Home /News /madhya-pradesh /

गायब हुआ तेंदुआ वन विभाग की महिला कर्मचारियों ने ढूंढ़ निकाला, यहां फरमा रहा था आराम

गायब हुआ तेंदुआ वन विभाग की महिला कर्मचारियों ने ढूंढ़ निकाला, यहां फरमा रहा था आराम

INDORE. घायल तेंदुए का अब इंदौर जू में इलाज किया जा रहा है.

INDORE. घायल तेंदुए का अब इंदौर जू में इलाज किया जा रहा है.

Indore Zoo News : बुरहानपुर से इंदौर लाते समय घायल तेंदुआ पिंजरे की जाली तोड़कर भाग गया था. उसकी तलाश में 6 दिन से वन विभाग और जू के स्टाफ के साथ स्निफर डॉग भी लगे थे. आज वो वन विभाग के रेस्ट हाउस के पास घूमता मिल गया.

इंदौर. लापता तेंदुआ आखिरकार मिल गया. वो इंदौर (Indore) में नवरत्न बाग के रेस्ट हाउस के पास घूमता मिला. वन विभाग की टीम ने उसे पकड़ लिया. बुरहानपुर से इंदौर जू शिफ्टिंग के दौरान तेंदुआ (Tendua) पिंजरे की जाली तोड़कर भाग गया था. तब से कुछ पता नहीं था कि वो है कहां. इंदौर जू से वो भागा या बुरहानपुर से लाते वक्त रास्ते में वो कहीं चला गया.

जू से 6 दिन पहले गायब हुआ तेंदुए को आखिरकार वन विभाग और जू प्रबंधन की टीम ने पकड़ लिया, बुरहानपुर इलाज के लिए इंदौर लाया गया ये तेंदुआ गायब हो गया था. उसके बाद से लगातार सर्च ऑपरेशन चलाए जा रहे थे. आज रतनबाग परिसर से उसे दबोच लिया गया.

मंत्री और CCF सब जुटे थे तलाश में
बुरहानपुर से इंदौर जू लाया गया घायल तेंदुआ पिंजरा तोड़कर गायब हो गया था. उसके बाद से जू प्रबंधन और वन विभाग के अधिकारियों की सांसें फूल गई थीं. तेंदुए की तलाश के लिए दो सौ से ज्यादा लोगों की टीम के साथ वन विभाग के मुख्य वन संरक्षक एच एस मोहन्ता भी जुटे हुए थे. वन मंत्री विजय शाह ने भी इंदौर जू पहुंचकर तेंदुए के सर्च ऑपरेशन का जायजा लिया था और अधिकारियों को फटकार लगाई थी.

ये भी पढ़ें- Madhya Pradesh Panchayat Chunav : पहले चरण में इन 85 विकासखण्डों में होगा मतदान, चेक करें अपना क्षेत्र

2 लाख की आबादी के लिए था खतरा
जू के आसपास करीब 2 लाख की आबादी के लिए ये तेंदुआ खतरा बन गया था. लोग बाहर निकलने में डर रहे थे. बच्चों को घर से बाहर नहीं निकलने दे रहे थे. चिड़ियाघर को भी बंद कर दिया गया था. इससे 6 दिन में 6 लाख का नुकसान जू को हुआ. रहस्यमय तरीके से गायब हुए इस तेंदुए को पकड़ने के लिए तरह तरह के जतन किए जा रहे थे. तेंदुए को झाड़ियों में ढूंढने के लिए ढोल भी बजाए जा रहे थे. जू प्रबंधन ने तीन जगह ट्रेप कैमरे लगाए थे. इस पर कंट्रोल रूम से निगरानी की जा रही थी.

डॉगी ने खोजा
तेंदुए की तलाश के लिए खंडवा से एक्सपर्ट डॉग को बुलवाया गया था. ये डॉग सर्च में माहिर था. डॉग नाले के किनारे और मैदान में आकर बार-बार रुक रहा था इसलिए यहां पर लगातार सर्चिंग की जा रही थी. ढोल बजाए जा रहे थे. आज सुबह वन विभाग के ऑफिस नवरतन बाग में तेंदुआ होने की सूचना मिली. वन विभाग की महिला कर्मचारियों ने सबसे पहले इस तेंदुए को देखा. शोर सुनकर तेंदुआ दीवाल फांदकर भाग गया. वन विभाग और जू प्रबंधन की टीम ने उसे रेस्ट हाउस परिसर से ढूंढ निकाला.

8 महीने की है मादा तेंदुआ
ये मांदा तेंदुआ 8 माह की है. फिलहाल इंदौर जू में डॉक्टरों की निगरानी में इसका इलाज शुरू कर दिया गया है. तेंदुआ मिलने की खबर के बाद इंदौर कमिश्नर पवन शर्मा इंदौर जू पहुंचे और उन्होंने रेस्क्यू टीम को बधाई दी. इंदौर जू के अस्पताल में फिलहाल इस तेंदुए को रखा गया है.

Tags: Indore news. MP news, Indore Zoological Museum, Leopard, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर