लाइव टीवी

RUSSIAN HACKERS तक पहुंची इंदौर साइबर पुलिस की जांच, 2 गिरफ्तार

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 12, 2020, 9:23 PM IST
RUSSIAN HACKERS तक पहुंची इंदौर साइबर पुलिस की जांच, 2 गिरफ्तार
इंदौर साइबर पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से 700 डेबिट और क्रेडिट कार्डों का डाटा बरामद किया है (फाइल फोटो)

इंदौर के एक व्यक्ति की शिकायत पर साइबर पुलिस (Cyber Police) ने रशियन हैकर से डेटा खरीदने वाले 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. जांच में पुलिस को पता चला कि अभी और भी स्थानीय लोगों का डाटा हैकर्स के पास है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश की इंदौर (Indore) राज्य साइबर पुलिस को इंदौर के एक शख्स ने शिकायत करते हुए बताया था कि उनके खाते से 22 हजार रूपये का भुगतान हुआ है. साथ ही भुगतान से पूर्व कोई ओटीपी भी प्राप्त नहीं हुआ. साइबर पुलिस ने तकनीकी जांच करते चिराग और मकुल नामक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने रशियन हैकर्स (Russian Hackers) की वेब साइट्स से क्रेडिट कार्ड का डाटा लिया था. रशियन हैकर्स की वेब साइट्स पर इंदौर शहर के और भी कार्ड होल्डर्स का डाटा बिकने के लिए उपलब्ध था, लिहाजा पुलिस ने सुरक्षा के लिहाज से सुचना देते हुए सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं.

डिजिटल मार्केटिंग कंपनी चलाते हैं आरोपी
चिराग हरियाणा और मुकुल मुज्जफरपुर का रहने वाला है, दोनों इंदौर में रहकर डिजिटल मार्केटिंग कम्पनी संचालित करते हैं. आरोपी अपनी कम्पनी के अंतर्गत सोशल मीडिया पर विज्ञापन जैसे गूगल, फेसबुक, यूट्यूब, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि पर प्रसारित करते हैं. इसी तरह सोशल मीडिया यूजर्स के लाइक्स व फालोअर्स को भी बढ़ाने का काम कम्पनी में होता है. सोशल मीडिया पर लाइक और व्यू बढ़ाने का काम को करने के लिये सोशल मीडिया के जिस प्लेटफार्म पर विज्ञापन प्रसारित किया जाना होता है उसके लिये सर्विस प्रोवाइडर को पेमेंट करना होता है, जिसके लिये आरोपी कभी स्वयं के खातों से एवं कभी कभी अंडरग्राउंड ऑनलाईन साईट्स से क्रेडिट कार्ड का डाटा सर्च करके व खरीद के पेमेंट करते थे.

News - आरोपियों ने पुलिस को बताया कि हैकर्स लेन देन के लिए बिटकॉइन अकाउंट का प्रयोग करते हैं
आरोपियों ने पुलिस को बताया कि हैकर्स लेन देन के लिए बिटकॉइन अकाउंट का प्रयोग करते हैं


आरोपियों ने बना रखे थे बिटकॉइन अकाउंट
अंडरग्राउंड ऑनलाईन साईट्स पर क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डाटा खरीदने बेचने के लिये बिटकॉइन का प्रयोग किया जाता है, जिसके लिये आरोपियों ने भी बिटकॉइन अकाउंट बनाये हुए थे. आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि इस प्रकार की वेबसाईट पर लाखों लोगों का क्रेडिट डेबिट कार्ड का डेटा खरीदा बेचा जाता है.

हैकर्स की साइट पर है इंदौर के लोगों का डाटा आरोपियों से पूछताछ के दौरान पुलिस ने रशियन हैकर्स की वेब साइट्स खंगाली तो पता चला कि इंदौर के एक फरियादी के अलावा और भी कई यूजर्स का डाटा बिकने के लिए वहां मौजूद है, हालांकि हैकर्स के पास आसानी से उपलब्ध क्रेडिट और डेबिट कार्ड के डाटा लिए राज्य साइबर सेल ने सुरक्षा में चूक माना है, साथ ही अपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड की सेफ हेंडलिंग हेतु निर्देशित किया है. पुलिस अधिकारियों ने आरोपियों से दो लैपटॉप, दो आईफोन और खरीदा गया करीब 700 क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डेटा जब्त किया है.

ये भी पढ़ें -
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुजरात दंगों के सात दोषी जबलपुर पहुंचे, करेंगे सामुदायिक सेवा
MP के वित्त मंत्री तरूण भानोत का बयान- चुनौतियों से भरा होगा इस बार का बजट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 9:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर