लाइव टीवी

पेट्रोल पम्प पर काम करने वाले के बेटे ने पास की UPSC परीक्षा, मिली 93वीं रैंक

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 7, 2019, 11:56 AM IST
पेट्रोल पम्प पर काम करने वाले के बेटे ने पास की UPSC परीक्षा, मिली 93वीं रैंक
परिजन

प्रदीप ने आल इंडिया 93वीं रैंक हासिल की है. प्रदीप के पिता पेट्रोल पम्प पर काम करते हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के इंदौर के रहने वाले प्रदीप सिंह का यूपीएससी में चयन हुआ है. प्रदीप ने आल इंडिया 93वीं रैंक हासिल की है. प्रदीप के पिता पेट्रोल पम्प पर काम करते हैं. प्रदीप को पढ़ाने के लिए उनके पिता ने घर बेच दिया था और किराए के घर में रहते हैं. प्रदीप ने वीडियो कॉल कर अपनी सफलता के बारे में जब परिजनों को बताया तो सभी खुशी से झूम उठे.

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) में 93वी रैंक पाने वाले प्रदीप सिंह फिलहाल दिल्ली में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओ की  तैयारी कर रहे थे. गरीबी से जूझने के बाद भी उनके माता-पिता ने बच्चों को पढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी. प्रदीप सिंह के पिता ने बताया की उन्होंने अपनी जरूरतों को कम कर अपने बच्चों को पढ़ाया और उसी का नतीजा है कि बेटा आज कलेक्टर बन गया है. कई बार मुसीबत के पहाड़ आए, लेकिन बच्चों की पढ़ाई प्रभावित नहीं  होने दी.

दिल्ली में पढ़ाने के लिए जब उनके पास पैसे नहीं थे तो उन्होंने अपना मकान बेच दिया और बच्चे को पढ़ाई के लिए दिल्ली भेजा. अब तक परिवार किराए के मकान में ही रहता है. इसके अलावा मां ने बच्चे की पढ़ाई के लिए अपने गहनों को बेच दिया और पढ़ाई जारी रखने की बात कही.

इंदौर डीएवीवी से पढ़ाई करने के बाद प्रदीप ने दिल्ली का रूख का किया. प्रदीप के चयन की सूचना मिलते ही उनके परिजनों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. साथ ही कई रिश्तेदार भी उनके घर पहुंचे और गले मिलकर एक दूसरे को बधाई दी.

ये भी पढ़ें- UPSC : भोपाल की सृष्टि देशमुख ने महिला वर्ग में किया टॉप, ऑलओवर 5वीं रैंक

ये भी पढ़ें - ताई के एलान के बाद इंदौर में चढ़ा रहा सियासी पारा, यहां पढ़िए पूरी ख़बर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2019, 9:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...