• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • International Tigers Day : इंदौर के जू में हैं ब्लैक, वाइट और यलो टाइगर, आज 'विक्की' को बाड़े में छोड़ा

International Tigers Day : इंदौर के जू में हैं ब्लैक, वाइट और यलो टाइगर, आज 'विक्की' को बाड़े में छोड़ा

इंदौर चिड़ियाघर में ये ब्लैक टाइगर ओडिशा के नंदन कानन से लाया गया है

इंदौर चिड़ियाघर में ये ब्लैक टाइगर ओडिशा के नंदन कानन से लाया गया है

ओडिशा के नंदन कानन जू के बाद अब इंदौर देश का ऐसा दूसरा ज़ू हो गया है जहां तीनों रंग के टाइगर मौजूद हैं. पहले तीनों को अलग अलग पिंजरों में रखा गया था ताकि उनमें संघर्ष न हो. धीरे धीरे उनमें दोस्ती हो और जब उन्हें आउटर एनक्लोजर में एक साथ छोड़ा जाए तो वो एक दूसरे पर हमला ना करें.

  • Share this:

इंदौर. आज इंटरनेशनल टाइगर्स डे (International Tigers Day) पर इंदौर के लोगों को तोहफे में ब्लैक टाइगर मिला. यहां के कमला नेहरू प्राणि संग्रहालय में आज से सैलानी ब्लैक टाइगर (Tiger) भी देख रहे हैं. उसे आज से खुले बाड़े में छोड़ दिया गया. इसी के साथ इंदौर प्रदेश का पहला और देश का दूसरा ऐसा चिड़ियाघर बन गया है जहां यलो, वाइट के बाद अब ब्लैक टाइगर भी है.

इंदौर आने वाले सैलानी अब यहां के चिड़ियाघर में यलो और व्हाइट टाइगर के बाद ब्लैक टाइगर भी देख सकते हैं.  गुरुवार को ब्लैक टाइगर को भी ओपन एनक्लोजर में छोड़ा गया. नया होने के कारण पहले इसे अलग रखा गया था. जब ये टाइगर चिड़ियाघर के बाकी टाइगर से हिल मिल गया तो उसे बाहर निकालकर ओपन एनक्लोजर में छोड़ दिया गया. ब्लैक टाइगर पैंथर की तरह पूरा काला नहीं होता बल्कि उसके शरीर पर पड़ी काली धारियों की गणना के आधार पर उसे ब्लैक और यलो कहा जाता है.

विक्की है इसका नाम
ओडिशा के नंदन कानन जू के बाद अब इंदौर देश का ऐसा दूसरा ज़ू हो गया है जहां तीनों रंग के टाइगर मौजूद हैं. बीते दिनों व्हाइट टाइगर को ओपन एनक्लोजर में छोड़ा गया और आज ब्लैक टाइगर को भी ओपन एनक्लोजर में छोड़ दिया गया. पहले इन्हें क्वारेंटाइन रखा गया था. यलो, व्हाइट और ब्लैक टाइगर को अलग अलग पिंजरों में रखा गया था ताकि तीनों में संघर्ष न हो. धीरे धीरे उनमें दोस्ती हो और जब उन्हें आउटर एनक्लोजर में एक साथ छोड़ा जाए तो वो एक दूसरे पर हमला ना करें. व्हाइट टाइगर के बाद आज निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल की मौजूदगी में ब्लैक टाइगर को ओपन एनक्लोजर में छोड़ा गया. फिलहाल ब्लैक टाइगर को लगभग एक एकड़ के बाड़े में रखा गया है. इसका नाम विक्की है.

नंदन कानन से आए मेहमान
ओडिशा के नंदन कानन जू से 30 अप्रैल को ब्लैक और व्हाइट टाइगर लाए गए हैं. इसके साथ ही इंदौर जू में तीनों कलर के टाइगर हो गए. इनमें संघर्ष की स्थिति ना बने इस पर प्रबंधन पूरी नज़र रखे हुए है. अब नगर निगम तीनों टाइगर की ब्रांडिंग भी करेगा जिससे यहां ज्यादा से ज्यादा सैलानी आएं.

वन्य प्राणि एक्सचेंज प्रोग्राम
इंदौर जू में लगातार एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत नए नए वन्य प्राणियों को लाया जा रहा है. इन टाइगर्स के बाद अब जल्द ही जेब्रा भी देखने को मिलेगा. जू के प्रभारी डॉ. उत्तम यादव के मुताबिक इंदौर जू में वन्य प्राणियों की संख्या में तेजी से इजाफा किया जा रहा है. अन्य चिड़ियाघर के मुकाबले यहां वन्य प्राणियों की ब्रीडिंग तेजी से होती है. इसका फायदा एक्सचेंज प्रोग्राम में होता है. इसलिए हमें नए नए वन्य प्राणी मिल रहे हैं. आने वाले दिनों में जू नए स्वरूप में नजर आएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज