अगर आकाश अपना बचाव नहीं करता तो उसकी जान भी जा सकती थी : रमेश मेंदोला

मेंदोला ने कहा कि उनकी आकाश विजयवर्गीय से बात हुई. जिसमें उन्होंने बताया कि उनपर आक्रमण हुआ था. उन्होंने जो भी किया अपने बचाव में किया. अगर वे ऐसा नहीं करते तो उनकी जान भी जा सकती थी. आकाश से फोन पर हुई बात के अनुसार ‘कां

News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 6:26 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 6:26 PM IST
इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम के अधिकारी की पिटाई मामले में बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला ने बयान दिया है. मेंदोला ने कहा कि उनकी आकाश विजयवर्गीय से बात हुई. जिसमें उन्होंने बताया कि उनपर आक्रमण हुआ था. उन्होंने जो भी किया अपने बचाव में किया. अगर वे ऐसा नहीं करते तो उनकी जान भी जा सकती थी. आकाश से फोन पर हुई बात के अनुसार ‘कांग्रेस के गुंडों ने निगम में भी गुंडे पाल रखे हैं. सुरक्षा गार्ड के नाम से उनपर जो हमला हुआ उसमें उनकी जान भी जा सकती थी.’

नगर निगम में भ्रष्टाचार -



विधायक रमेश मेंडोला ने बताया कि नगरनिगम के अधिकारी और कांग्रेस के नेता जमीन और माकन के विवाद को और पुराने मकान को खाली कराने के ठेके का काम कर रहे हैं. वो किसी भी मकान को खरीद कर रजिस्ट्री कर लेते हैं. इसके बाद वे नगर निगम के अधिकारियों के साथ मिलीभगत करके मकान खाली कराते हैं.

क्या है मामला-

दरअसल,बीजेपी के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और इंदौर से बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय विवादों में घिर गए हैं. आकाश ने एक जर्जर मकान को तोड़ने आई नगर निगम की टीम के अधिकारियों-कर्मचारियों से क्रिकेट बैट से मारपीट की है. आकाश का आरोप है कि मंत्री सज्जन वर्मा के इशारे पर तोड़-फोड़ की कार्रवाई की जा रही थी.

ये भी पढ़ें- BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम कर्मचारियों को बैट से पीटाये भी पढ़ें-

ये भी पढ़ें- गार्ड की आंखों में मिर्ची झोंककर सुधार गृह से भागे तीन किशोर
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...