मध्‍य प्रदेश STF को मिली बड़ी सफलता, किंग लेपर्ड की खाल के साथ आरोपी गिरफ्तार

एक साल पहले वन विभाग की टीम ने कुछ आरोपियों को नाखून और पंजे के साथ पकड़ा था, लेकिन मुख्य आरोपी गफ्फार खाल लेकर फरार हो गया था.

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 5:32 PM IST
मध्‍य प्रदेश STF को मिली बड़ी सफलता, किंग लेपर्ड की खाल के साथ आरोपी गिरफ्तार
तेंदुए की दुर्लभ प्रजाति है किंग लेपर्ड .
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 5:32 PM IST
इंदौर. मध्‍य प्रदेश एसटीएफ(Madhya Pradesh STF) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड (King Leopard) की खाल को बरामद किया है. मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ की टीम ने इंदौर (Indore) की फ्रेंड्स कॉलोनी चंदन नगर में रिश्तेदार से मिलने आए फरार आरोपी गफ्फार उर्फ भैय्यू रशीद को गिरफ्तार किया. आरोपी पर वन विभाग(Forest Department) ने 5 हजार का इनाम घोषित किया था. पूछताछ में आरोपी के पास से तेंदुए की खाल बरामद हुई.

जबकि आरोपी को आगे की कार्रवाई के लिए एसटीएफ ने वन विभाग को सौंप दिया है. यह तेंदुए की दुर्लभ प्रजाति है, जो पश्चिम घाट में पाया जाता है. इसे सेंधवा के जंगलों में मारा गया था. एक साल पहले वन विभाग की टीम ने कुछ आरोपियों को नाखून और पंजे के साथ पकड़ा था, लेकिन मुख्य आरोपी गफ्फार खाल लेकर फरार हो गया था.

एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने कही ये बात
एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किंग लेपर्ड दुलर्भ प्रजापति है. इस तेंदुए की खाल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत दस लाख रुपए तक है. इसके अलावा तंत्र-मंत्र और एंटिक आइटम में इसका उपयोग किया जाता है.

इस तेंदुए की खाल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत दस लाख रुपए तक है.


सेंधवा में किया था शिकार
एक साल पहले वन विभाग की स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने आरोपी गफ्फार पर 5 हजार का इनाम घोषित किया था. आरोपी लंबे समय से फरार चल रहा था. हालांकि इससे पहले फरार आरोपी के साथी शाकिर मोलाना निवासी देवास, शिवा बाबा निवासी सेंधवा और बलदेव को गिरफ्तार किया गया था. वहीं इससे पहले भी सीबीआई महाराष्ट्र यूनिट ने महाराष्ट्र में टाइगर, लेपर्ड के शिकार के बाद खाल और अवशेष की तस्करी को लेकर मध्य प्रदेश में होने वाली सप्लाई की सूचना वन विभाग को दी थी.
Loading...

वन विभाग चला रहा ऑपरेशन
वन विभाग एक खास ऑपरेशन चला रहा है. इस अभियान के तहत फरार आरोपियों को गिरफ्तार किया जा रहा है. एसटीएफ को मिली सूचना में वन विभाग के कर्मचारियों ने भी मदद की थी. जब फरार आरोपी गफ्फार को पकड़ा गया, तब वन विभाग की टीम भी शामिल थी.

ये भी पढ़ें-सियासत की वजह से भोपाल-इंदौर से पीछे रह गया प्रदेश का ये 'पॉवर सेंटर' शहर

कांग्रेस में घमासान के बीच दिग्विजय सिंह ने CM कमलनाथ को याद दिलाया 'वचन'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 4:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...