Indore News: दुकानदार से मांग रहे थे 4 हजार रुपए, जानिए कैसे पैसे ऐंठ रहे थे नकली पुलिसवाले

एमपी के इंदौर में दुकानदारों से वसूली करने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

Crime News: मध्य प्रदेश की इंदौर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपी नकली पुलिसकर्मी कर दुकानदार से हजारों रुपए की वसूली कर रहे थे. असली पुलिस को देखकर उनके होश उड़ गए. तीनों ने जुर्म कबूल कर लिया है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में पुलिस ने एक गिरोह के ऐसे 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया है जो खुद को पुलिसकर्मी बताकर लोगों से पैसा ऐंठते थे. एक दुकान मालिक की शिकायत पर ये तीनों पुलिस के हत्थे चढ़ सके. आरोपियों के पास पुलिस के आईडी कार्ड से मिलते-जुलते रंग के कार्ड भी हुए जब्त हैं. आरोपियों ने जुर्म कबूल कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक, नन्हक कुमार की रावजी बाजार स्थित मोती तबेला इलाके में बेग की दूकान हैं. शुक्रवार रात तीन युवक उनकी दुकान पर पहुंचे और स्टाफ को धमकाना शुरू कर दिया. आरोपियों ने कहा इस दुकान में बच्चों से जबरिया काम कराया जा रहा है. इसलिए कानूनी कार्रवाई की जाएगी. आरोपियों ने इस दौरान वर्दी नहीं पहनी हुई थी, इसलिए स्टाफ को आशंका हुई. युवक ने पैसे देने से इनकार कर दिया और नकली पुलिसकर्मियों से आईडी कार्ड मांगा.

इस बात पर दुकनदार को हुई शंका

इसके बाद आरोपियों ने एक कार्ड दिखाया. उस पर मानवाधिकार, एंटी करप्शन एवं मीडिया इन्वेस्टिगेशन लिखा था. आरोपियों ने थोड़ी देर बाद दुकानदार से कहा कि वह चार हजार रुपए दे दे और मामले को रफादफा कर दे. अगर ऐसा नहीं होता तो बच्चे और दुकानदार को जेल भेज दिया जाएगा. ये बात सुनकर युवक को जब शंका हुई तो उसने मकान मालिक को बुलाया लिया. हालांकि, इस दौरान दुकान में विवाद भी हुआ.

असली पुलिस को देख नकली पुलिस के उड़े होश

किसी तरह मकान मालिक ने रावजी बाजार पुलिस को फोन कर दिया. सूचना पर पुलिस भी वहां पहुंच गई और असली पुलिस को देख नकली पुलिस के होश उड़ गए. आरोपियों ने भागने की कोशिश की, लेकिन पकड़े गए. थाने में उनसे सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने जुर्म कबूल कर लिया. रावजी बाजार थाना पुलिस ने फरियादी दुकानदार की शिकायत पर तीन आरोपियों महेश, जितेंद्र,और शक्ति के विरुद्ध केस दर्ज उन्हें गिरफ्तार कर लिया. उनसे पूछताछ की जा रही है.

और जानकारी उगलवा रही पुलिस

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास के मुताबिक़ रावजी बाजार थाना पुलिस को शिकायरत मिली थी कि इलाके में एक दुकानदार से कुछ युवक जबरिया पैसा वसूली का प्रयास कर रहे हैं. वे खुद को पुलिसकर्मी बताकर दुकानदार से चार हजार रुपयों की मांग कर रहे हैं. इस सूचना पर पुलिस ने तस्दीक की तो आरोपी खुद को मीडिया, तो कभी मानवाधिकार से संबंधित होना बताने लगे.

हालांकि, जब उनसे कार्ड मांगा तो अलग-अलग संस्थाओं के कार्ड दिखाने लगे, जिनका वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं था. अरोपियों  के विरुद्ध गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है कि आखिर आरोपी इससे पूर्व और कहां-कहां इस तरह की ठगी की वारदात को अंजाम दे चुके हैं. यदि कोई अन्य फरियादी आता है तो उन्हें भी इसमें शामिल किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.