CAA विरोधी प्रोटेस्ट: मुस्लिम महिलाओं का अलग-अलग मुद्दों पर मुखर होना ‘अच्छी बात’: सुमित्रा महाजन
Indore News in Hindi

CAA विरोधी प्रोटेस्ट: मुस्लिम महिलाओं का अलग-अलग मुद्दों पर मुखर होना ‘अच्छी बात’: सुमित्रा महाजन
सुमित्रा महाजन ने इंदौर में कहा कि मुझे एक बात बहुत अच्छी लगी कि मुस्लिम महिलाएं धरना-प्रदर्शनों में बड़ी तादाद में शामिल हो रही हैं, चाहे वह दिल्ली हो या इंदौर. (फाइल फोटो)

संशोधित नागरिकता कानून (Amended Citizenship Act) के खिलाफ प्रदर्शनों में मुस्लिम महिलाओं (Muslim Women) की भागीदारी पर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने सोमवार को कहा कि अलग-अलग मुद्दों पर आधी आबादी का मुखर होना उन्हें हमेशा अच्छा लगता है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 18, 2020, 10:30 AM IST
  • Share this:
इंदौर (मध्य प्रदेश). संशोधित नागरिकता कानून (Amended Citizenship Act) के खिलाफ जारी धरना-प्रदर्शनों में मुस्लिम महिलाओं (Muslim Women) की बड़ी भागीदारी की पृष्ठभूमि में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने सोमवार को कहा कि अलग-अलग मुद्दों पर आधी आबादी का मुखर होना उन्हें हमेशा अच्छा लगता है. हालांकि, उन्होंने अपनी बात में यह भी जोड़ा कि उन्हें पता करना पड़ेगा कि मुस्लिम महिलाएं सीएए को लेकर अब तक ‘सही बात’ समझी हैं या नहीं.

महाजन ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे एक बात बहुत अच्छी लगी कि मुस्लिम महिलाएं धरना-प्रदर्शनों में बड़ी तादाद में शामिल हो रही हैं, चाहे वह दिल्ली हो या इंदौर. मुस्लिम महिलाओं के मन में यह जागरूकता और भरोसा पैदा हो गया है कि अगर भविष्य में उनके साथ कोई अन्याय होता है, तो वे भी सड़क पर उतरकर अपनी बात कह सकती हैं.’

'अलग-अलग मुद्दों पर महिलाओं का मुखर होना अच्छा है'
सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘अलग-अलग मुद्दों पर महिलाओं का मुखर होना मुझे हमेशा अच्छा लगता है. वैसे मुझे यह देखना पड़ेगा कि (सीएए को लेकर जारी धरना-प्रदर्शनों में शामिल हो रहीं) मुस्लिम महिलाएं सही बात समझी हैं या नहीं. मगर आज वे घर से निकलकर जिंदाबाद-मुर्दाबाद के नारे तो लगा ही रही हैं. मैं उनके समुदाय के लोगों को धन्यवाद देती हूं, क्योंकि पहले ये महिलाएं इस तरह घर से बाहर निकलती ही नहीं थीं.’



'मुस्लिम महिलाओं को भारत के विकास से जोड़ा जाना चाहिए'


बीजेपी की वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘मैं प्रभु से प्रार्थना करती हूं कि मुस्लिम महिलाओं की भागीदारी से देश के हित में अच्छा नतीजा निकले. मैं सभी राजनेताओं से भी कहूंगी कि महिलाओं में यही जागरूकता कायम रखते हुए उन्हें भारत के विकास से जोड़ा जाना चाहिए, क्योंकि हम सब को एक साथ इसी देश में रहना है.’

प्रदर्शनकारी सीएए समझना चाहते हैं तो मैं चर्चा के लिए तैयार हूं
सीएए के विरोध में मध्य प्रदेश के कई मुस्लिम नेताओं के बीजेपी छोड़ने पर उन्होंने कहा, ‘हो सकता है कि उन्हें (बीजेपी के मुस्लिम नेताओं को) इस विषय में अपने समुदाय के लोगों की कुछ बातें झेलनी पड़ती होंगी. लेकिन मुझे विश्वास है कि वे समझदारी से काम लेंगे और अपने समुदाय के लोगों को धीरे-धीरे समझाने में सफल होंगे कि सीएए के जरिए किसी भी भारतीय नागरिक का कोई भी अधिकार छीना नहीं गया है.’ पूर्व लोकसभा अध्यक्ष ने पेशकश भी की कि अगर सीएए विरोधी प्रदर्शनकारी अच्छे माहौल में खुले दिल से बातचीत कर सीएए की हकीकत समझना चाहते हैं, तो वह उनसे चर्चा के लिए तैयार हैं.

ये भी पढे़ं - 

केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी

UP: CAA विरोधी प्रदर्शनों में 22 लोगों की मौत, 322 अब भी जेल में बंद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading