अपना शहर चुनें

States

INDORE : बच्चा चोरी के आरोप में जेल में बंद डॉक्टर की इलाज के दौरान मौत

विचाराधीन कैदी किडनी की बीमारी से पीड़ित था.
विचाराधीन कैदी किडनी की बीमारी से पीड़ित था.

Indore : कुछ समय पहले इंदौर की क्राइम ब्रांच पुलिस ने बच्चा चोर गिरोह का खुलासा किया था.जिस कैदी की मौत हुई वो पेशे से दंत चिकित्सक था और कुछ समय पहले तक एक निजी अस्पताल में नाइट शिफ्ट में ड्यूटी भी करता था.

  • Share this:
इंदौर.बच्चा चोरी मामले में इंदौर जेल (Indore jail) में बंद विचाराधीन कैदी पवन नारायणे की मौत हो गई.वो किडनी की गंभीर बीमारी से जूझ रहा था.इसी वजह से उसे कुछ समय पूर्व एमवाय अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती किया गया था.वहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

कुछ माह पूर्व इंदौर की क्राइम ब्रांच पुलिस ने एक बच्चा चोर गिरोह का खुलासा किया था.क्राइम ब्रांच ने एक एनजीओ की सूचना पर गिरोह के विभिन्न सदस्यों को उस वक़्त हिरासत में लिया था, जब वो चोरी के एक ऐसे ही बच्चे को बेचने मालवा मिल इलाके में इकट्ठा हुए थे. पुलिस ने उसके पास से एक बच्चा भी बरामद किया था. आरोपियों की गिरफ्तारी और उनसे विस्तृत पूछताछ के बाद पुलिस ने अन्य बच्चों को बरामद किया.साथ ही पवन नारायणे को भी गिरफ्तार किया था. पवन पर आरोप था कि वह भी बच्चा चोर  गिरोह का सदस्य है.

पेशे से डॉक्टर था पवन
पवन पेशे से दंत चिकित्सक था और कुछ समय पहले तक एक निजी अस्पताल में नाइट शिफ्ट में ड्यूटी भी करता था.गिरोह के विभिन्न सदस्यों के बयानों के आधार पर ही पवन को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. वो जिला जेल में बंद था.गिरफ्तारी के पहले से ही वो किडनी की बीमारी से ग्रस्त था.उसका इलाज चल रहा था. जिला जेल में पवन की हालत और बिगड़ गई. इसी वजह से जेल प्रबंधन ने बेहतर स्वास्थ्य लाभ के लिए एमवाय अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती करा दिया. पवन का सप्ताह में दो बार डायलिसिस भी किया जाता था.



मजिस्ट्रियल जांच के आदेश
पवन की मौत की जानकारी जैसे ही उसके परिवार को दी गयी.उनके परिवार के सदस्य  एमवाय अस्पताल पहुंच गए.कोई विवाद की स्थिति पैदा न हो, इस लिहाज से सतर्कता बरतते हुए पुलिस बल तैनात किया गया था. पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिवार के सुपुर्द कर दिया गया. साथ ही मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश होने की भी बात सामने आ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज