Home /News /madhya-pradesh /

रेप के आरोपी MLA के बेटे ने थाने में दिखाए तेवर, फोटोशूट के वक्त झटके पुलिसकर्मियों के हाथ

रेप के आरोपी MLA के बेटे ने थाने में दिखाए तेवर, फोटोशूट के वक्त झटके पुलिसकर्मियों के हाथ

कांग्रेस नेत्री से रेप का आरोपी करण मोरवाल की एक दिन की रिमांड पुलिस को मिली है.

कांग्रेस नेत्री से रेप का आरोपी करण मोरवाल की एक दिन की रिमांड पुलिस को मिली है.

Indore Congress Leader Rape Case: कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल (MLA Murli Morwal) के बेटे और दुष्कर्म (Rape) के आरोपी करण मोरवाल (Karan Morwal) ने पुलिस और मीडिया के सामने अपनी अकड़ दिखाई. फोटोशूट के दौरान जब एक पुलिसकर्मी ने उसके चेहरे से हुडी हटाने की कोशिश की तो उसने पुलिस कर्मी के हाथ झटक दिए. इतना ही नहीं उसने रेप पीड़िता पर ही कई आरोप लगा दिए. आरोपी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया और एक दिन की रिमांड मिली है. आरोपी पर कांग्रेस पार्टी की ही एक युवा नेत्री से शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने और धमकाने का केस दर्ज है.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) की महिला थाना पुलिस ने बड़नगर विधायक मुरली मोरवाल (MLA Murli Morwal) के बेटे करण मोरवाल (Karan Morwal) को रेप (Rape) के आरोप में मक्सी से गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने बीते मंगलवार को ही करण को कोर्ट पेश किया और दो दिनों के पुलिस रिमांड की मांग की. न्यायालय ने दलील से सहमत होकर एक दिन की पुलिस रिमांड स्वीकार कर ली. इस दौरान आरोपी मोरवाल के तीखे तेवर बरकरार रहे और वह फरियादी युवती को ही गलत साबित करने पर उतारू रहा. आरोपी  ने मीडिया के सामने युवती पर आरोप लगाते हुए कहा की वह पूर्व में भी कई प्रकरण दर्ज करवा चुकी है.

दरअसल बीते अप्रैल माह में युवती ने करण मोरवाल के विरूद्ध बलात्कार की शिकायत करते हुए केस दर्ज करवाया था. करण मोरवाल उज्जैन की बड़नगर विधानसभा से कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल का बेटा है. करण भी कांग्रेस पार्टी में पदाधिकारी था और युवती भी पार्टी के पद पर पदस्थ थी. करण पर आरोप है कि उसने युवती को शादी का झांसा दिया और उसका शारीरिक शोषण किया. युवती ने जब शादी के लिए दबाब बनाया तो आरोपी ने इनकार कर दिया. युवती ने कई सबूतों के साथ पुलिस को शिकायत की थी. पुलिस के बड़े अधिकारियो के हस्तक्षेप के बाद केस दर्ज तो हो गया, लेकिन लम्बे समय तक पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी थी. 
टेक्नीकल डिवाइस से दूर रहा आरोपी 
पुलिस के मुताबिक आरोपी फरारी के दौरान लगातार टेक्निकल डिवाइस से दूर रहा. खुद की पहचान छुपाकर घूमता रहा. दावा किया जा रहा है कि आरोपी और उसके परिवार के कई सदस्यों का इलाके में खौफ होने के कारण किसी ने पुलिस को आरोपी के संदर्भ में कभी सूचना नहीं दी. इस बीच आरोपी की गिरफ्तारी पर इनाम की राशि बढ़ा 25 हजार रुपये कर दी गई.

मक्सी से घेराबंदी कर आरोपी को पकड़ा
पुलिस ने कुछ दिनों से उज्जैन में ही डेरा डाला हुआ था, जो लगातार बड़नगर और संभावित ठिकानों पर छापेमार कार्रवाई कर रही थी. इस दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी एक कार से मक्सी से बड़नगर जा रहा है. इस सूचना पर पुलिस ने मक्सी से घेराबंदी कर आरोपी को हिरासत में लिया और उसे इंदौर ले आये. हालांकि रसूख से संबंध रखने वाले करण की पुलिस की गिरफ्तारी में भी अकड़ कम नहीं हुई.

