Home /News /madhya-pradesh /

कोयला उपलब्ध ना होने पर बुरहानपुर टेक्सटाईल उद्योग नगर में जलाई जा रहीं लकड़ियां

कोयला उपलब्ध ना होने पर बुरहानपुर टेक्सटाईल उद्योग नगर में जलाई जा रहीं लकड़ियां

 टैक्सटाईल उद्योग नगर में स्टीम बॉयलर संचालित करने के लिए लकड़ी का प्रयोग जारी

टैक्सटाईल उद्योग नगर में स्टीम बॉयलर संचालित करने के लिए लकड़ी का प्रयोग जारी

बुरहानपुर जिला प्रशासन ने बीती एक मई से आनन फानन में शहर से सटे टैक्सटाईल उद्योग नगर में स्टीम बॉयलर संचालित करने के लिए लकड़ी जलाने पर पाबंदी लगा दी गई थी. उद्योगपतियों को वैकल्पिक ईंधन कोयला नहीं मिलने से औद्योगिक इकाईयों में जस की तस लकड़ी का उपयोग किया जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...
    बुरहानपुर जिला प्रशासन ने बीती एक मई से आनन फानन में शहर से सटे टैक्सटाईल उद्योग नगर में स्टीम बॉयलर संचालित करने के लिए लकड़ी जलाने पर पाबंदी लगा दी गई थी. उद्योगपतियों को वैकल्पिक ईंधन कोयला नहीं मिलने से औद्योगिक इकाईयों में जस की तस लकड़ी का उपयोग किया जा रहा है.उद्योग विभाग का कहना है कोयले की उपलब्धता के बाद लकड़ी जलाने पर सख्ती से रोक लगाई जाएंगी.बुरहानपुर के टेक्सटाईल उद्योग नगर में करीब दो दर्जन से अधिक औद्योगिक इकाईयों में स्टीम बॉयलर संचालित करने के लिए जलाऊ लकड़ी का उपयोग किया जाता रहा है. लकड़ी जलने से निकलने वाले धुंए से पर्यावरण को नुकसान होने पर जिला प्रशासन ने मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की अनुशंसा पर विगत 01 मई से लकड़ी के उपयोग पर पाबंदी लगा दी थी लेकिन अभी भी इन औद्योगिक ईकाइयों में स्टीम बायलर संचालित करने के लिए जलाऊ लकड़ी का ही उपयोग किया जा रहा है.

    उद्योगपतियों का तर्क है 10 साल पहले तक शासन द्वारा कोयला उपलब्ध कराया जाता था लेकिन अब नहीं कराया जा रहा है. मजबूरन लकड़ी का उपयोग किया जा रहा है.अगर औद्योगिक इकाईयां बंद करते है तो 10 हजार मजदूर बेरोजगार हो जाएंगे.उद्योग विभाग ने लघु उद्योग निगम के माध्यम से कोयला विभाग को कोयले की मांग भेजी है जिसकी अभी तक आपूर्ति नहीं हो रही है. जैसे ही पर्याप्त मात्रा में कोयला उपलब्ध होगा वैसे ही सख्ती से उद्योगिक ईकाइ के स्टीम बायलर संचालित करने के लिए लकड़ी के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाएगी.

    Tags: Madhya pradesh news

    अगली ख़बर