कोरोना का हॉट स्पॉट बने इंदौर में राहत, 7 माह में पहली बार 3 दिन में Covid से एक भी मौत नहीं

इंदौर में कोरोना से राहत मिलने की उम्मीद है. (सांकेतिक फोटो)
इंदौर में कोरोना से राहत मिलने की उम्मीद है. (सांकेतिक फोटो)

कोरोना (Corona) के संक्रमण से जूझ रहे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) को अब राहत मिलती नजर आ रही है.

  • Share this:
इंदौर. कोरोना (Corona) के संक्रमण से जूझ रहे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) को अब राहत मिलती नजर आ रही है. मार्च के बाद पहली बार इंदौर में लगातार तीसरे दिन रविवार-सोमवार और मंगलवार को कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण से एक भी मरीज की मौत नहीं हुई. शहर में 24 मार्च को कोरोना से पहली मौत हुई थी, उसके बाद से इन सात महीनों में 2 से लेकर 7 मौतें रोज दर्ज हो रहीं थीं, लेकिन अब महामारी का असर कम होने और मरीजों की संख्या घटने से मृतकों की संख्या शून्य पर आ गई है.

हालांकि इंदौर में 679 लोगों की कोविड-19 (Covid-19) से मौत के कारण मृत्यु दर 2.02 फीसदी रही, जो राष्ट्रीय मृत्यु दर 1.50 प्रतिशत से थोड़ा ज्यादा है. इंदौर के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिया के मुताबिक संक्रमण दर घटने, गंभीर मरीज कम आने और तत्काल इलाज मिलने से हालात में सुधार आने लगा है.

शहर में 62 फ़ीसदी बेड खाली
अरबिंदो अस्पताल के डॉ. रवि डोसी कहते हैं कि बीमारी से मरने वालों की संख्या कम हो रही है. वार्डों में भर्ती मरीजों की संख्या एक तिहाई से कम बची है. मरीज कम होंगे तो उस अनुपात में मौत का आंकड़ा भी कम होना स्वाभाविक है. अब अस्पताल वे ही मरीज आ रहे हैं, जिन्हें सांस लेने में परेशानी है. कुल मरीजों की संख्या भी कम हुई है. उसकी वजह ये है कि लोग सचेत होकर जल्दी जांच और इलाज करवा रहे हैं, जिससे हालात में सुधार आ रहा है. शहर के अस्पतालों की बात की जाय तो सभी कोविड अस्पतालों के जनरल वार्ड में अभी एक भी कोरोना मरीज नहीं हैं. अस्पतालों में 655 आईसीयू बेड पर 234 मरीज भर्ती हैं यानी 421 बेड खाली हैं वहीं 4129 कुल बेड में से 2567 खाली हैं. यानी फिलहाल सिर्फ 1562 मरीज भर्ती हैं और करीब 62 फीसदी बैड खाली हैं.
शहर में अब बचे 3241 एक्टिव केस


इंदौर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 148 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं. इसके साथ ही शहर में संक्रमितों का आंकड़ा 33719 पर पहुंच गया है. इनमें से 29799 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. यानी रिकवरी रेट 89 फीसदी के पार पहुंच गया है. शहर में अभी भी 3241 एक्टिव मरीज हैं, जिनका शहर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. वहीं लंबे समय बाद पॉजिटिव रेट भी दो से तीन फीसदी के बीच चल रहा है. स्वास्थ्य विभाग के मेडीकल बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 5350 सैपल की जांच की गई, जिसमें 5185 सैंपलों निगेटिव निकले और 148 सैंपल ही पॉजिटव आए. इसके बाद अब पॉजिटिव रेट 2.77 प्रतिशत रह गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज