इंदौर में लॉकडाउन: शहर के दिल राजबाड़ा में पसरा रहा सन्नाटा, चारों ओर छाया वीराना

इंदौर में लॉकडाउन के दौरान चारों ओर वीराना दिखाई दिया.

इंदौर में लॉकडाउन के दौरान चारों ओर वीराना दिखाई दिया.

इंदौर में लॉकडाउन: शहर का राजबाड़ा. लॉकडाउन के दौरान पूरा वीरान पड़ा रहा. करीब-करीब पूरा शहर ही लॉकडाउन की वजह से बंद था. पुलिस शहर के हर चौराहे पर मौजूद थी. आने-जाने वालों से कड़ी पूछताछ भी की जा रही थी.

  • Last Updated: March 22, 2021, 8:14 AM IST
  • Share this:
इंदौर. इंदौर में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को काबू करने के लिए रविवार को लॉकडाउन लगाया गया. इस दौरान  इंदौर के दिल राजबाड़ा में सन्नाटा पसरा रहा. बाजार की सभी दुकानों पर ताले थे, महज इक्का दुक्का वाहन ही दिखाई दे रहे थे. यहां भारी पुलिस बल तैनात था जो निकलने वालों  पूछताछ करता नजर आया.

मार्च 2020 के बाद मार्च 2021 में भी लॉकडाउन ने हर इंदौरी को टेंशन में ला दिया. रविवार सुबह दूध वाले की आवाज तो आई, लेकिन सब्जी के ठेले गायब दिखे. सुबह चाय-नाश्ते के स्टॉल भी नहीं लगे. हालांकि सड़कों पर आवाजाही बनी रही. पुलिस के अनाउंस के बाद भी लोगों ने सड़कों पर बेवजह की आवाजाही बंद नहीं की. सुबह 10 बजे के बाद पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी. रीगल चौराहे पर बेवजह घूमने वालों को डंडे से भी मार कर भगाया.

सारे बाजार बंद, पुलिस हर जगह मौजूद रही

इंदौर के पश्चिम क्षेत्र में पूरी तरह से लाकडाउन रहा. राजबाडा़ के आसपास के सराफा, पीपली बाजार, बर्तन बाजार, शक्कर बाजार, बजाज खाना चौक, गोराकुंड, खजूरी बाजार, मरोठिया बाजार, इमली बाजार पूरी तरह बंद रहे. वहीं जवाहर मार्ग जैसे क्षेत्रों में चौराहों पर पुलिसकर्मी तैनात तो थे लेकिन उन्हें लोगों को सड़क से हटाने के लिए मशक्कत नहीं करनी पड़ रही थी.
शहर से आने-जाने वालों को नहीं हुई परेशानी

सिटी बसों और ऑटो के जरिए आवाजाही चालू थी, लेकिन आम दिनों के मुकाबले इनकी संख्या बहुत कम थी. कुछ जगहों पर पुलिस ने बेवजह बाहर निकले लोगों को रोककर पूछताछ भी की. मेडिकल स्टोर दिनभर खुले रहे. सिटी बसें और आटो से आने-जाने की सुविधा होने की वजह से दूसरे शहरों से आने वालों को परेशानी नहीं हुई. निजी वाहन से यहां-वहां घूमने वालों पर जरूर सख्ती करनी पड़ी. लाकडाउन के चलते पेट्रोल पंप और किराना दुकानें भी बंद रहीं.

घूमती रहीं नगर-निगम की गाड़ियां



पलासिया थाने के पास पुलिसकर्मी बेरिकेड लगाकर आने-जाने वाले लोगों को रोक रहे थे और उनसे सवाल जवाब कर रहे थे. दिन-रात वाहनों और लोगों की चिल्ल पौं से आबाद रहने वाला पलासिया चौराहा भी वीरान था. एमजी रोड तरफ पुलिसकर्मियों ने बेरिकेडिंग कर रखी थी और वहां भी लोगों से पूछताछ का सिलसिला जारी था. एबी रोड पर ऑटो रिक्शा दिखाई दीं, जिनमें यात्री बैठे थे. तकरीबन हर प्रमुख सड़क पर सफाईकर्मी सफाई करते हुए दिखे और नगर निगम की गाड़ियां घूमती दिखी.

शहर के 200 पेट्रोल पंप रहे बंद, सारी मंडियां बंद

इंदौर में लॉकडाउन का सख्ती पालन कराया गया. यही वजह रही कि इस दौरान पेट्रोल पंप भी बंद रहे. शहर के करीब 200 पेट्रोल पंपों का बंद कर दिया गया, जिससे लोगों को पेट्रोल डीजल न मिल सके और वे घरों से न निकल सकें. इंदौर में लॉकडाउन के दौरान फल, सब्जी और अनाज मंडिया बंद रहीं.

शहर की चोइथराम फल सब्जी मंडी, राजकुमार फल मंडी, लक्ष्मीबाई अनाज मंडी और छावनी अनाज मंडी भी बंद रहीं. यहां आज किसानों से कोई उपज नहीं खरीदी गई हालांकि किसान भी आज मंडियों में नहीं पहुंचे.

भगवान से भक्त रहे दूर

लॉकडाउन के दौरान इंदौर शहर के मंदिर भी आम श्रद्धालुओं के लिए बंद रहे सिर्फ पुजारियों ने भगवान की पूजा अर्चना की. खजराना गणेश मंदिर, बड़ा गणपति मंदिर, रणजीत हनुमान मंदिर, विद्याधाम मंदिर, अन्नपूर्णा मंदिर, बालाजी हनुमान मंदिर में भक्त नदारत रहे. पुजारियों ने मंदिर में पूजा पाठ कर पट बंद कर दिए, ताकि जिससे लोग अनावश्यक भीड़ न लगा सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज