होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /इंदौर में प्लाज्मा थेरेपी शुरू, 2 मुस्लिम डॉक्टरों ने कोरोना पेशेंट्स को डोनेट किया प्लाज्मा

इंदौर में प्लाज्मा थेरेपी शुरू, 2 मुस्लिम डॉक्टरों ने कोरोना पेशेंट्स को डोनेट किया प्लाज्मा

कोरोना पेशेंट्स के लिए इंदौर में प्लाज्मा थेरेपी शुरू

कोरोना पेशेंट्स के लिए इंदौर में प्लाज्मा थेरेपी शुरू

उम्मीद है कि आने वाले दिनों में कोरोना से निपटने में कारगर साबित होगी. इसके साथ ही इंदौर के बाद अब भोपाल भी कतार में है ...अधिक पढ़ें

इंदौर.मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में भी अब कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों का इलाज प्लाज्मा थेरेपी से शुरू हो गया है.कोरोना के हॉट स्पॉट बने इंदौर के एक अस्पताल में प्लाज्मा पद्धति से मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है. शहर के दो मुस्लिम युवा डॉक्टरों ने अपना प्लाज्मा डोनेट किया जो दूसरे दो पेशेंट्स को दे दिया गया. इसके बेहतर परिणाम आने की संभावना है. प्लाज्मा थेरेपी कोरोना मरीज़ों के लिए उम्मीद की एक किरण है.

ऐसे मरीज जिनका लगातार इलाज होने के बाद भी बचने की उम्मीद कम होती है,ऐसे स्थिति में उन मरीजों को स्वस्थ हो चुके मरीज के शरीर से प्लाज्मा लेकर चढ़ाया जाता है. इसके अब तक अच्छे रिजल्ट आए हैं. इसी उम्मीद में मध्य प्रदेश में भी प्लाज्मा थेरेपी शुरू की गयी है.

इंदौर दो मुस्लिम डॉक्टरों ने पेश की मिसाल
इंदौर शहर के दो कोरोना संक्रमित डॉक्टरों ने पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के नियमानुसार 14 दिन बाद अरविंदो हॉस्पिटल में ब्लड प्लाज़्मा डोनेट किया. डॉ. इज़हार मोहम्मद मुंशी और डॉ. इक़बाल कुरैशी ने कोरोना से मुकाबले के लिए 500-500ml ब्लड प्लाज़्मा डोनेट किया. यह सुविधा फिलहाल इंदौर के सिर्फ अरविंदो हॉस्पिटल में ही है. हॉस्पिटल चेयरमैन डॉ. विनोद भंडारी ने उम्मीद जताई है कि स्वस्थ हुए और भी मरीज़ प्लाज़्मा डोनेट कर मानवता का काम करेंगे. सेंट पॉल स्कूल के पूर्व छात्र मुकेश कोठारी ने बताया कि डॉ. मुंशी ने कोरोना इलाज़ के लिये प्लाज़्मा देकर इंदौर में मिसाल कायम की है.यह प्लाज़्मा कोरोना के गम्भीर मरीज़ों के लिये अमृत समान है।

चीन से अपनाई गई है पद्धति
कोरोना पाजिटिव मरीजों को स्वस्थ करने की यह पद्धति चीन में अपनाई गई,जिसके बेहतर परिणाम सामने आए. इसके बाद दिल्ली में भी इससे गंभीर मरीज स्वस्थ हुए.यही वजह है कि पिछले दिनों प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ हुई बैठक में मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से मांग की थी कि इंदौर के अरविंदों मेडिकल कालेज और महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज में इसकी अनुमति दी जाए. इस पर हर्षवर्धन ने कहा था कि केवल भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद को मेल करके यह सूचित कर दें. वे सभी आवश्यक गाइड लाइन का पालन करेंगें.उन्हें अपने आप अनुमति मिल जाएगी.

5 दिन का इंतज़ार
इसके बाद मध्यप्रदेश में इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज में रविवार को दो ठीक हो चुके कोरोना पेशेंटस का प्लाजमा दो पेशेंट पर चढ़ाया गया है.अब पांच दिन के अंदर इन मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में परिणाम देखने को मिलेंगे और परिणाम सकारात्मक रहते हैं,तो यह पद्धति मध्यप्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि होगी.

नरोत्तम मिश्रा ने किया ट्वीट
मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट करके केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को सूचना  दी है कि प्रदेश में प्लाज्मा थेरेपी शुरू हो गयी है. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में कोरोना से निपटने में कारगर साबित होगी. इसके साथ ही इंदौर के बाद अब भोपाल भी कतार में है. भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज और चिरायु अस्पताल ने प्लाज्मा थेरेपी की इजाज़त ICMR से मांगी है.

ये भी पढ़ें-

COVID-19 Update: मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 2090 हुई

इंदौर में कोरोना वायरस की प्रजाति ज्यादा है घातक? NIV भेजे जाएंगे नमूने

Tags: Corona epidemic, Corona positive, Corona warriors, Indore news