इंदौर के मंदिरों में 6 महीने बाद बजेंगी घंटियां, मस्जिदों में गूंजेगी अजान, चाट चौपाटी भी खुलेगी

कोरोना के कारण धर्म स्थल 6 महीने से बंद थे
कोरोना के कारण धर्म स्थल 6 महीने से बंद थे

कोरोना वायरस (COVID-19) का संक्रमण रोकने के लिए कई गाइडलाइंस के साथ इंदौर (Indore) जिला प्रशासन ने धार्मिक स्थलों के साथ-साथ सर्राफा बाजार में रात में चलने वाली चाट-चौपाटी भी खोलने की अनुमति दे दी है. चौपाटी पर खड़े होकर खाने की मनाही होगी.

  • Share this:
इंदौर. कोरोना वायरस महामारी (COVID-19 Pandemic) की रोकथाम के लिए मध्य प्रदेश में बंद किए गए धार्मिक स्थल मंगलवार से खुल जाएंगे. इंदौर (Indore) में कल 29 सितंबर से मंदिरों (Temple) में घंटे और मस्जिदों में अजान सुनायी पड़ने लगेगी. गुरुद्वारे में अरदास और गिरिजाघरों में प्रेयर होने लगेगी. 6 महीने बाद ज़िले में सभी धार्मिक स्थल कल 29 सितंबर से खुलने जा रहे हैं. कलेक्टर ने आदेश जारी कर दिया है. इसी के साथ कल से सर्राफा की चाट चौपाटी भी कल से खुल जाएगी हालांकि यहां खड़े होकर खाने या रुकने पर पाबंदी रहेगी.

जिला प्रशासन ने 6 महिने के अंतराल के बाद आज इंदौर में सभी धर्म स्थल खोलने की अनुमति दे दी. इस आदेश के साथ एक गाइडलाइन भी जारी की गई है, जिसमें यह सख्त निर्देश है कि हर धर्म स्थल पर सैनेटाइजर रखना होगा. इसके साथ ही श्रद्धालुओं के लिए हाथ धोने की व्यवस्था भी रखना होगी. बड़े धर्म स्थलों पर गर्भ गृह में प्रवेश वर्जित रहेगा. इस मामले में कलेक्टर मनीष सिंह ने सुबह ही यह संकेत दे दिए थे कि आज या कल में धर्म स्थलों पर निर्णय ले लिया जाएगा. देर शाम को इस बारे में आदेश जारी कर दिया गया.

6 महीने से बंद थे धर्मस्थल
कोरोना संक्रमण के कारण मार्च महीने के अंत में शहर के सभी धर्म स्थल बन्द कर दिए गए थे.अनलॉक के बाद श्रद्धालु धर्म स्थल खोलने की लगातार मांग कर रहे थे. पुरुषोत्तम मास में होने वाले आयोजन को लेकर धर्मस्थलों के खुलने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. आज जैसे ही धार्मिक स्थल खोलने के आदेश हुए धर्म प्रेमी जनता खुश हो गयी.
कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा


कोरोना के संक्रमण के कारण धार्मिक स्थलों को खोलने से पहले विशेष निर्देश दिए गए हैं इसके लिए आवश्यक सुरक्षा उपाय करना होगा.जैसे धर्मस्थल पर आने वाले लोगों के लिए सोशल डिस्टेंस,मास्क और सैनिटाइजर रखना होगा. धर्म स्थल प्रबंधन को श्रद्धालुओं को हाथ धोने के लिए साबुन और पानी का इंतज़ाम करना होगा. मंदिर के गर्भ गृह में प्रवेश निषेध रहेगा. मंदिरों का अन्य क्षेत्र भी खोला जाएगा लेकिन इसमें श्रद्धालु 6 फीट की दूरी पर बैठकर ही भजन कर सकेंगे.

सर्राफा की चाट चौपाटी भी खुलेगी
धार्मिक स्थलों के साथ ही इंदौर जिला प्रशासन ने सराफा बाजार में रात में चलने वाली चाट चौपाटी भी खोलने की अनुमति दे दी है. लेकिन इसमें टेक अवे की सुविधा रहेगी.खड़े होकर खाने पर मनाही रहेगी. इंदौर की सराफा चौपाटी अपने ज़ायके के लिए देश विदेश में प्रसिद्ध है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज