• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • OBC आरक्षण के कारण अटका MP PSC का रिजल्ट, 3.5 लाख से ज्यादा युवाओं का भविष्य अधर में

OBC आरक्षण के कारण अटका MP PSC का रिजल्ट, 3.5 लाख से ज्यादा युवाओं का भविष्य अधर में

MP-PSC मेन और प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट तैयार है, बस घोषणा होना बाकी है.

MP-PSC मेन और प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट तैयार है, बस घोषणा होना बाकी है.

MP-PSC ने सालभर की परीक्षाओं का कैलेंडर जारी कर दिया है. जिसके मुताबिक अगस्त में रिजल्ट घोषित हो जाना चाहिए था, क्योंकि सितंबर में राज्यसेवा परीक्षा 2021 की घोषणा होना है.

  • Share this:

इंदौर. 27 फीसदी OBC आरक्षण के मसले ने प्रदेश के 3.5 लाख से ज्यादा युवाओं का भविष्य अधर में लटका दिया है. बढ़े हुए ओबीसी आरक्षण पर सरकार से गाइड लाइन नहीं मिलने के कारण मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग MP-PSCअपनी परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित नहीं कर रहा है.

कोविड काल में जान जोखिम में डालकर एमपी पीएससी की परीक्षा देने वाले लाखों छात्रों का सरकारी नौकरी का सपना लंबा होता जा रहा है. मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग को सरकार से गाइड लाइंस न मिल पाने की वजह से MP-PSC मेन और प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट रूका हुआ है. पीएससी ने परिणाम तैयार भी कर लिया है, लेकिन भोपाल से हरी झंडी नहीं मिल पा रही है.
MP-PSC की मुख्य परीक्षा 2019 हुए छह महिने हो चुके हैं. राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 भी जुलाई में हो चुकी है, लेकिन दोनों परीक्षाओं में शामिल हुए प्रतियोगियों का इंतजार खत्म ही नहीं हो रहा है. MP-PSC मेन और प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट तैयार करके बैठा है लेकिन वो घोषित नहीं कर पा रहा है. उसे ओबीसी आरक्षण पर सरकार की गाइड लाइन्स का इंतजार है. इसलिए इन परीक्षाओं में शामिल हुए 3 लाख 64 हजार उम्मीदवारों को नौकरी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भीड़ के बीच अपना मास्क उतारकर अनूप मिश्रा को पहनाया, Video Viral

देर हुई तो रेस से बाहर होने का डर

इन दोनों परीक्षाओं में शामिल हजारों ऐसे उम्मीदवार भी हैं, जिन्हें डर है कि रिजल्ट घोषित करने में देरी हुई तो वे आयु सीमा के पैमाने पर प्रतिस्पर्धा से बाहर हो जाएंगे. कोविड के कारण MP-PSC 2019 की मुख्य परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को पहले ही लंबा इंतजार करना पड़ा था. कई बार आगे बढ़ने के बाद जैसे-तैसे कोरोना की दूसरी लहर के बीच परीक्षा संपन्न हुई. उम्मीदवारों ने महामारी का सामना करते हुए परीक्षा भी दे दी. लेकिन अब रिजल्ट घोषित नहीं हो रहा है. जिससे छात्र परेशान हैं और वे जल्द रिजल्ट घोषित करने की मांग कर रहे हैं.

सरकार के आदेश का इंतजार

MP-PSC मेन और प्रारंभिक के PRO डॉ.आर.पंचभाई का कहना है राज्य सेवा मुख्य परीक्षा का मूल्यांकन का काम पूरा हो चुका है. हम रिज़ल्ट बहुत जल्द घोषित कर सकते हैं. अभी ओबीसी आरक्षण के लिए प्रकरण लंबित है. उस बारे में राज्य शासन से पत्र व्यवहार चल रहा है. वहां से जैसे ही मंजूरी मिलेगी उसके बाद परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा. सरकार के पत्र का इंतजार किया जा रहा है.

बैकफुट पर सरकार

MP-PSC मेन और प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट घोषित न हो पाने बीजेपी जहां बैकफुट पर है और कांग्रेस इसे मुद्दा बना रही है. बीजेपी सांसद शंकर लालवानी का कहना है वे सरकार से चर्चा कर जल्द हल निकालेंगे. कांग्रेस विधायक विशाल पटेल का कहना है सरकार की लापरवाही की वजह से बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है. सरकार ने सही पैरवी नहीं की इसलिए ये मामला इतना बढ़ गया. यदि वो चाहे तो अभी भी कोर्ट की अनुमति से रिजल्ट घोषित करवा सकती है.

परीक्षाओं का कैलेंडर जारी
MP-PSC ने सालभर की परीक्षाओं का कैलेंडर जारी कर दिया है. जिसके मुताबिक अगस्त में रिजल्ट घोषित हो जाना चाहिए था, क्योंकि सितंबर में राज्यसेवा परीक्षा 2021 की घोषणा होना है. लेकिन अब लग रहा है कि रिजल्ट के चक्कर में आगे का शेड्यूल भी प्रभावित होगा,जो छात्रों की परेशानी बढ़ाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज