मिलने वाला प्रसाद और अन्य खाद्य सामग्री शुद्घ एवं सुरक्षित होती है. खजराना मंदिर दूसरा ऐसा मंदिर था,जिसे 'सेफ भोग प्लेस' का प्रमाण पत्र मिला था. इससे पहले उज्जैन के महाकाल मंदिर की भोजनशाला को ये प्रमाण पत्र मिल चुका है.

ये भी पढ़ें-ये गिरोह रेलवे और FCI में नौकरी का जाली नियुक्ति पत्र और ट्रेनिंग देता था...

भोपाल में सजेगा राजनीति-बॉलीवुड की हस्तियों का मंच -Rising Madhya Pradesh

 

Tags: Ganesh Chaturthi, Indore Municipal Corporation, Indore news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर