इंदौर में मॉर्निंग वॉक पर निकले रिटायर्ड डीआईजी ने लगाई फांसी

लसूड़ि‍या थाना टीआई संतोष दूधी ने बताया कि आज सुबह पुलिस को स्कीम नंबर 114 में महाराणा प्रताप गार्डन के पास नीम के पेड़ पर एक व्यक्ति का शव लटका होने की सूचना मिली थी. इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक की पहचान रिटायर्ड डीआईजी रतनलाल बोराना के रूप में की.

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 14, 2018, 7:10 PM IST
इंदौर में मॉर्निंग वॉक पर निकले रिटायर्ड डीआईजी ने लगाई फांसी
सांकेतिक तस्वीर
Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 14, 2018, 7:10 PM IST
मध्‍यप्रदेश के इंदौर में लसूड़ि‍या थाना क्षेत्र में एक रिटायर्ड डीआईजी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. शुक्रवार सुबह उनका शव बगीचे के पास नीम के पेड़ पर लटका मिला. वे यहां पर अपने बेटे के साथ रहते थे.

लसूड़ि‍या थाना टीआई संतोष दूधी ने बताया कि आज सुबह पुलिस को स्कीम नंबर 114 में महाराणा प्रताप गार्डन के पास नीम के पेड़ पर एक व्यक्ति का शव लटका होने की सूचना मिली थी. इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक की पहचान रतनलाल बोराना के रूप में की. पुलिस ने उनके बेटे अजय को सूचना दी.

टीआई ने बताया कि पुलिस को जांच में पता चला कि रतनलाल बोराना 2011 में डीआईजी के पद से रिटायर्ड हुए थे. वे मूल रूप से मंदसौर के श्यामगढ़ के रहने वाले थे. वहां उनकी पत्नी और एक बेटा रहता है. वे दूसरे बेटे अजय के साथ इंदौर में रह रहे थे. अजय यहां पीएससी की तैयारी कर रहा है.

संतोष दूधी ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि रतनलाल बोराना धार्मिक प्रवृत्ति के थे और अकसर ओंकारेश्वर जाते रहते थे. चार दिन पहले ही वे ओंकारेश्वर से लौटे थे. आज सुबह वे मार्निंग वॉक के लिए निकले थे. इसके बाद घर नहीं लौटे. उन्होंने किन कारणों के चलते आत्महत्या की, इसकी पुलिस जांच कर रही है. फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए एमवाय अस्पताल पहुंचाया गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर