MP News: ‘नो वैक्सीन-नो एंट्री,’ जानिए इंदौर के लोगों को क्यों उठाना पड़ा ये कदम, किस बात का है डर

इंदौर के लोगों ने कोरोना से सभी को बचाने शानदार पहल की है. लोग बिना वैक्सीन कई जगह प्रवेश नहीं कर पाएंगे.

Indore News: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में लोगों ने बड़ा फैसला किया है. लोगों का कहना है कि शहर में ‘नो वैक्सीन-नो एंट्री.’ इंदौर के लोग अब कोरोना के डेल्टा वर्जन को लेकर टेंशन में हैं.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना से राहत मिलती दिखाई दे रही है. लेकिन, डेल्टा प्लस वायरस की दस्तक ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. यही वजह है कि अब शहर के लोग ज्यादा सतर्क दिखाई दे रहे हैं. शहर के प्रमुख बाजारों और खानपान की जगहों पर ‘नो वैक्सीन-नो एंट्री’ के बोर्ड लगा दिए गए हैं. वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को खास तरीके के बैच भी दे दिए गए है, जिसके लगे होने पर ही उन्हें मार्केट में प्रवेश दिया जा रहा है.

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में अनलॉक के साथ ही अधिकांश गतिविधियां शुरू हो गई हैं. ऐसे में भीड़ को देखते हुए सभी व्यापारिक, धार्मिक, राजनीतिक और सामाजिक संगठनों ने वैक्सीनेशन को लेकर गंभीरता दिखाना शुरू कर दिया है. यही वजह है कि अब लोगों ने इंदौर के प्रमुख बाजारों के साथ ही कई कॉलोनियों में ‘नो वैक्सीन- नो एंट्री’ कैंपेन चला रखा है. बिना वैक्सीन लगवाए कोई भी व्यक्ति इनमें प्रवेश नहीं कर पाएगा. शहर के थोक किराना बाजार सियागंज समेत 56 दुकान बाजार में भी बिना वैक्सीन लगवाने वाले लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित किया जा रहा है. लोगों की सुविधा के लिए बाजारों में ही वैक्सीनेशन सेंटर बना दिए गए हैं, ताकि वैक्सीन से छूटे लोग यहां वैक्सीन लगवा सकें.

स्टाफ कर्मचारियों-गार्डों को लगे स्पेशन बैच

56 दुकान व्यापारी संघ अध्यक्ष गुंजन शर्मा ने कहा कि दुकान-बाजार में व्यापारियों ने अपने स्टाफ का वैक्सीनेशन कराकर एक खास तरह का बैच सभी कर्मचारियों, सफाई कर्मियों और सुरक्षा गार्डों को लगा दिया है. इससे लोगों को पता चल जाता है कि न केवल दुकान पर काम करने वाले कर्मचारी, बल्कि सुरक्षा समेत दूसरे कामों में लगे लोग वैक्सीन लगवा चुके हैं.  उन्हें इनसे कोई खतरा नहीं हैं. इन बैच पर लिखा है- आई एम वैक्सीनेटिड यू शुड बी. वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने के लिए भी ये अहम पहल मानी जा रही है. इसके अलावा अपने सभी कर्मचारियों का टीकाकरण कराने वालीं दुकानों पर सौ फीसदी वैक्सीनेशन के सर्टिफिकेट लगा दिए गए हैं.

सभी बाजारों में हो लागू

अपने स्वाद के लिए देश दुनिया में अलग पहचान बनाने वाले 56 दुकान बाजार की इस पहल का यहां पहुंचने वाले स्वाद के शौकीन लोग भी स्वागत कर रहे हैं. बाजार में सुबह का नाश्ता करने पहुंचे दिलीप गुप्ता कहना है कि नो वैक्सीन नो इंट्री का कंसेप्ट बहुत अच्छा है. ये सारे बाजारों में लागू होना चाहिए, जिससे लोग वैक्सीन के प्रति प्रेरित हों और इंदौर कोरोना मुक्त हो सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.