इंदौर स्टेशन पर खुला IRCTC का स्टॉल, 50 में चादर तो 250 रुपए में खरीदिए डिस्पोजेबल बेडरोल

Disposable Bedroll Stall at Indore: रेल यात्रियों (Passengers) की सुविधा के लिए IRCTC ने इंदौर स्टेशन पर डिस्पोजेबल बेडरोल का स्टॉल शुरू किया. कम कीमत वाले बेडरोल से एसी बोगी में सफर करने वालों को होगी आसानी. रेलवे कर्मचारियों को 10 फीसदी की छूट.

Disposable Bedroll Stall at Indore: रेल यात्रियों (Passengers) की सुविधा के लिए IRCTC ने इंदौर स्टेशन पर डिस्पोजेबल बेडरोल का स्टॉल शुरू किया. कम कीमत वाले बेडरोल से एसी बोगी में सफर करने वालों को होगी आसानी. रेलवे कर्मचारियों को 10 फीसदी की छूट.

  • Share this:
इंदौर. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) और लॉकडाउन के कारण ट्रेनों में बेडरोल देने का चलन बंद है. वहीं, लॉकडाउन के दौरान ट्रेनें बंद रहने से रेलवे को काफी नुकसान भी उठाना पड़ा है. ऐसे में जबकि ट्रेनों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बेडरोल सुविधा बंद कर दी गई है, रेलवे की तरफ से IRCTC ने स्टेशनों पर बेडरोल बेचना शुरू कर दिया. रतलाम मंडल के इंदौर रेलवे स्टेशन पर IRCTC ने इसी कारण बेडरोल स्टॉल खोला है, जहां डिस्पोजेबल चादर-तकिया और कंबल मिलते हैं. IRCTC के इस स्टॉल से एसी बोगी में सफर करने वाले यात्रियों को सुविधा हो रही है. जो लोग घर से कंबल-चादर नहीं ला पाते हैं, वे इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

कोरोना संक्रमण और बढ़ती ठंड को देखते हुए रेलवे ने यात्रियों के लिए यह व्यवस्था की है. अब आपको सफर के लिए घर से चादर-कंबल ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इंदौर स्टेशन पर खुले स्टॉल पर यात्रियों के लिए डिस्पोजल चादर-कंबल, तकिया-मास्क और सैनेटाइजर उपलब्ध है. यात्रियों से इसके लिए शुल्क अदा करना पड़ेगा. खास बात यह है कि सफर के बाद अगर आप ये कंबल-चादर या अन्य सामान को डिस्पोज कर सकते हैं या अपने साथ भी ले जा सकते हैं.



50 रुपए में चादर और 250 में बेडरोल
इंदौर स्टेशन से अभी कुछ ही ट्रेन शुरू की गयी हैं. धीरे-धीरे ट्रेनों की संख्या बढ़ायी जाएगी. यहां पर खुले स्टॉल पर यात्रियों को 50 रुपए में चादर और 250 रुपए में पूरा बेडरोल यानी चादर-कंबल और तकिया दिया जाएगा. रेलवे कर्मचारियों को इसमें 10 फीसदी की छूट मिलेगी. रेलवे का कहना है रतलाम मंडल के सभी स्टेशनों पर जल्द ही ऐसे काउंटर खोले जाएंगे.
पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी जितेंद्र कुमार जयंत ने कहा कि कोविड-19 का दौर न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया के लिए चुनौती बना हुआ है. यही चुनौती भारतीय रेलवे के सामने भी है. इसीलिए रेलवे ने धीरे-धीरे स्पेशल ट्रेनें चलानी शुरू की हैं. लेकिन अभी-भी एसी में सफर करने वाले यात्रियों को कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण बेड रोल उपलब्ध नहीं करवाए जा रहे हैं.


जबकि धीरे-धीरे ठंड भी बढ़ने लगी है. ऐसे में यात्री लगातार शिकायत कर रहे थे कि उन्हें अपने साथ में चादर और कंबल लाना पड़ता है. अन्य सामान के साथ यात्रियों को इन्हें लेकर चलने में परेशानी होती है. इसीलिए यात्रियों की सुविधा को देखते हुए रेलवे ने निर्णय लिया कि उन्हें कम कीमत पर ये सामान उपलब्ध करवाया जाए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.