Assembly Banner 2021

इंदौर में एक तरफ कोरोना का कहर, दूसरी तरफ BJP ने ही उड़ाई गाइडलाइन की धज्जियां

BJP के कार्यकर्ता सम्मेलन में ये थी कोरोना गाइड लाइन की स्थिति.

BJP के कार्यकर्ता सम्मेलन में ये थी कोरोना गाइड लाइन की स्थिति.

कोरोना वायरस के चलते इंदौर की स्थिति लगातार बिगड़ती चली जा रही है. प्रशासन जितनी सावधानी की अपील कर रहा है, लोग उतनी ही असवाधानी दिखा रहे हैं. BJP ने खुद अपने कार्यकर्ता सम्मेलन में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया.

  • Last Updated: March 7, 2021, 4:43 PM IST
  • Share this:
इंदौर. एक तरफ कोरोना वायरस इंदौर को अपनी गिरफ्त में ले रहा है. यहां लगातार पांचवें दिन 24 घंटों के अंदर डेढ़ सौ से ज्यादा संक्रमित मरीज मिले हैं. वहीं, BJP ही इसकी गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रही है. उसके रविवार को आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में किसी भी तरह की सावधानी नहीं बरती गई. इस स्थिति को देखते हुए प्रशासन आज रात नाइट कर्फ्यू पर फैसला ले सकता है.

स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 24 घंटों में 2657 संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच की. इसमें से 161 नए पॉजिटिव मरीज मिले. इस तरह कुल मरीजों की संख्या 60 हजार 720 पहुंच गई है. वहीं, एक ही दिन में कोरोना से दो मरीजों की मौत भी हो गई. इसके बाद मृतकों का आंकड़ा 935  पर पहुंच गया है. शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. यहां फिलहाल 1395 मरीजों का इलाज चल रहा है.

ट्रेवल हिस्ट्री खंगाल रही सरकार



उधर नए स्ट्रेन के 6 मरीज मिलने के बाद सरकार के कान खड़े हो गए है. प्रशासन अब संक्रमित मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री पता लगाने में जुट गई है. केंद्र से इंदौर के 11 लोगों की सूची भेजी गई है. इन लोगों ने पिछले 20 दिनों में संक्रमितों के साथ यात्रा की है. इनमें से पांच लोग इंदौर में ही मिले हैं, जबकि बाकी 6 लोग धार, खरगोन और दूसरे शहरों के हैं. इनके सैंपल भी जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच के लिए भेजे गए हैं.
दुबई से आई महिला की हालत खराब

हाल ही में अरबिंदो अस्पताल में दुबई से आई एक महिला को भर्ती किया गया, जो यात्रा के दौरान तो निगेटिव थी. लेकिन जब इंदौर आई तो संक्रमित पाई गई. मात्र 5 दिन में ही उसके फेफड़े 90 प्रतिशत संक्रमित पाए गए. अरबिंदो अस्पताल के डॉ. रवि डोसी के मुताबिक महिला गर्भवती थी और उसकी डिलेवरी इंदौर में हुई. नवजात को वेंटीलेटर पर रखा गया है. MGM मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. धर्मेंद्र झंवर के अनुसार पिछले 10 से 15 दिनों में मध्यम, तीव्र और अति तीव्र तीनों श्रेणियों के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली है. डायबिटीज, मोटापा, ब्लड प्रेशर और दूसरी बीमारियों से प्रभावित लोगों में तीव्र और अति तीव्र वाले प्रकरण देखने को मिल रहे हैं. जिन लोगों को इस तरह की बीमारियां नहीं हैं, वे ए-सिम्प्टोमैटिक हैं. उन्हें निमोनिया नहीं हो रहा है और उनमें सामान्य सर्दी, जुकाम, बुखार और बदन दर्द के लक्षण मिल रहे हैं.

रूलिंग पार्टी के सम्मेलन में ही उड़ी नियमों की धज्जियां

इंदौर में आसपास के जिले धार, बड़वानी, खरगोन, मंदसौर, नीमच, रतलाम और उज्जैन से भी मरीज आ रहे हैं. उधर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन अलर्ट पर है. कलेक्टर मनीष सिंह ने सभी बड़े आयोजन की अनुमति निरस्त कर दी है. बावजूद इसके निगम चुनाव के लिए भाजपा का कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ, जिसमें भारी भीड़ जुटी और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गईं. ज्यादातर लोग बिना मास्क के दिखाई दिए. ऐसे में कोरोना के संक्रमण का खतरा बढ़ना स्वाभाविक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज