Home /News /madhya-pradesh /

MP: रिश्वत लेने में नहीं चूक रहे पुलिसकर्मी, दो एएसआई गिरफ्तार

MP: रिश्वत लेने में नहीं चूक रहे पुलिसकर्मी, दो एएसआई गिरफ्तार

इंदौर लोकायुक्त टीम ने एक साथ दो जगह कार्रवाई करते हुए दो पुलिस एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

इंदौर लोकायुक्त टीम ने एक साथ दो जगह कार्रवाई करते हुए दो पुलिस एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

इंदौर लोकायुक्त टीम ने एक साथ दो जगह कार्रवाई करते हुए दो पुलिस एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    इंदौर लोकायुक्त टीम ने एक साथ दो जगह कार्रवाई करते हुए दो पुलिस एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. दो फरियादियों से अलग-अलग मामलों में पुलिसकर्मी 20-20 हजार रुपए की घूस ले रहे थे.

    लोकायुक्त पुलिस ने सेंट्रल कोतवाली से एएसआई बृजपाल सिंह कुशवाह को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है. फरियादी कैलाश पिपले की तरफ से लोकायुक्त पुलिस को रिश्वत मांगे जाने की शिकायत दर्ज कराई थी.

    फरियादी ने लोकायुक्त पुलिस को शिकायत करते हुए बताया था कि, सेंट्रल कोतवाली थाने में पदस्थ एएसआई बृजपाल सिंह कुशवाह दुकान में निर्माण कार्य पूरा करने की एवज में 20 हजार की रिश्वात की मांग कर रहा है.

    फरियादी कैलाश ने बताया कि, उसकी दुकान के रिनोवेशन के कार्य के दौरान एएसआई ने धौंस दिखाते हुए कहा था कि अगर पैसे नहीं दोगे, तो निर्माण कार्य नहीं कर पाओगे. निर्माण कार्य के लिए पुलिस की परमिशन की जरूरत पड़ती है. लिहाजा, फरियादी ने पूरे मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस से कर दी.

    शिकायत की तस्दीक करने के बाद लोकायुक्त पुलिस एसपी ने एक विशेष टीम का गठन किया था. इस टीम ने शुक्रवार सुबह जाल बिछाकर एएसआई को गिरफ्तार कर लिया.

    उधर, धार जिले के सरदारपुर एसडीओपी कार्यालय के एएसआई रीडर बसंत सिंह को 2,000 की रिश्वत लेते पकड़ा है. एएसआई ने एक मामले का निपटारा कराने फरियादी रिश्वत मांगी थी.

    लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वतखोर रीडर के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है. कार्रवाई पूरी होने पर रीडर को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया.

    Tags: Dhar news, Indore news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर