Loksabha Elections: इंदौर सीट पर अब चर्चा में विजयवर्गीय का नाम

मराठी समाज सुमित्रा महाजन या उनके बेटे मंदार महाजन के लिए टिकट की मांग कर रहा है. इसी बीच बीजेपी में कैलाश विजयवर्गीय के नाम पर चर्चा जोरों पर है

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 10, 2019, 8:25 PM IST
Loksabha Elections: इंदौर सीट पर अब चर्चा में विजयवर्गीय का नाम
कैलाश विजयवर्गीय (File Photo)
Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 10, 2019, 8:25 PM IST
मध्य प्रदेश में बीजेपी ने अभी तक इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, विदिशा जैसे बड़े शहरों में बड़ी राजनीति के बीच अपने नाम घोषित नहीं किए हैं और इसी कारण रोज नए नाम राजनीतिक रूप से सामने आ रहे हैं. इंदौर में महाराष्ट्रीयन और मराठा समाज के वोट बैंक को ध्यान में रखकर दोनौ ही पार्टियां प्रत्याशी चयन करेंगी. हालांकि मराठी समाज सुमित्रा महाजन या उनके बेटे मंदार महाजन के लिए टिकट की मांग कर रहा है. इसी बीच बीजेपी में कैलाश विजयवर्गीय के नाम पर चर्चा जोरों पर है.

चुनाव न लड़ने की घोषणा के बाद लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को जहां राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की आस बंध गई है तो वहीं बीजेपी के तमाम नेताओं को टिकट की आस थी इसमें ताई और भाई के समर्थक भी शामिल थे.



दरअसल, इंदौर सीट पर पिछले दो दिनों में समीकरण बदल गए अब इंदौर लोकसभा सीट से कैलाश विजयवर्गीय का नाम सामने आने से न केवल ताई समर्थक पीछे हट गए बल्कि भाई समर्थकों कदम पीछे खींच लिए हैं. उनके खास समर्थक कहे जाने वाले रमेश मेंदोला ने भी अब चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है.

अब तक अपनी दावेदारी ठोक रहे मेदौला अपने बॉस के सामने कैसे दावेदारी कर सकते ऐसे में उन्होने चुनाव न लड़ने की बात कह दी उन्होने कहा कि मैं लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगा पार्टी ने मुझे जिताने की जिम्मेदारी दी है वहीं निभाऊंगा.

जानकारी के अनुसार सुमित्रा महाजन के ना के बाद बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला भी मन ही मन दिल्ली जाने की इच्छा बना बैठे थे. इसीलिए वे सोशल मीडिया पर राहुल गांधी को घेरते और इंदौर में लोकसभा संयोजक बनने के बाद से वे हर मीटिंग, हर आयोजन में पहुंचें, लेकिन कैलाश विजयवर्गीय का नाम आने से वो खुद पीछे हट गए.

उधर कैलाश के कद के सामने कांग्रेस भी अपने बड़े कद के नेता को चुनाव लड़ाने की जुगत में लग गई है. कमलनाथ सरकार के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कैलाश को टक्कर ज्योतिरादित्य सिंधिया ही दे सकते हैं गुना में वो जिसको बोलेंगे वो चुनाव जीत जाएगा.

यह भी पढ़ें- MP: शिवराज सरकार के दौरान हुए ई-टेंडरिंग घोटाले में 5 अफसरों के खिलाफ FIR
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार