लाइव टीवी

मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने दी सफाई, सांसद डामोर के मामले में तथ्यों के आधार पर हो रही कार्रवाई

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 3, 2019, 9:27 PM IST
मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने दी सफाई, सांसद डामोर के मामले में तथ्यों के आधार पर हो रही कार्रवाई
मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा- तथ्यों के आधार पर हो रही कार्रवाई

बीजेपी सांसद जीएस डामोर (GS Damor) पर एफआईआर (FIR) को लेकर कमलनाथ सरकार के पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सफाई दी है. उन्होंने कहा कि हम तथ्यों के आधार पर कार्रवाई कर रहे हैं, जबकि केन्द्र की बीजेपी सरकार बदले की भावना से कार्रवाई कर रही है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) ने कहा है कि जिन लोगों का जांच आयोग की रिपोर्ट में नाम आ रहा है चाहे वो हनी ट्रैप का मामला हो, पेंशन घोटाला (Pension Scam) हो या सिंहस्थ घोटाले का मामला, हम तथ्यों के आधार पर आरोपी बना रहे हैं. बीजेपी तो बिना एफआईआर के लोगों को जेल में डाल रही है.

'बदले की भावना से काम करती है केंद्र सरकार'
कमलनाथ सरकार के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने आरोप लगाया कि केन्द्र की सरकार बदले की भावना से काम करती है. उन्होंने कहा कि, 'कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदम्बरम का एफआईआर में नाम तक नही है, उन्हें तिहाड़ जेल में डाल रखा है. उन्होंने कहा कि ये समझ से परे है कि महाराष्ट्र चुनाव के पहले प्रफुल्ल पटेल से 12-12 घंटे पूछताछ की गई, एनसीपी नेता शरद पवार पर ईडी का छापा मारा जाता है, ईडी पूछताछ करती है बीजेपी इस तरह की भूमिका बनाकर बदले की कार्रवाई कर रही है, जबकि कमलनाथ सरकार तथ्यों के आधार पर ही कार्रवाई कर रही है.'

सांसद डामोर के खिलाफ ये हैं आरोप

रतलाम झाबुआ सांसद और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के रिटायर्ड चीफ इंजीनियर गुमान सिंह डामोर के खिलाफ आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ ने टंकी खरीदी के मामले में एफआईआर दर्ज की है. उन पर इंदौर जोन में चीफ इंजीनियर रहते हुए सिंहस्थ 2016 में पानी की टंकियों की खरीदी में आर्थिक अनियमितता के आरोप हैं. आरोप है कि डामोर ने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर एक टेंडर के तीन टुकड़े कर खरीददारी की इससे सरकार को आर्थिक हानि हुई हैं टेंडर खरीदी प्रक्रिया में प्रशासकीय त्रुटियां भी सामने आई है

ये भी पढ़ें -
भोपाल की इस 'निर्भया' के मामले में न DNA रिपोर्ट आई, न केस फास्ट ट्रैक कोर्ट पहुंचा, कब मिलेगा इंसाफ?BJP ने चुनावों के लिए नियुक्त किए पर्यवेक्षक, प्रदेश अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल हैं ये नाम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 9:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर