लाइव टीवी

लंबी चली हड़ताल तो थम सकती है इंदौर की रफ्तार, केवल 3 दिनों का बचा है ईंधन

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 5, 2019, 5:44 PM IST
लंबी चली हड़ताल तो थम सकती है इंदौर की रफ्तार, केवल 3 दिनों का बचा है ईंधन
महंगे डीज़ल से नाराज़ ट्रक आपरेटर हड़ताल पर

प्रदेश (Madhya pradesh) में चल रही ट्रक ऑपरेटर हड़ताल (Truck Operator Strike) को इंदौर (Indore) के डीजल पेट्रोल टैंकर संचालकों (Diesel Petrol Tanker Operators) ने भी समर्थन दिया है. ज़िले में केवल 3 दिनों का पेट्रोल डीज़ल बचा है इसलिए हड़ताल (strike) लंबी चली तो परेशानी हो सकती है

  • Share this:
इंदौर. ट्रक ऑपरेटर्स (Truck Operator) की हड़ताल (Strike) को इंदौर (Indore) के डीजल पेट्रोल टैंकर संचालकों (Diesel Petrol Tanker Operators) ने भी अपना समर्थन दे दिया है. एसोसिएशन का मानना है कि यदि ये हड़ताल 3 दिन से ज्यादा चली तो इंदौर (Indore) में ईंधन की किल्लत हो सकती है. उनके मुताबिक इंदौर में केवल 3 दिनों के लिए डीजल पेट्रोल (Diesel petrol) की व्यवस्था है. एसोसिएशन ने अपनी विभिन्न मागों को लेकर सीएम से भी मुलाकात की थी. सीएम के साथ बैठक विफल होने के बाद उन्होंने ये कदम उठाया है.

अनिश्चितकालीन हड़ताल पर ट्रक ऑपरेटर
शुक्रवार से गुड्स बुकिंग से इंकार करने के बाद शनिवार से ट्रक ऑपरेटर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. सरकार से की गई वार्ता भी विफल रही. इंदौर के करीब 3200 ट्रक ऑपरेटर इस हड़ताल का समर्थन कर रहे हैं. शहर और बाहरी हिस्सों में सभी ने अपने वाहनों को खड़ा कर दिया है. ट्रक ऑपरेटर्स अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बेमियादी हड़ताल कर रहे हैं. इंदौर की 3 अलग-अलग एसोसिएशन हड़ताल के समर्थन में हैं, जिसमे ट्रक ऑपरेटर्स, पार्सल एंड गुड्स, और टैंकर एसोसिएशन हड़ताल पर चले गए हैं.

मांगें-  ट्रक ऑपरेटर्स परिवहन विभाग द्वारा पुरानी एवं नई गाडिय़ों पर की गई आजीवन शुल्क वृद्धि वापस लेने और प्रदेश सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल पर जो 5 प्रतिशत वैट (कर) लगाया है, उसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं. इन्हीं मांगों को लेकर बेमियादी हड़ताल जारी है.

News - इंदौर में केवल 3 दिनों का पेट्रोल और डीजल बचा है
इंदौर में केवल 3 दिनों का पेट्रोल और डीजल बचा है


सीएम से की थी मुलाकात
ट्रक ऑपरेटर्स एसोसिएशन के पीआरओ प्रवीण के मुताबिक़ शहर की तीनों एसोसिएशन की सहमति से प्रदेशव्यापी हड़ताल का समर्थन किया गया है. फिलहाल सभी स्वेच्छा समर्थन जाहिर कर रहे हैं. इससे पहले मंगलवार 1 अक्टूबर को ट्रक एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सीएम कमलनाथ से मुलाकात कर उन्हें अपनी परेशानियों से अवगत कराया था. एसोसिएशन ने उनके सामने अपनी मांगें रखी थीं. सूत्रों के मुताबिक सीएम से कोई ठोस आश्वासन न मिल पाने के कारण उन्हें हड़ताल पर जाना पड़ रहा है.
Loading...

ये भी पढ़ें -
पहले घर में बनाओ शौचालय, तब आऊंगी ससुराल, वरना दे दूंगी तलाक
सरकार की मिलावट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 31 कारोबारियों पर रासुका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 5:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...