Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    इंदौर: कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या के डर से कम हुए हवाई सफर करने वाले यात्री

    इंदौर के देवी अहिल्या एयरपोर्ट पर एक यात्री की चेकिंग करते सुरक्षाकर्मी.
    इंदौर के देवी अहिल्या एयरपोर्ट पर एक यात्री की चेकिंग करते सुरक्षाकर्मी.

    कोरोना संक्रमितों (Corona infected) की बढ़ती संख्या को देखते हुये घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फिर से संकट के बादल छाने लगे हैं. लोग दोबार से लॉकडाउन (Lockdown) होने की शंका और बीमारी दोनों से डरे हैं इसलिए हवाई सफर (Air travel) नहीं कर रहे हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 22, 2020, 11:15 AM IST
    • Share this:
    इंदौर. कोरोना (Corona) के कारण बंद हुई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फिर से संकट के बादल छाने लगे हैं. इसके पीछे कोरोना दोबारा से वजह बन रहा है. दोबारा से बढ़ते कोरोना के कारण लोग हवाई यात्रा (Air travel) करने से बच रहे हैं, जिसका सीधा असर विमानन कंपनियों पर पड़ता दिखाई दे रहा है.

    अगर कुछ समय तक ऐसी ही रहा तो कंपनियां अपनी उड़ानों को बंद या उनकी फ्रीक्वेंसी कम कर सकती हैं. कोरोना की पहली लहर कम होने के बाद जब उड़ानें शुरू हुईं तो उनमें कम यात्री सफर कर रहे थे, लेकिन जैसे-जैसे कोरोना के मामले कम हुए तो यात्रियों की संख्या भी बढ़ने लगी थी. अब दोबारा से ऐसा समय आ गया है, जिसमें इंदौर एयरपोर्ट से वर्तमान में 36 से अधिक उड़ानें संचालित हो रही हैं, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण एक बार फिर से यात्रियों की संख्या में कम होनी शुरू हो गई है.

    कई लोग एयर लाइंस और ट्रेवल एजेंट्स से संपर्क कर रहे हैं और कई यात्री अपनी टिकट निरस्त भी करवा रहे हैं. ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष हेमेंद्र सिंह जादौन ने बताया कि कई शहरों में कर्फ्यू की घोषणा के बाद कई यात्रियों ने फोन करके जानकारी ली और कुछ यात्रियों ने अपने आने वाले दिनों के टिकटों को भी निरस्त करवा लिया है.



    MP: पुलिस ने 2 मनचलों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, फिर बीच सड़क पर कराई उठक-बैठक, देखें Video
    कोरोना के बढ़ते मामलों की जो खबरें मीडिया में आ रही हैं उनको देखत हुये कई शहरों में लॉकडाउन की आशंका भी लोगों को सता रही है. इसलिए लोग सफर करने से डरते हैं. लोगों को लगने लगा है कि अगर लॉकडाउन हुआ तो वो दूसरे शहर में फंस सकते हैं. दो राज्यों और शहरों के बीच परिवहन के साधनों के बंद होने का खतरा भी लोगों को सता रहा है. इसलिए लोग अपनी यात्रा को ही रद्द कर रहे हैं.

    उन्हें बताया जा रहा है कि यात्रियों के लिए एयरपोर्ट से टैक्सियों के संचालन को छूट दी गई है. फिर भी यात्री जाने से बच रहे हैं. इधर शनिवार से इंदौर में भी रात का कर्फ्यू लगने से दूसरे शहरों से आने वाले यात्री संशय में हैं.

    बता दें कि मध्य प्रदेश में इंदौर और भोपाल दोनों शहर कोरोना से सबसे अधिक संक्रमित शहर थे. यहां पर कोरोना के पूरे प्रदेश में सबसे अधिक मरीज मिल रहे थे. इसके बाद में शहर में पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज