Home /News /madhya-pradesh /

पढ़िए, आखिर क्‍यों हर सुबह लोगों के घर की बेल बजाता है यह निगम पार्षद?

पढ़िए, आखिर क्‍यों हर सुबह लोगों के घर की बेल बजाता है यह निगम पार्षद?

मन में जनता की सेवा करने का भाव हो तो हर मुश्किल हार मान जाती है। इंदौर के एक पार्षद ऐसा ही कुछ काम कर रहे हैं और दूध बेचकर जनता की समस्याओं का निराकरण भी कर रहे हैं। जनता के बीच सुबह-सुबह पार्षद दस्तक दे देते हैं और उनकी समस्याओं का निराकरण करने की कोशिश भी शुरू हो जाती है।

अधिक पढ़ें ...
मन में जनता की सेवा करने का भाव हो तो हर मुश्किल हार मान जाती है। इंदौर के एक पार्षद ऐसा ही कुछ काम कर रहे हैं और दूध बेचकर जनता की समस्याओं का निराकरण भी कर रहे हैं। जनता के बीच सुबह-सुबह पार्षद दस्तक दे देते हैं और उनकी समस्याओं का निराकरण करने की कोशिश भी शुरू हो जाती है।

इंदौर नगर निगम चुनाव में पिछले दिनों वैसे तो 85 पार्षदों ने जनता का भरोसा जीता और पार्षद बनकर अपनी जिम्मेदारी को निभाने की शुरुआत की, लेकिन इन 85 पार्षदों में से एक पार्षद ऐसा भी है जो दूध बेचकर भी अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन करता है।

हम बात कर रहे हैं इंदौर नगर निगम वार्ड क्रमांक 5 के पार्षद राजेश चौहान की। पिछले 20 सालों से घर-घर जाकर दूध बांटने वाले राजेश चौहान पार्षद बनने के बावजूद भी अपना कर्तव्य नहीं भूले हैं। रोजाना सुबह राजेश अपनी बाइक पर दूध की टंकियां लेकर निकल पड़ते हैं और अपने क्षेत्र में दूध बांटने के साथ ही जनता की परेशानियों को भी सुन लेते हैं। अपने वार्ड की हर गली और चौपाल पर मौजूद लोगों से भी राजेश की मुलाकात को जाती है और उनकी समस्याओं का निराकरण करने की कवायदें भी शुरू हो जाती हैं।

राजेश का कहना है कि दूध के व्यापार ने ही उन्हें क्षेत्र में पहचान दिलाई है और अब जब जनता ने उन्हें पार्षद बनाकर सेवा करने का मौका दिया है तो वे अपने व्यापार की जिम्मेदारी संभालने के साथ ही जनता की समस्याओं का निराकरण करने का भी पूरा प्रयास करते हैं। वैसे तो राजेश भारतीय जनता पार्टी के पार्षद हैं लेकिन उनका यह भी कहना है कि वे सिर्फ जनता की सेवा करने के लिए ही पार्षद बने हैं और दूध बांटने के साथ ही उनका यह काम और भी ज्यादा आसान हो जाता है।

वहीं क्षेत्र ही जनता भी सुबह-सुबह अपने घर पर पार्षद को देखकर खुश हो जाती है। लोगों का कहना है कि आमतौर पर जहां पार्षदों को ढूंढने में जनता की चप्पलें घिस जाती हैं तो वहीं उनके पार्षद दूध बांटने के साथ उनकी समस्याओं को भी सुन लेते हैं। वाकई में राजेश चौहान जनता की सेवा करने के लिए कभी पीछे नहीं हटते और जिस तरह से उन्होंने अपना पुस्तैनी व्यापार जारी रखने के साथ ही जनता की समस्याओं को सुनने का काम किया है वह उन्हें जनता का सच्चा सेवक बनाता है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर