अपना शहर चुनें

States

Kisan Aandolan: एक तरफ BJP राम मंदिर के लिए चंदा उगा रही है, दूसरी तरफ पेट्रोल के दाम बढ़ा रही है- कमलनाथ

(प्रतीकात्मक तस्वीर)
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Kisan Aandolan: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में मध्य प्रदेश कांग्रेस आज बड़ी रैली का आयोजन कर रही है. इसमें में मालवा निमाड़ के सभी कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ता शामिल होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 3:01 PM IST
  • Share this:
इंदौर. केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में देपालपुर में कांग्रेस की  ट्रैक्टर रैली शुरू हो गई है. रैली का नेतृत्व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) कर रहे हैं.  उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के कृषि कानून काले कानून हैं. कृषि कानून से बड़े-बड़े उद्योगपतियों को मंडी का दर्जा मिल जाएगा. मंडियों का निजीकरण हो जाएगा. किसान बड़े-बड़े उद्योगपतियों का गुलाम बन जाएगा. मैं मोदीजी से पूछना चाहता हूं कि कोई उद्योगपति समाजसेवा के लिए तो नहीं आएगा. इसलिए कृषि के निजीकरण को बंद कीजिए. बता दें, रैली में पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, बाला बच्चन, अरुण यादव समेत मालवा निमाड़ के सभी कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ताओं के साथ-साथ 3000 ट्रैक्टर शामिल हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- बीजेपी वाले राष्ट्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं. राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा उगा रहे हैं और पीछे से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रहे हैंं. आप गुमराह और भ्रमित  करने की राजनीति पहचानिए. शिवराज जब तक झूठ न बोलें उनका खाना नहीं पचता. कमलनाथ ने कहा कि 15 हजार घोषणाएं अभी तक पूरी नहीं हुई. इसलिए आप कमलनाथ और विशाल पटेल का साथ मत दीजिए, लेकिन आप लोग सच्चाई का साथ जरूर दीजिए. अभी पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में आप लोग कांग्रेस का सहयोग करें

मेरा क्या दोष था कि मेरी सरकार गिरा दी- कमलनाथ



पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा - किसानों के साथ उनकी सरकार के समय न्याय हुआ था. 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया था. माफिया के खिलाफ अभियान ने मप्र ने एक अलग पहचान बनाई. मैंने कौन सा गुनाह किया कि मेरी सरकार गिरा दी गई. सौदेबाजी से सरकार गिराई गई. मैं भी सौदा कर सकता था लेकिन मैंने कहा कि सरकार जाए तो जाए मैं सौदे बाजी नहीं करूंगा. लेकिन, अब मप्र की पहचान सौदेबाजी की बन गई है.
पुलिस ने भोपाल में किया था वॉटर कैनन का इस्तेमाल

गौरतलब है कि कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में कांग्रेस ने शनिवार को भोपाल में भी बड़ी रैली निकाली थी. इस दौरान पुलिस ने आंदोलन कर रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया था और वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया था. इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, उनके बेटे जयवर्धन समेत 106 नेताओं-कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया. पुलिस पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह, कैलाश मिश्रा, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत कार्यकर्ताओं को सेंट्रल जेल ले गई. टीटीनगर पुलिस ने उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 151 के तहत कार्रवाई की और बाद में जमानत पर छोड़ दिया.

कमलनाथ ने कहा था- केंद्र ने काले कानून बनाए

प्रदर्शन के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था- केंद्र ने किसानों के लिए काले कानून बनाए हैं. मैंने अपने समय में MSP के लिए केंद्र सरकार से लड़ाई लड़ी थी. क्या दिल्ली में बैठे किसानों में बुद्धि नहीं है, कि वे क्या कर रहे हैं? ये कानून अमल में आए तो मंडियों को बड़े-बड़े उद्योगपति अपनी चपेट में ले लेंगे. उन्होंने कहा कि किसान उद्योगपतियों का बंधुआ मजदूर बन जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज