6 अक्टूबर का दिन और इंदौर का क्रिकेट मैदान, कभी नहीं भूलेगा ये क्रिकेटर

Demo Pic

Demo Pic

8 अक्टूबर को इंदौर का नाम टेस्ट मैचों की मेजबानी करने वाले शहरों की सूची में शुमार हो जाएगा. लेकिन उसके ठीक दो दिन पहले यानी 6 अक्टूबर का दिन भी इंदौर और खासतौर पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर रवि शास्त्री के लिए खास था.

  • Pradesh18
  • Last Updated: October 6, 2016, 11:07 AM IST
  • Share this:

इंदौर को पहली बार टेस्ट मैच की मेजबानी मिली है. आठ अक्टूबर से शुरू हो रहे इस मैच के साथ ही इंदौर का नाम टेस्ट मैचों की मेजबानी करने वाले शहरों की सूची में शुमार हो जाएगा. लेकिन उसके ठीक दो दिन पहले यानी छह अक्टूबर का दिन भी इंदौर और खासतौर पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर रवि शास्त्री के लिए खास है.

दरअसल, 6 अक्टूबर 1984 को ही भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इंदौर के नेहरू स्टेडियम पर वनडे मुकाबला खेला गया था. वह भी सीरीज का अंतिम मुकाबला था. इस मुकाबले में रवि शास्त्री ने शानदार शतक जमाया था. शास्त्री के लिए यह दिन इसलिए खास बन गया क्योंकि फटाफट क्रिकेट में उनके बल्ले से निकला यह पहला शतक था.

शास्त्री के शतक के बाद भी हारा भारत



टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने निर्धारित 44 ओवर में पांच विकेट पर 244 रन बनाए थे. ओपनिंग करने उतरे रवि शास्त्री ने 141 गेंदों पर 11 चौके और एक छक्के की मदद से 102 रन बनाए. शास्त्री के अलावा कप्तान सुनील गावस्कर ने 40 और रॉजर बिन्नी ने 37 रन का योगदान दिया था.
Ravi Shastri 1984जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ और ग्रेग रिची के अर्धशतकीय पारी की बदौलत 23 गेंद शेष रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया.

आंकड़ों में रवि शास्त्री का करियर

भारतीय क्रिकेट के बेहतरीन ऑलराउंडर में शुमार रवि शास्त्री ने 80 टेस्ट मैच में 11 शतक और 12 अर्धशतक की बदौलत 3830 रन बनाए. वहीं, उनके नाम पर 151 विकेट दर्ज हैं. वनडे में इंदौर मैच सहित चार मैचों में शतक जमाने वाले शास्त्री ने 3108 रन बनाए तो गेंदबाजी में भी कमाल का प्रदर्शन करते हुए 129 विकेट लिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज