लाइव टीवी
Elec-widget

देश में पहली बार इंदौर एयरपोर्ट पर दिव्यांग यात्रियों के लिए साइन लैंग्वेज सुविधा शुरू

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 27, 2019, 1:23 PM IST
देश में पहली बार इंदौर एयरपोर्ट पर दिव्यांग यात्रियों के लिए साइन लैंग्वेज सुविधा शुरू
इंदौर एयरपोर्ट पर साइन लैंग्वेज सुविधा शुरू

अभी एयरपोर्ट (airport) पर दो हेल्प डेस्क (help desk) बनाए गए हैं जिन पर चार-चार कर्मचारी तैनात किए गए हैं. जैसे ही ज्यादा लोग ट्रेंड हो जाएंगे डेस्क पर कर्मचारियों की संख्या बढ़ा दी जाएगी.

  • Share this:
इंदौर. इंदौर (indore) के देवी अहिल्याबाई होल्कर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Devi Ahilyabai Holkar International Airport) दिव्यांग यात्रियों (Disabled traveler) का दोस्त बन गया है. यहां मूक-बधिर यात्रियों के लिए अलग डेस्क बनाकर साइन लैंग्वेज (Sign language) सुविधा शुरू की गयी.अब इन यात्रियों को विमानों के आने-जाने और यात्रा संबंधी तमाम जानकारी इस डेस्क पर उपलब्ध रहेगी. साइन लैंग्वेज सुविधा देने वाला इंदौर देश का पहला एयरपोर्ट बन गया है. इंदौर के सांसद शंकर लालवानी ने फीता काटकर इसका उद्घाटन किया.

इंदौर का देवी अहिल्याबाई एयरपोर्ट अपने नये प्रयोग के लिए जाना जाता है. अब उसने यात्रियों को एक बड़ी सौगात दी है जो बोल या सुन नहीं सकते. इन यात्रियों को अब एयरपोर्ट पर सारी जानकारी साइन लैंग्वेज में उपलब्ध है. एयरपोर्ट के डिपार्चर और अराइवल एरिया में यात्रियों की सुविधा के लिए 'मे आई हेल्प यू' काउंटर शुरू किया गया है. इस पर यात्रियों के लिए वॉलिंटियर तैनात किए गए हैं. इन्हें स्पेशल ट्रेनिंग दी गयी है.
'May I help You'
एयरपोर्ट डायरेक्टर अर्यमा सान्याल ने बताया कि बुधवार से एयरपोर्ट के डिपार्चर और अराइवल एरिया में दिव्यांग यात्रियों की सुविधा के लिए 'May I help You' काउंटर शुरू कर दिया गया है. यहां तैनात स्टाफ सामान्य यात्रियों के साथ-साथ उन यात्रियों को भी जानकारी देगा जो बोल या सुन नहीं सकते.इसके लिए स्टाफ को स्पेशल ट्रेनिंग दी गयी है. डायरेक्टर ने बताया कि दिव्यांग यात्रियों के लिए सुविधा उपलब्ध कराने का सुझाव मिला था. ये सुझाव हमें अच्छा लगा और इसलिए अब साइन लैंग्वेज यहां शुरू की गयी. शासकीय मूक-बधिर स्कूल ने इस काम में एयरपोर्ट स्टाफ की मदद कर रहा है.

सिंगापुर एयरपोर्ट से मिली प्रेरणा
इंदौर के साइन लैंग्वेज एक्सपर्ट ज्ञानेन्द्र पुरोहित कहना है अभी हाल ही में सिंगापुर एयरपोर्ट पर ये सुविधा शुरू की गई है. उसके बाद इंदौर में प्रयोग किया जा रहा है. राष्ट्रीय मूक बधिर प्रशिक्षक श्रेयांस मिश्रा एयरपोर्ट पर तैनात कर्मचारियों को साइन लैंग्वेज की ट्रेनिंग दे रहे हैं. वो ये भी बता रहे हैं कि किस तरह ब्लाइंड व्यक्ति का हाथ पकड़कर उसे एस्कलेटर पर चढ़ाना है क्योंकि गलत तरीके से हाथ पकड़ना भी अवमानना की श्रेणी में आता है. व्हील चेयर पर आने वाले दिव्यांगों के साथ किस तरह का व्यवहार करना है.
बेहतर पहल
Loading...

दिव्यांगों के लिए काम करने वाली संस्था की डायरेक्टर मोनिका पुरोहित ने इस पहल का स्वागत किया. उन्होंने कहा-इंदौर एअरपोर्ट पर देश में ये अपनी तरह का अनोखा प्रयोग है. भारत में 21 तरह की दिव्यांगता की श्रेणी हैं. बौने लोग भी अब दिव्यांगता की श्रेणी में आ गए हैं. उन्हें हवाई जहाज में चढ़ने उतरने में दिक्कत होती है उनके लिए भी ये हेल्प डेस्क काफी मददगार साबित होगी.

अभी तो ये शुरुआत है
अभी एयरपोर्ट पर दो हेल्प डेस्क बनाए गए हैं जिन पर चार-चार कर्मचारी तैनात किए गए हैं. जैसे ही ज्यादा लोग ट्रेंड हो जाएंगे डेस्क पर कर्मचारियों की संख्या बढ़ा दी जाएगी. इस सुविधा से हवाई सफर करने वाले दिव्यांगों में एक नए तरह का आत्मविश्वास जगेगा.

ये भी पढ़ें-इंदौर में बिल्डर के घर डाका, गार्ड को बंधक बनाकर घर में दाख़िल हुए डकैत

मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ में जियो का रेवेन्यू मार्केट शेयर 47.5 फीसदी : ट्राई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 1:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...