लाइव टीवी
Elec-widget

सबसे ज़हरीला सांप बैंडेट क्रेट कोबरा आ पहुंचा इंदौर

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 19, 2019, 5:53 PM IST
सबसे ज़हरीला सांप बैंडेट क्रेट कोबरा आ पहुंचा इंदौर
इंदौर चिडियाघर में स्नेक पार्क खुला

750 फीट लंबे और 72 फीट चौड़े इस रेपटाइल्स हाउस में सांपों के लिए 15 कमरे बनाए गए हैं. इनमें 15 प्रजाति के 30 सांपों (snake) को दर्शक देख सकेंगे. ये सांप महाराष्ट्र (maharashtra), उत्तराखंड (uttarakhand) और तमिलनाडु से लाए गए हैं.

  • Share this:
इंदौर. इंदौर के चिड़ियाघर (indore zoo) में आज से स्नेक हाउस भी खुल गया है. इसमें रसेल वाइपर और कोबरा जैसे सांप रखे गए हैं, जो एक से बढ़कर एक ज़हरीले हैं. फिलहाल यहां 15 प्रजाति के 30 सांप और अजगर रखे गए हैं. स्नेक हाउस (snake house) बनाने में करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च हुए.

देश विदेश के सांप

इंदौर चिड़ियाघर में एक और नया चैप्टर खुल गया. तरह-तरह के वन्यजीव तो यहां पहले से ही थे. अब यहां सांप भी आ गए हैं. मंगलवार को मेयर मालिनी गौड़ ने स्नेक हाउस का उद्घाटन किया. ढाई साल में ये सांपघर बनकर तैयार हुआ है. 750 फीट लंबे और 72 फीट चौड़े इस रेपटाइल्स हाउस में सांपों के लिए 15 कमरे बनाए गए हैं. इनमें 15 प्रजाति के 30 सांपों को दर्शक देख सकेंगे. ये सांप महाराष्ट्र, उत्तराखंड और तमिलनाडु से लाए गए हैं.

आनंददायक ठिकाना-सांप घर को कुछ इस तरह बनाया गया है ताकि सांपों को प्राकृतिक वातावरण मिले. हर इनक्लोजर की छत को इस तरह से बनाया गया है कि सांप धूप सेंक सकें. इन कमरों में एक बगीचा, पानी का कुंड, रेत और मिट्टी वाला क्षेत्र भी है. इससे सांप आवश्यकता पड़ने पर अपने शरीर का तापमान बनाए रख सकेंगे. कमरे में कांच लगाए गए हैं ताकि दर्शक सांप की गतिविधियां देख सकेंगे.

एक से एक ज़हरीले सांप
स्नेक हाउस में जो सांप रखे गए हैं. उनमें सफेद मादा अजगर 7 से 8 फीट लंबी है. ग्रीन वाइन इसका शरीर पत्तियों की तरह है इसे कॉमन वाइन स्नैक भी कहा जाता है. ये सामान्य तौर पर श्रीलंका और इंडोनेशिया में पाया जाता है. छत्तीसगढ़ में पाया जाने वाला जहरीला सांप बैंडेट क्रेट कोबरा भी यहां मौजूद है. ये कोबरा से भी ज्यादा जहरीला होता है. यह घोड़ा पछाड़ सांप खाकर ही अपना पेट भरता है. दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में शुमार कोबरा भी है यहां जो जरा सी आहट पर सरपट भाग जाता है. बेहद ज़हरीला रसल वायपर सांप भी स्नेक हाउस में लाया गया है.ये दक्षिण पूर्व एशिया,दक्षिण चीन, ताइवान और मध्यप्रदेश में पाया जाता है. 4 फीट 1 इंच के इस सांप का सिर चपटा होता है. ये इंसान के शरीर के जिस हिस्से पर काटता है वो हिस्सा सड़ जाता है. शिकारी प्रजाति का रेड सैंड बोआ भी यहां मौजूद है. ये कृषि क्षेत्रों में रहने वाला सांप है. शिकार की चाह में ऊंचाई पर चढ़ जाता है.
चिड़ियाघर में अत्याधुनिक गेट
Loading...

महापौर मालिनी गौड़ ने कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय में नये प्रवेश द्वार का भी उद्घाटन किया. इसे बनाने में 1 करोड़ 96 लाख की लागत आयी है. गेट 24 मीटर चौड़ा और 15 मीटर उंचा है. इसमें प्रवेश द्वार में ही टिकिट घर, कंट्रोल रूम, अमानती सामान घर, टर्न स्टाईल गेट की व्यवस्था की गई है.
छोटे बच्चों के लिए बेबी ट्रॉली
कमला नेहरू प्राणि संग्रहालय में आने वाले छोटे-छोटे बच्चों को घुमाने के लिए बेबी ट्रॉली की भी व्यवस्था की गई है. ये बेबी ट्रॉली प्रवेश द्वार पर ही निःशुल्क उपलब्ध रहेगी. इससे महिलाऐं अपने छोटे बच्चो को बेबी ट्रॉली में बैठा कर उन्हे प्राणि संग्रहालय में घुमा सकती है. महापौर ने बेबी ट्रॉली में बच्चों को बैठाकर घुमाया भी.

ये भी पढ़ें-ऋषिकेश में फिसलीं उमा भारती, पैर में फ्रैक्चर : CM कमलनाथ ने कहा-Get well soon

ऋषिकेश में फिसलीं उमा भारती, पैर में फ्रैक्चर : CM कमलनाथ ने कहा-Get well soon

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 5:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...