पुलिसकर्मी को दिखाए तेवर
मीडिया के सामने बीते मंगलवार को जब करण मोरवाल को लाया गया तो उसने चेहरे पर मास्क लगाया था और चेहरे के एक हिस्से को हुडी से ढका हुआ था, जब पुलिस कर्मी ने उसके चेहरे से हुडी को हटाने का प्रयास किया तो उसने पुलिस कर्मी के हाथ को ही झटक दिया. हालांकि इस दौरान पुलिस ने भी कोई विरोध नहीं किया. कुछ देर बाद पुलिस ने आरोपी को कोर्ट पेश कर रिमांड की मांग की. न्यायालय ने पुलिस की विभिन्न दलीलों को सुनने के बाद एक दिन की पुलिस रिमांड स्वीकार कर दी है.
पुलिस आरोपी से मोबाइल जब्त करेगी
रिमांड अवधि में पुलिस आरोपी से मोबाइल जब्त करेगी और उसने कहां-कहां फरारी काटी इसमें कौन कौन मददगार था इसकी भी जांच की जाएगी. हालांकि शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने आरोपी करण मोरवाल के एक सहयोगी  राहुल के विरुद्ध भी केस दर्ज कर लिया है. राहुल ने करण मोरवाल की फरारी के दौरान मदद की थी. साथ ही पीड़िता को धमकाया भी था. शुरुआती पूछताछ के बाद ही पुलिस ने राहुल को भी इस प्रकरण में आरोपी बनाया है साथ ही प्रकरण में विस्तृत जांच शुरू कर दी है. 
 पुलिस पर रियायत देने का आरोप
आरोपी के तीखे तेवर होने के बाद भी पुलिस रियायत उसे रियायत देती नजर आई. आरोपी लगातार पुलिस की हर कार्रवाई का विरोध कर रहा था. आरोपी से जब पुलिस ने मोबाइल जब्त करवाने को कहा तो वह विरोध करने लगा. फरियादिया के मुताबिक़ आरोपी ने उसके कई अश्लील चित्र अपने मोबाइल में छुपाये हैं. उनके बूते पर वह धमकाता था. पुलिस ने इस वजह से जब मोबाइल जब्त करवाने को कहा तो आरोपी ने इससे इंकार कर दिया और कहा की उसने वह मोबाइल फेंक दिया. पुलिस की कार्रवाई का लगातार विरोध करने के बाद भी पुलिस ने आरोपी को जब न्यायालय पेश किया तो बिना हथकड़ी के ही पेश कर दिया.
पुलिस ने आरोपी को गाड़ी में ही बैठाये रखा
कोर्ट पेश करने से पूर्व जब आरोपी को कोर्ट परिसर में गाड़ी में ही बैठाये रखा गया था. तभी पीड़िता भी वहा पहुंच गई और उसके पास जाने लगी. इस दौरान पुलिस ने उसे दूर हटा दिया. पीड़िता का आरोप आरोप था कि आरोपी इस दौरान भी पैसों का प्रलोभन दे रहा था. पीड़िता ने मंगलवार की दोपहर इंदौर एसपी से भी मुलाकात की और आरोपी करण मोरवाल के पिता को भी इस प्रकरण में आरोपी बनाने के लिए गुहार लगाईं. पीड़िता का आरोप था कि विधायक ने एक जाली दस्तावेज तैयार करवा कर न्यायालय में जमानत अर्जी दाखिल की थी.
विधायक के विरुद्ध भी युवती ने की केस दर्ज करने की मांग
हालांकि जमानत अर्जी को खारिज हो गई, लेकिन जिस वक़्त दस्तावेज के लिहाज से वह हॉस्पिटल में होने का दावा कर रहे है ठीक उसी वक्त के सीसीटीवी फुटेज में वह घर पर मौजूद था. इस वजह से जाली दस्तावेज तैयार करवाना फरारी में मदद करने जैसे आरोपों के तहत विधायक के विरुद्ध भी युवती केस दर्ज करने की मांग कर रही थी. हालांकि इसके बाद पुलिस अधिकारियो ने जांच के बाद कार्रवाई का भरोसा दिया.
प्रकरण की विस्तृत जांच जारी है
महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के मुताबिक संबंधित प्रकरण में जांच के लिए न्यायालय से आरोपी के दो दिनों के पुलिस रिमांड की मांग की थी. न्यायालय ने एक दिन की रिमांड स्वीकार की है. शुरुआती जांच में यह साबित हुआ कि करण का एक दोस्त राहुल राठौर पीड़िता को धमकाता था. वह भी मददगार की भूमिका में है. उसका नाम प्रकरण में जोड़ा गया है. प्रकरण में फिलहाल विस्तृत जांच जारी है. 

Tags: Indore news, Madhya pradesh news, Rape Case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर