इंदौर से अगवा अक्षत को पुलिस ने ऐसे किया रेस्क्यू, सीएम कमलनाथ ने दी बधाई

पुलिस के अनुसार 500 से ज्यादा सीसीटीवी, 2 दर्जन कॉल डिटेल और एक दर्जन संदिग्धों से पूछताछ के बाद हीरानगर थाना इलाके से अपह्रत अक्षत को ढूंढ़ने में पुलिस को सफलता मिली. मामले में सीएम कमलनाथ ने तत्परता दिखाने पर पुलिस को बधाई दी है.

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 12, 2019, 10:36 AM IST
इंदौर से अगवा अक्षत को पुलिस ने ऐसे किया रेस्क्यू, सीएम कमलनाथ ने दी बधाई
इंदौर से अपह्रत अक्षत
Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 12, 2019, 10:36 AM IST
इंदौर से अपहृत हुए 6 साल के अक्षत को पुलिस ने सागर से बरामद कर लिया है. इंदौर पुलिस अक्षत को लेकर हीरा नगर थाने पहुंच गई है. बच्चे को सही सलामत पाकर परिजनों में खुशी है. पूरे मामले में सीएम कमलनाथ ने तत्परता दिखाने पर पुलिस को बधाई दी है. सीएम ने पुलिस महकमे को ऐसे मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. पुलिस के अनुसार 500 से ज्यादा सीसीटीवी, 2 दर्जन कॉल डिटेल और एक दर्जन संदिग्धों से पूछताछ के बाद हीरानगर थाना इलाके से अपह्रत अक्षत को ढूंढ़ने में पुलिस को सफलता मिली. पुलिस के अनुसार अपहरण की वजह आपसी विवाद भी हो सकता है.

इंदौर डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने बताया कि रविवार को बच्चों के साथ बगीचे में खेल रहे 6 साल के बच्चे का दिनदहाड़े अपहरण हो गया था. इसके बाद बदमाशों ने कुछ देर बाद बच्चे के पिता को फोन कर बच्चे की रिहाई के एवज में 10 लाख रुपये की फिरौती मांग ली. पुलिस को सीसीटीवी कैमरे से दो बदमाशों के फुटेज मिले थे, जिसके बाद पुलिस ने फोन नंबर और फुटेज के आधार पर आरोपियों की तलाश की. इस मामले में अब तक दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है और पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश कर रही है. पुलिस के अनुसार मामले के तार उत्तरप्रदेश से भी जुड़े हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें-  पुलिस की बड़ी कामयाबी: इंदौर से अगवा हुआ अक्षत 24 घंटे बाद सागर में मिला



डीआईजी मिश्रा ने बताया कि मीडिया में लगातार बच्चे के अपहरण की खबरों से आरोपियों पर दबाव बना और आरोपी बच्चे को बड़ोदिया चौकी के पास छोड़कर भाग खड़े हुए. डीआईजी के अनुसार आरोपी बच्चे को उत्तरप्रदेश के ललितपुर ले जाने की योजना में थे. अपहरण में उत्तरप्रदेश के बदमाशों के शामिल होने की जानकारी सामने आई है. पुलिस ने रविवार को ही करीब पांच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी, जिसके बाद पुलिस के हाथ कुछ सूत्र लगे और बच्चे का रेस्क्यू किया गया.

यह भी देखें- VIDEO: बाकियों से अलग है 13 साल का ललित, कोई अवतार है या बीमार?

बच्चे के पिता रोहित ने पुलिस को बताया कि अक्षत रोज की तरह दोपहर करीब दो बजे खेलने गया था. करीब तीन बजे उसके पास एक फोन आया और बच्चे को छोड़ने की एवज में 10 लाख रुपये की मांग की. फोन से वह घबरा गया और पत्नी शिल्पा को अक्षत की तलाश में भेजा. बच्चे के अपहरण की सूचना से कॉलोनी में सनसनी फैल गई.

यह भी पढ़ें-  कमलनाथ से मिलने का समय मांगा तो निशाने पर आए शिवराज!
Loading...

सोमवार को मंत्री जीतू पटवारी भी बच्चे के घर पहुंचे. प्रत्यक्षदर्शी बच्चों ने पुलिस को बताया कि बाइक पर दो लड़के आए थे, जिनमें से एक ने मास्क पहन रखा था. बदमाशों ने बच्चों के अक्षत के बारे में पूछा और कहा कि उसे उसकी दादी बुला रही है, जिसके बाद वे अक्षत को उठाकर ले गए. रोहित बदमाशों के फोन के बाद अपने दोस्त के साथ थाने पहुंचा और अपहरण की शिकायत दर्ज करवाया. शिकायत के बाद पुलिस ने पूरे शहर में नाकाबंद करवा दी.

पुलिस का कहना है आरोपी पुलिस के दबाव के चलते दहशत में आ गए और बच्चे को पुलिस चौकी के पास छोड़कर भाग खड़े हुए, लेकिन पुलिस अब तक यह भी बताने की स्थिति में नहीं है कि आरोपियों की संख्या कितनी थी और इसके पीछे क्या वजह रही थी, लेकिन पुलिस दबी जुबान से आरोपियों में विवाद होने की आशंका जता रही है.

यह भी पढ़ें-  मंडप में देर आया दुल्हन का परिवार, दूल्हे ने दुल्हन की बहन थप्पड़ मार कर पूछा- देर क्यों हो गयी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर