• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • एमपी गजब है: मन मोह लेता है इंदौर का पातालपानी, देखिए झरना, लीजिए ट्रैकिंग और घुड़सवारी का मजा

एमपी गजब है: मन मोह लेता है इंदौर का पातालपानी, देखिए झरना, लीजिए ट्रैकिंग और घुड़सवारी का मजा

मध्य प्रदेश के इंदौर के पास स्थित पातालपानी की बात ही कुछ अलग है. यहां की वादियां मन मोह लेती हैं.

मध्य प्रदेश के इंदौर के पास स्थित पातालपानी की बात ही कुछ अलग है. यहां की वादियां मन मोह लेती हैं.

Indore Patalpani Fall: मप्र के इंदौर शहर से 32 किमी दूर है टूरिस्ट प्लेस पातालपानी. यहां के नजारे मन मोह लेते हैं. वीकेंड पर लोग यहां तरह-तरह की एक्टिवटीज करते हैं. ये जितना खूबसूरत है, उतना ही खतरनाक भी है. यहां कई बार हादसे अचानक हुए हैं.

  • Share this:

इंदौर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) के इंदौर जिले के महू से मात्र 6 किलोमीटर दूर स्थित है टूरिस्ट प्लेस पातालपानी. यहां खूबसूरत झरना मानसून में लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन जाता है. इसके चारों ओर हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है, जो इस जगह को और भी खूबसूरत बना देती है. यहां 300 मीटर की ऊंचाई से पानी झरने के रूप में गिरता है और बारिश के समय इस वॉटरफॉल का नजारा लोगों के लिए कौतूहल का विषय बन जाता है.

गौरतलब है कि इस झरने की गहराई अभी तक नापी नहीं गई है. लेकिन, कहा जाता है कि कुंड का पानी पाताल तक जाता है इसलिए ही इसका नाम पातालपानी रखा गया है. खूबसूरत जगह होने के साथ-साथ इस झरने को सबसे खतरनाक भी माना जाता है. यहां जरा सी लापरवाही से किसी की जान तक जा सकती है. वीकेंड और संडे को हजारों लोग इस झरने की खूबसूरती को निहारने पहुंचते हैं. वे यहां ट्रेकिंग और घुड़सवारी का भी मजा लेते हैं.

हेरिटेज ट्रेन का भी ले सकते हैं आनंद
घने जंगल, राजसी पहाड़ियां,साफ आसमान और हरे-भरे मैदानों से घिरा पातालपानी झरना पूरे बरसात के समय पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बना रहता है. हालांकि अभी कोरोना काल के समय इस झरने की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया था. लेकिन, अब कोरोना का खतरा कम होते ही फिर इसे खोल दिया गया है. इस दर्शनीय स्थल के लिए रेलवे ने हैरिटेज ट्रेन भी चला रखी है. इसमें सवार होकर लोग इस खूबसूरत नजारे का आनंद ले सकते हैं. इंदौर से पातालपानी की दूरी 32 किलोमीटर है, यही वजह है कि इंदौर से भी बड़ी संख्या में लोग हर हफ्ते यहां घूमने और यहां की शुद्ध आवोहवा का लाभ लेने पहुंच जाते हैं.

अचानक हो जाते हैं हादसे
पातालपानी में हादसे भी अचानक होते हैं. प्रशासन ने नसीहत दी है कि खाई में, पहाड़ी पर न जाएं, बावजूद इसके लोग नहीं मानते और अचानक होने वाले हादसों का शिकार हो जाते हैं. ग्रामीण बताते हैं कि कुछ हादसों के बाद प्रशासन हरकत में आया. लोहे की जाली लगवा दी, ताकि लोग पहाड़ी तक न पहुंच सकें, इसके बावजूद लोग अब भी अपनी जान जोखिम में डाल कर खतरे के निशान को लांघकर आगे तक जाते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज