Assembly Banner 2021

क्लीन इंदौर-ग्रीन इंदौर: IIT और नगर निगम ने मिलाया हाथ, सुधारंगे हवा और ट्रैफिक

IIT इंदौर और नगर निगम ने शहर के विकास के लिए हाथ मिलाया है.. (सांकेतिक तस्वीर)

IIT इंदौर और नगर निगम ने शहर के विकास के लिए हाथ मिलाया है.. (सांकेतिक तस्वीर)

IIT इंदौर और नगर निगम ने एमओयू साइन किया है. इसके तहत शहर का चहुंओर विकास किया जाएगा. इंदौर स्वच्छता में पूरे देश में नंबर 1 है. इस बार वो 5वीं बार ये उपलब्दि हासिल कर सकता है. इसके लिए प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता.

  • Last Updated: March 7, 2021, 8:03 AM IST
  • Share this:
इंदौर. शहर के संपूर्ण विकास के लिए IIT इंदौर और नगर निगम (IMC) ने हाथ मिलाया है. दोनों के बीच आगामी 5 साल के लिए एक समझौता हुआ है. इसका मकसद इंदौर नगर निगम की क्षमता बढ़ाने, मौजूदा तकनीक में रिसर्च और स्टडी में सहायता प्रदान करना है. दोनों संस्थाएं वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने और इंदौर शहर के एयर क्वालिटी इंडेक्स को बढ़ाने के लिए नई तकनीक और नए विचारों के साथ मिलकर काम करेंगी.

जानकारी के मुताबिक, शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स खराब होता जा रहा है. यानी कि प्रदूषण बढ़ रहा है. इस बढ़ते प्रदूषण को कम करने और एयर क्वालिटी इंडेक्स को बढ़ाने के लिए नगर निगम औऱ IIT मिलकर काम करेंगे. दोनों संस्थान ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ और ‘स्वच्छ भारत अभियान’ पर एक साथ काम करेंगे.

आसपास के गांवों के विकास पर भी होगा काम 
IIT इंदौर के ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ अभियान के संयोजक डॉ.नीरज कुमार शुक्ला के मुताबिक IIT इंदौर और IMC शहर के विकास के लिए सामाजिक परियोजनाओं पर एक साथ काम करने पर सहमत हुए हैं. हमारी टीम इंदौर शहर और आसपास के गांवों के विकास के लिए भी काम करेगी. साथ ही इंदौर के ट्रैफिक विकास पर भी काम होगा.
IIT का सहयोग कारगर साबित होगा- शुक्ला



डॉ.नीरज कुमार शुक्ला ने बताया कि इंदौर स्वच्छता में पंच लगाने की तैयारी कर रहा है. ऐसे में IIT का सहयोग नगर निगम के लिए कारगर साबित होगा. इससे न केवल नई तकनीकि का फायदा होगा बल्कि स्किल्ड मेन पावर के जरिए विकास की नई संभावनाओं पर भी काम होगा. इससे इंदौर को एक नई पहचान मिलेगी. इस समझौते में शहर के साथ-साथ आसपास के गांवों के विकास की बात भी शामिल है. यानि इंदौर का अब चौतरफा विकास होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज