होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

लता मंगेशकर के निधन से इंदौर की आंखों में आंसू, जानिए स्वर कोकिला का यहां से क्या है रिश्ता

लता मंगेशकर के निधन से इंदौर की आंखों में आंसू, जानिए स्वर कोकिला का यहां से क्या है रिश्ता

Lata Mangeshkar Death: स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन से मध्य प्रदेश में शोक की लहर है. उनके जन्म स्थान इंदौर में लोगों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी.

Lata Mangeshkar Death: स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन से मध्य प्रदेश में शोक की लहर है. उनके जन्म स्थान इंदौर में लोगों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी.

Lata Mangeshkar Death: स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन से मध्य प्रदेश में शोक की लहर है. इंदौर जिले में तो करीब-करीब हर शख्स स्तब्ध है और रो रहा है. क्योंकि लता मंगेशकर का जन्म इंदौर में ही हुआ था. उनका जन्म 28 सितंबर 1929 को सिख मोहल्ले में हुआ था. उन्होंने यहीं नानी के घर संगीत की शुरुआती शिक्षा ली. इसके बाद फिर इंदौर छोड़ दिया. इंदौरवासियों ने उनके जन्मस्थान पर जाकर श्रद्धांजलि दी और उनके स्थान पर बने कपड़े के शोरूम को आज के लिए बंद कर दिया गया. लोगों ने लता मंगेशकर की तस्वीर रखी और उस पर फूल चढ़ाए.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन से मध्य प्रदेश शोक में डूबा हुआ है. इंदौर जिले में तो करीब-करीब हर शख्स की आंखें नम हैं. क्योंकि लता मंगेशकर का जन्म इंदौर में ही हुआ था. उनका जन्म 28 सितंबर 1929 को सिख मोहल्ले में हुआ था. वे सात साल की उम्र में मुंबई चली गई थीं. उनके पिता का नाम दीनानाथ और मां शेवंती थीं. इंदौरवासियों ने उनके जन्मस्थान पर जाकर श्रद्धांजलि दी और उनके स्थान पर बने कपड़े के शोरूम को आज के लिए बंद कर दिया गया.

लोगों ने लता मंगेशकर की तस्वीर रखी और उस पर फूल चढ़ाए. गौरतलब है कि उनकी नानी का घर भी इंदौर में ही था. ये घर इंदौर जिला अदालत से लगी गली में था. यहीं उन्होंने संगीत सीखना शुरू किया था. उस वक्त उनके घर को एक मुस्लिम परिवार ने खरीदा था. फिलहाल यह घर मेहता परिवार के पास है. बताया जाता है कि मेहता परिवार ने इस घर को मुंहमांगी कीमत में खरीदा था, क्योंकि यहां लता ताई का जन्म हुआ था. इसके बाद उन्होंने घर में कई तरह के बदलाव किए. मेहता परिवार ने घर के बाहरी हिस्से में कपड़े का शोरूम खोला है. उनकी दुकान के एक कोने में लता मंगेशकर का म्यूरल बना हुआ है.

शिवराज-सिंधिया ने जताया शोक

मुख्यमंत्री शिवराज ने लता मंगेशकर के निधन पर कहा- भारत रत्न अलंकृत हम सबकी प्यारी दीदी लता मंगेशकर के देवलोक गमन का दुखद समाचार पाकर स्तब्ध हूं. यह संगीत जगत के एक और अप्रतिम युग का अंत है. ईश्वर दीदी को अपने श्री चरणों में स्थान दे. शोक संतप्त परिजनों व दीदी के प्रशंसकों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करे. केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी लता मंगेशकर के निधन पर दुख जताया. सिंधिया ने ट्वीट किया- स्तब्ध हूं-निःशब्द हूँ. सुरों की देवी, देश का मान-सम्मान, भारत रत्न आदरणीय लता मंगेशकर जी का जाना राष्ट्र और सम्पूर्ण संगीत जगत के लिए अपूरणीय क्षति है।हमने एक अमूल्य हीरा खो दिया है. ईश्वर लता दीदी की आत्मा को शांति और परिजनों व उनके करोड़ों प्रशंसकों को ये दुख सहने की शक्ति दें.

Tags: Indore news, Lata Mangeshkar, Mp news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर