• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP News: RSS पता लगाएगी शिवराज सरकार खरी है या खोटी, जनता की नब्ज टटोलेंगे मोहन भागवत

MP News: RSS पता लगाएगी शिवराज सरकार खरी है या खोटी, जनता की नब्ज टटोलेंगे मोहन भागवत

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत सरकार की छवि का आंकलन करने दो दिन के लिए इंदौर आएंगे. (File)

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत सरकार की छवि का आंकलन करने दो दिन के लिए इंदौर आएंगे. (File)

Madhya Pradesh: आरएसएस के सर संघचालक डॉ. मोहन भागवत इंदौर आने वाले हैं. 21 और 22 सितंबर को वे इंदौर में ही रहेंगे. उनके आने का मकसद ये पता लगाना है कि जनता की नजर में बीजेपी सरकार खरी है या खोटी. उनके दौरे से पहले सियासत भी गरमा सकती है.

  • Share this:

इंदौर. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के सर संघचालक डॉ.मोहन भागवत (Dr Mohan Bhagwat) 21 और 22 सितंबर को दो दिवसीय प्रवास पर इंदौर (Indore) आयेंगे हैं. उनके दौरे से पहले सियासत भी गरमा सकती है. प्रवास के दौरान भागवत सत्ता और संगठन का फीड बैक लेंगे. समाज के प्रबुद्धजनों से मुलाकात कर वे समाज पर सरकार के कामों का असर और उसकी छवि का पता लगाएंगे. उनकी RSS के अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात होगी. इस मुलाकात के दौरान जमीनी स्तर पर किए जा रहे संघ के कामों की समीक्षा की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक, कोरोना गाइडलाइन के चलते उनका कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होगा और न ही कोई बड़ी बैठक होगी. दो दिनों तक वे इंदौर के विशिष्टजनों, शिक्षाविदों और स्टार्टअप करने वाले युवा उद्यमियों से चर्चा करेंगे. गौरतलब है कि इन दिनों युवाओं पर संघ का ज्यादा फोकस है. यही वजह है कि मोहन भागवत अपनी इंदौर यात्रा के दौरान युवा उद्यमियों से मुलाकात करेंगे. मध्य प्रदेश में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनाव में मंहगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दे कितने हावी होंगे, इसका आंकलन भी इन मुलाकातों से किया जाएगा.

भागवत के कार्यक्रम से मीडिया रहेगी दूर

संघ प्रमुख के प्रवास के दौरान उम्मीद है कि बीजेपी के कई बड़े नेता भी मुलाकात के लिए यहां पहुंच सकते हैं. संघ प्रमुख के प्रवास से मीडिया को दूर रखा गया है. बीजेपी के प्रवक्ता उमेश शर्मा का कहना है कि सर संघचालक के इस प्रकार के प्रवास संघ की कार्यपद्धति का एक अंग है. इस बार का उनका प्रवास संपर्क पर केन्द्रित रहेगा और वे समाज के विभिन्न वर्गों से संवाद करेंगे. वे प्रबुद्धजनों के साथ ही राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाने वाले युवा वर्ग, विशेषकर जिन्होंने नवाचार कर स्टार्टअप शुरू किए हैं, लीक से हटकर समाज को कुछ देने का प्रयास कर रहे हैं, उनसे भेंट करेंगे.

अपनी ही सरकार को घेर रहीं पूर्व सीएम उमा

इधर, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने अपनी ही सरकार के खिलाफ डंडा उठाने की तैयारी कर ली है. उमा भारती शराबबंदी के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि वे 15 जनवरी के बाद सड़कों पर उतरेंगी. उनका कहना है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने जनजागरुकता के लिए 6 महीने का समय दिया है. इसके बाद शराबबंदी में सुधार नहीं हुआ तो वे डंडा लेकर सड़कों पर निकलेंगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज