होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /इंदौर में 10 दिन की बच्ची ने जीती कोरोना की जंग, मां के साथ डिस्चार्ज होकर घर पहुंची

इंदौर में 10 दिन की बच्ची ने जीती कोरोना की जंग, मां के साथ डिस्चार्ज होकर घर पहुंची

इंदौर में कोरोना पॉजिटिव 17 मरीज़ों के साथ न्यू बॉर्न बेबी डिस्चार्ज

इंदौर में कोरोना पॉजिटिव 17 मरीज़ों के साथ न्यू बॉर्न बेबी डिस्चार्ज

इंदौर के क्वारेंटीन सेंटर्स से भी रविवार को 104 लोगों को डिस्चार्ज किया गया. इन सेंटर्स में रह रहे 918 लोगों को सैंपल्स ...अधिक पढ़ें

इंदौर में कोरोना संक्रमम के बीच एक मुस्कान बिखेरती खबर भी सामने आई. रविवार को 17 और मरीज़ों ने कोरोना की जंग जीत ली है. वे स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट गए.इनमें अरविंदो अस्पताल से 13 और एमआरटीबी अस्पताल के 4 मरीज शामिल हैं. सभी की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.अस्पताल से डिस्चार्ज होने वालों में 10 दिन का एक न्यू बोर्न बेबी भी शामिल है. इन्हें मिलाकर इंदौर में अब तक 130 मरीज ठीक हो चुके हैं.

इंदौर में एक तरफ कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है,दूसरी ओर राहत भरी खबर ये है कि लगातार कोरोना संक्रमित मरीज ठीक होकर अपने घर लौट रहे हैं.रविवार को कोरोना से जंग जीतकर 17 मरीज घर भेजे गए. इन मरीजों में 13 मरीज अरविंदो हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए जिसमें एक मरीज के साथ न्यू बॉर्न बेबी भी अपने घर के लिए रवाना हुआ.चार दूसरे मरीज एमआरटीबी हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए, जिनमें दो मरीज किशन गुप्ता और असलम इंदौर के हैं, जबकि दो महिलाएं तब्बसुम और सीमा कसरावद जिला खरगोन की रहने वाली हैं.

10 दिन का बच्चा भी डिस्चार्ज
अरविंदो अस्पताल से डिस्चार्ज होने वालों में एक फरहा खान भी हैं. जब वो संक्रमित हुईं तब वो गर्भवती थीं,इसी दौरान उन्होंने एक बेबी को जन्म दिया.जन्म के बाद से बच्चा 10 दिन से मां के साथ ऑब्जर्वेशन में था.दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद रविवार को दोनों को घर भेजा गया. घर रवाना होने से पहले फरहा ने कहा कि यहां से जा रहे हैं तो जिन मैडम ने हमारा इतना ख्याल रखा,उनकी याद आएगी. मेरा और मेरी बेबी का सभी ने बहुत अच्छे से ख्याल रखा. डॉक्टर आकर रोज बेबी का चेकअप करते थे. मुझसे तबीयत के बारे में पूछते थे. जब बच्चा पेट में था तभी से सब मेरी केयर कर रहे थे. सोनोग्राफी मशीन मेरे बेड तक लाकर यहीं चैकअप होता था. किसी भी प्रकार की तकलीफ हमें यहां नहीं हुई.

सेवा करने वालों की याद आएगी
इंदौर के एमआरटीबी अस्पताल से डिस्चार्ज हुईं खरगोन के कसरावद की रहने वाली तबस्सुम ने कहा वो यहां से घर जाकर 14 दिन नियम का पालन करेगी. तब्बसुम ने कहा- आज बहुत खुश हूं. ठीक होकर यहां से घर जा रही हूं. सीमा ने बताया कि हम अपने परिजन को छोड़ने गए थे इसी दौरान कोरोना संक्रमित हो गई थीं.किशन गुप्ता ने कहा मुझे बुखार आया था इसी बात से अंदाजा लग गया था कि कुछ गड़बड़ है.इसके बाद 5 अप्रैल को एमवाय अस्पताल जांच करवाने पहुंचा. इसके बाद कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई यहां पर सभी ने अपना समझकर हमारी सेवा की.

क्वारंटीन सेंटर के लोग भी होंगे डिस्चार्ज
इंदौर के क्वारेंटीन सेंटर्स से भी रविवार को 104 लोगों को डिस्चार्ज किया गया. इन सेंटर्स में रह रहे 918 लोगों को सैंपल्स की जांच करवाकर उन्हें भी जल्द घर भेजने की तैयारी की जा रही है. कोरोना से इंदौर में अब तक मिले कुल 5594 सैंपल्स में से 1176 लोग संक्रमित पाए गए.उनमें से अब तक 57 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें-

इंदौर में प्लाज्मा थेरेपी शुरू, 2 मुस्लिम डॉक्टरों ने डोनेट किया ब्लड

COVID-19 Update: मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 2090 हुई

Tags: Corona epidemic, Corona patients, Corona warriors, Indore news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें