गर्लफ्रेंड के प्यार और लालच में हुआ अंधा, ढाई-ढाई लाख में मजबूरों को बेचे tocilizumab इंजेक्शन

इंदौर में टोसिलिजुमैब इंजेक्शन के नाम पर जमकर धांधली चल रही है.(सांकेतिक तस्वीर)

इंदौर में टोसिलिजुमैब इंजेक्शन के नाम पर जमकर धांधली चल रही है.(सांकेतिक तस्वीर)

इंदौर में एक लड़के ने मजबूरों का जमकर फायदा उठाया उसने tocilizumab injection ढाई लाख रुपए में बेचे. इस इंजेक्शन की कीमत 40 हजार के आसपास है. पुलिस आरोपी पर NSA लगाएगी.

  • Share this:

इंदौर. इंदौर का सुऱेश यादव गर्लफ्रेंड के प्यार और लालच में इतना अंधा निकला कि उसने जीवन रक्षक टोसिलिजुमैब(टोसी-tocilizumab injection) में पानी भरकर मजबूरों को ढाई-ढाई लाख में बेच दिया. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. उस पर NSA के तहत कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक, आरोपी के पास पैसे आते गए और उसने उन पैसों से घर के लिए कूलर, फ्रिज और अलमारी के साथ-साथ गर्लफ्रेंड के लिए हजारों के कपड़े और कई गिफ्ट खरीद लिए. लॉकडाउन खुलने के बाद आरोपी अपनी गर्लफ्रेंड को घुमाने ले जाने वाला था.

पुलिस को मिली ये शिकायत

TI तहजीब काजी ने बताया कि सुरेश यादव (29 साल) लक्ष्मणपुरा गली नंबर-3 बाणगंगा का रहने वाला है. एक पीड़ित ने शिकायत की थी कि सुरेश ने उसे tocilizumab injection बताकर नकली इंजेक्शन ढाई लाख रुपए में दी. जब देखा तो उसमें पानी भरा हुआ था. शिकायतकर्ता ने बताया कि सुरेश सोशल मीडिया पर एक्टिव है और उसने मेरा मोबाइल नंबर ब्लॉक कर दिया है.
इस तरह पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी

इसके बाद SI प्रियंका शर्मा ने भी सोशल मीडिया ग्रुप इंदौर स्मार्ट सिटी पर इसी इंजेक्शन को खरीदने की डिमांड की. आरोपी समझा नहीं और उसने प्रियंका से चैट करनी शुरू की. आरोपी ने कहा कि वो इंजेक्शन दे देगा. 40 हजार की इंजेक्शन की कीमत ढाई लाख तय हुई. मंगलवार को आरोपी ने प्रियंका को विजय नगर में राधेश्याम पहलवान के घर के पास मिलने के लिए बुलाया. आरोपी ने सब इंस्पेक्टर से यह भी कहा कि रुपए शकर या धान की थैली में लाना. पुलिस पूछे तो बोल देना कि घर के लिए राशन लेने आई थी. एसआई वहां पहुंची और आरोपी को थैली दी. आरोपी ने रुपए लेकर प्रियंका से कहा कि अब यहां से जल्दी निकल जाओ. इसी दौरान पुलिस ने उसे पकड़ लिया। आरोपी को यह नहीं मालूम था कि जिसे वह इंजेक्शन दे रहा है वह खुद ही पुलिस स्टाफ है.

ग्राहकों से संपर्क कर रही पुलिस



इस बीच पुलिस उन लोगों से भी संपर्क कर रही है, जिन्होंने सुरेश से इंजेक्शन खरीदे. आरोपी ने किसी को भी असली इंजेक्शन नहीं दिया. बीमारी के चलते फिलहाल कोई शिकायत नहीं करना चाहता. वे इसके बाद कार्रवाई करेंगे. बताया जाता है कि आरोपी ने देवास की एक महिला को इंजेक्शन के बदले वैसलीन की डिब्बी थमा दी थी. उसी महिला की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज