होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /MP News: शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, इंदौर में बनेगी लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी, लगाई जाएगी प्रतिमा

MP News: शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, इंदौर में बनेगी लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी, लगाई जाएगी प्रतिमा

MP Latest News: इंदौर में लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी, महाविद्यालय और संग्रहालय की स्थापना होगी.

MP Latest News: इंदौर में लता मंगेशकर के नाम पर संगीत अकादमी, महाविद्यालय और संग्रहालय की स्थापना होगी.

Indore News: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने इंदौर में कहा कि कोकिला लता मंगेशक ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लता मंगेशकर अलंकरण समारोह के दौरान किया बड़ा ऐलान
इंदौर में लता मंगेशकर के नाम पर होगी संगीत अकादमी
सीएम शिवराज ने कहा- लता मंगेशकर का संगीत के क्षेत्र में दिया गया योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता

इंदौर. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में संपन्न हुए प्रतिष्ठित राष्ट्रीय लता मंगेशकर अलंकरण समारोह को वर्चुअली रूप से संबोधित करते हुए स्वर कोकिला लता मंगेशकर की स्मृति को चिरस्थायी बनाने के लिए अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की. उन्होंने कहा कि इंदौर में लता जी के नाम संगीत अकादमी, संगीत महाविद्यालय और संग्रहालय की स्थापना की जाएगी. उन्होंने कहा कि लता जी द्वारा संगीत के क्षेत्र में दिए गए योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता हैं. राज्य शासन के प्रतिष्ठा प्रसंग राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान अलंकरण समारोह में फिल्मी जगत की गायन एवं संगीत क्षेत्र की तीन हस्तियों को राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान से अलंकृत किया गया.

यह सम्मान प्राप्त करने वालों में पार्श्वगायक शैलेन्द्र सिंह,कुमार सानू और संगीतकार आनंद-मिलिंद शामिल है. इन्हें यह सम्मान राज्य शासन की ओर से पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने प्रदान किया. साल 2019 का सम्मान पार्श्व गायन के लिए शैलेन्द्र सिंह को साल 2020 का सम्मान संगीत निर्देशन के लिए आनंद-मिलिंद को और साल-2021 का सम्मान पार्श्व गायन के लिए कुमार शानू को प्राप्त हुआ है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया लता मंगेशकर को याद

समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि स्वर कोकिला तथा भारत रत्न लता मंगेशकर का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ है. लता जी भारत के इतिहास में महान अध्याय के रूप में दर्ज है. उनके द्वारा संगीत के क्षेत्र में दिए गए योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है. आज वे भौतिक रूप से भले ही हमारे बीच में नहीं है, लेकिन वे अपने गीत, देशभक्ति स्वभाव, संस्कार, मूल्य, आवाज के माध्यम से हमेशा हमारे बीच रहेंगी. उन्होंने कहा कि लता जी के बगैर देश अधूरा है. गीत-संगीत सूना है. उनकी कमी पूरी नहीं हा सकती है. उन्होंने कहा कि लता जी की स्मृतियों को प्रदेश में चिरस्थायी रखा जाएगा. वहीं पर्यटन और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि गीत-संगीत परमात्मा के पर्याय है. उन्होंने कहा कि कला एवं संस्कृति का संरक्षण एवं सवर्धन हमारी जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा कि गीत-संगीत के माध्यम से तनाव से मुक्ति मिलती है तथा सुख-शांति एवं संतुष्टि का मार्ग प्रशस्त होता है.

ये भी पढ़ें: Lata Mangeshkar Birthday: स्वर कोकिला लता मंगेशकर को पसंद थी केसर की जलेबी, जानें इसे बनाने का तरीका

लता अलंकरण सम्मान पाने वाले पार्श्वगायक शेलेन्द्र सिंह ने कहा कि यह मैरा सौभाग्य है कि लता जी के नाम से स्थापित यह अवार्ड मुझे मिल रहा है. उन्होंने गीत-संगीत की साधना में लगे युवाओं से कहा कि वे लगातार रियाज करते रहें. अपनी आवाज में गाए, किसी की नकल नहीं करें. संगीतकार आनंद मिलिंद ने कहा कि यह अलंकरण जिंदगी की सबसे बड़ी उपलब्धि है. इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज के प्रति आभार व्यक्त किया. वहीं प्रतिष्ठित लता मंगेशकर सम्मान से अलंकृत कुमार शानू ने कहा कि आज का दिन जिंदगी का सबसे अहम दिन है. लता जी के नाम से यह अलंकरण का महत्व मैरी जिंदगी में सबसे ज्यादा रहेगा. उन्होंने इस अलंकरण के लिये मुख्यमंत्री के प्रति विशेष रूप से आभार व्यक्त किया. अलंकरण समारोह के बाद संगीत संध्या का आयोजन किया गया जिसमें सुप्रसिद्ध गायिका अलका याग्निक न सुरमयी प्रस्तुतियां दी.

Tags: Indore news, Lata Mangeshkar, Mp news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें