अफसर के घर लोकायुक्त टीम का छापा पड़ा तो खिड़की से फेंका रुपयों से भरा बैग

जैसे ही अधिकारियों ने न्यायालय का सर्च वारंट दिखाया और खुद को लोकायुक्त का अधिकारी बताया, घर की महिलाओं ने रुपयों से भरा बैग खिड़की से बाहर फेंक दिया.

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 8, 2019, 8:27 PM IST
अफसर के घर लोकायुक्त टीम का छापा पड़ा तो खिड़की से फेंका रुपयों से भरा बैग
लोकायुक्त का छापा
Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 8, 2019, 8:27 PM IST
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम का अफसर सलमान हैदर करोड़ों की काली कमाई का आसामी निकला. अब तक की कार्रवाई में उसके कई घर-प्लॉट, बैंक खातों का पता चल चुका है. छापे की कार्रवाई जारी है. हैदर पहले इंदौर में पदस्थ थे लेकिन अब कटनी में तैनात हैं. लोकायुक्त की टीम ने उनके इंदौर और कटनी के ठिकानों पर सोमवार सुबह एक साथ छापा मारा. अल सुबह करीब 50 लोगों की टीम हैदर के इंदौर स्थिति 4 घरों पर पहुंची और कार्रवाई शुरू की.

लगातार मिल रही थी शिकायत

लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक को इंदौर में मध्यप्रदेश खाद्य आपूर्ति निगम के प्रबंधक पद पर रह चुके सलमान हैदर के बारे में लगातार शिकायत मिल रही थीं. बताया जा रहा था कि उन्होंने आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित कर रखी है. वो गलत आचरण कर पैसा जमा कर रहे हैं. शिकायतों की जांच कर टीम ने सोमवार सुबह हैदर के इंदौर में चार और कटनी में एक ठिकाने पर दबिश दी.

सर्च वारंट देख रुपयों से भरा बैग खिड़की से बाहर फेंका

टीम सुबह पलसीकर चौराहे के पास बार्गल अपार्टमेंट में फ्लैट नंबर 202, छत्रीपुरा में मकान नंबर 23, कागदीपुरा के मुस्कान अपार्टमेंट में फ्लैट नंबर 201 और 202 और माणिकबांग रोड नंदनवन के घर में कार्रवाई के लिए दाख़िल हुई. कार्रवाई में लगे 50 से ज्यादा अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई.
जिन स्थानों पर छापे मारे गए, उसमें खाद्य अधिकारी सलमान हैदर के साले का घर भी शामिल है. यह घर माणिकबाग रोड पर नंदनवन में है. जैसे ही अधिकारियों ने न्यायालय का सर्च वारंट दिखाया और खुद को लोकायुक्त का अधिकारी बताया, घर की महिलाओं ने रुपयों से भरा बैग खिड़की से बाहर फेंक दिया.

करोड़ों का आसामी है
Loading...

प्रारंभिक तौर पर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग का अफसर सलमान हैदर करोड़पति निकला. इसमें बड़ी संख्या में प्लॉट, फ्लैट और मकान शामिल हैं. सुबह जब लोकायुक्त का दल हैदर के पैतृक निवास और उनके घर पहुंचा तब रिश्तेदार और परिवार सब सो रहे थे. जैसे ही अधिकारियों ने न्यायालय का सर्च वारंट दिखाया और खुद को लोकायुक्त का अधिकारी बताया, घर की महिलाओं ने रुपयों से भरा बैग खिड़की से बाहर फेंक दिया. हालांकि लोकायक्त के दल को शंका हुई तो उन्होंने कड़ी पूछताछ की. बाद में घर के सदस्यों ने बैग के बारे में जानकारी दी. बैग में पांच लाख से ज़्यादा नगद रखे हुए थे. लोकायुक्त दल को घर से विदेशी मुद्रा सहित नोटबंदी के दौरान बंद करंसी भी रखी मिली.
काली कमाई की लिस्ट
फ्लैट नम्बर 202 बार्गल अपार्टमेंट
इसी बिल्डिंग में तीसरी मंजिल पर भी 2 फ्लैट।
महालक्ष्मी नगर में 200 फीट की दुकान
ग्लैमर हाईवे सिटी राऊ-पीथमपुर रोड पर 2 प्लॉट
जीवनधाम अपार्टमेंट विजय नगर माणिकबाग रोड पर फ्लैट.
गुलाबबाग कॉलोनी में प्लॉट नं. 584-ए, 533-ए, 536-ए
5 लाख रु. नगद, इनोवा, मारुति स्विफ्ट, एक्टिवा और टीवीएस पेप
विदेशी मुद्रा 4293 ( भारतीय करंसी में अधिक मूल्य)
चांदी के बर्तन
गुलाबबाग में फ्लैट, पलसीकर में तीन फ्लैट

लोकायुक्त छापे की जानकारी जैसे ही सलमान हैदर को मिली, वह कटनी स्थित दफ्तर पर नहीं मिले. लोकायुक्त का एक दल अब हैदर को इंदौर लेकर भी आ सकता है. इसके साथ ही लोकायुक्त, विभाग को एक पत्र लिखकर हैदर के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहेगा. अभी जांच जारी है इसलिए और भी ज़्यादा अनुपातहीन सम्पत्ति का खुलासा होने की उम्मीद है. लोकायुक्त का दल अब बैंक खातों सहित लॉकर का डिटेल खंगाल रहा है.

ये भी पढ़ें-आकाश की रिहाई पर मिठाई खाने वाला पुलिसकर्मी लाइन हाजिर



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 7:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...