बिजली कटौती पर राहत इंदौरी ने कमलनाथ से मांगी मदद, मंत्री बोले- बदनाम करने की साजिश है

इंदौर में पिछले कुछ दिनों से जारी बिजली कटौती पर प्रख्यात शायर राहत इंदौरी का भी दर्द भी छलक गया.

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 3, 2019, 6:22 PM IST
बिजली कटौती पर राहत इंदौरी ने कमलनाथ से मांगी मदद, मंत्री बोले- बदनाम करने की साजिश है
फाइल फोटो
Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 3, 2019, 6:22 PM IST
मध्य प्रदेश के कई शहरों में अघोषित बिजली कटौती ने लोगों को परेशान कर दिया है. कई-कई घंटों की बिजली गुल से आम से खास हर कोई हलकान है. इंदौर में पिछले कुछ दिनों से जारी बिजली कटौती पर प्रख्यात शायर राहत इंदौरी का भी दर्द भी छलक गया. इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री तक से मदद की गुहार लगा दी. लेकिन राज्य के मंत्री इसे सरकार को बदनाम करने की साजिश बता रहे हैं. तो वहीं बीजेपी ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

प्रचंड गर्मी के बीच मध्यप्रदेश में कई घंटों तक बिजली कटौती से हाहाकार मचा हुआ है. इंदौर में पिछले दिनों एक ग्रिड में आग लग जाने से एक बड़े इलाके में रहने वाले लोगों को बिजली की समस्या से जूझना पड़ा. रविवार को भी कई घंटे बिजली गुल रही. जिस पर शायर राहत इंदौरी ने रविवार की रात को ट्वीट कर अपना दर्द बयां किया और सीएम कमलनाथ से मदद की अपील की. उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी में रोजे के समय बिजली गुल होने से उन्हें काफी तकलीफ हुई. इसकी शिकायत के लिए जिम्मदारों को फोन भी लगाया, लेकिन किसी ने फोन रिसीव नहीं किया, इसलिए ट्वीट कर अपनी शिकायत दर्ज कराई.

बचाव में आए जीतू पटवारी-
राहत इंदौरी के बयान के बाद सरकार के मंत्री बिजली विभाग के बचाव में उतर आए. उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि रविवार के दिन आंधी चलने से बिजली आपूर्ति बाधित हुई. जिसे बिजली कर्मचारियों ने कई घंटे की मेहनत के बाद दुरुस्त किया. इस पर बिजली कर्मचारियों को पुरस्कृत किया जाना चाहिए.
Loading...

सरकार को बदनाम करने की कोशिश-
राज्य के वाणिज्यक कर मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि प्रदेश में बिजली की कोई कमी नहीं है. कुछ लोग मध्यप्रदेश सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं. तो वहीं इंदौर से कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला भी बीजेपी पर आरोप लगा रहे हैं.

बीजेपी ने आंदोलन की दी चेतावनी-
उधर, बीजेपी ने बिजली कटौती को लेकर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है. इंदौर तीन से बीजेपी के विधायक आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस सरकार लोगों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है. शहर के बुद्धजीवियों की सुनवाई नहीं हो रही है. राहत इंदौर तक के फोन नहीं उठ रहे तो आप समझ सकते हैं हालात कितने बदतर होते जा रहे हैं. ऐसे में बीजेपी उग्र आंदोलन को मजबूर है.

ये भी पढ़ें-RTI में खुलासा, ‘नो पार्किंग चालान’ के नाम पर फर्जीवाड़ा, पुलिस के पास नहीं है कोई जानकारी

ये भी पढ़ें- पागल कुत्तों का आतंक : घर में सो रही 25 दिन की बच्ची को मुंह में दबोचा, फिर..
First published: June 3, 2019, 5:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...