Home /News /madhya-pradesh /

software engineer fraud crores from australian cancer patient forged apple ceo sign indore police in shock cgpg

इंदौर के सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने ऑस्ट्रेलियाई कैंसर पेशेंट से ठगे 1 करोड़, 4 साल तक देता रहा चकमा और फिर..

Indore Latest News: ऑस्ट्रेलिया के कैंसर मरीज ने इंदौर के दो युवकों पर करोड़ों की ठगी करने का आरोप लगाया है.

Indore Latest News: ऑस्ट्रेलिया के कैंसर मरीज ने इंदौर के दो युवकों पर करोड़ों की ठगी करने का आरोप लगाया है.

Indore News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) के इंदौर के दो युवकों पर ऑस्ट्रेलियाई शख्स से करोड़ों की ठगी का आरोप है. पीड़ित का कहना है कि दोनों आरोपियों ने एप्लीकेशन डेवलेप करने का झांसा देकर पैसे वसूले. इतना ही नहीं एप्पल कम्पनी के सीईओ टिम कुक के जाली हस्ताक्षर से एक अनुबंध तैयार किया. जब ठगी का पता चला तब पीड़ित ने इंदौर पुलिस की जानकारी जुटाई और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए पूरे मामले की शिकायत की है.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. इंदौर पुलिस के पास पहुंची ऑस्ट्रेलियाई शख्स की शिकायत से सनसनी फ़ैल गई है. इंदौर के ही दो युवकों पर करोड़ों की ठगी का आरोप है. वेब डवलपर ने अपने दोस्त को i – Phone कंपनी का मैनेजर बताया और उसके माध्यम से ही विदेशी नागरिक को कम्पनी में साझेदारी दिलवाया. दोनों दोस्तों ने मिलकर एप्पल कम्पनी के सीईओ टिम कुक के जाली हस्ताक्षर से एक अनुबंध तैयार करवाया और विदेशी नागरिक को उस कम्पनी में शेयर होल्डर घोषित कर दिया. दोनों युवकों ने मिलकर  विदेशी नागरिक से अलग-अलग समय पर एक करोड़ से अधिक की राशि भी वसूल ली.विदेश नागरिक पॉल शेफर्ड ने जब एप्पल कम्पनी के मुख्यालय सिडनी में सपंर्क किया तो उन्हें अहसास हुआ कि उनके साथ ठगी हुई है. पॉल ने अपने भारतीय ऐसोशिएट पार्टनर के माध्यम से अब इंदौर पुलिस से शिकायत करवाई है. इसके साथ ही पॉल ने भी ऑनलाइन विभिन्न माध्यम से एक वीडियो के जरिए मदद की गुहार लगाई है.

दरअसल ऑस्ट्रेलिया के पॉल शेपर्ड पेशे से अकाउंटेंट हैं. उन्होंने अकाउंट्स का सॉफ्टवेयर बनाने के लिए ऑनलाइन एक विज्ञापन दिया था. इंदौर के वेब डवलपर  मयंक सलूजा ने उनसे संपर्क किया. मयंक ने अपने दफ्तर के अधिकृत दस्तावेज आदि की जानकारी पॉल शेफर्ड के साथ साझा की. इंदौर वेव डवलपर ने भारतीय करंसी के हिसाब से महज पचास हजार रुपए में मनचाही ऍप्लिकेशन बनाने का दवा कर सौदा तय कर लिया.

इंदौर के जालसाज ने ऐसे की ठगी 

कुछ दिनों बाद मयंक ने एक डेमो एप्लीकेशन भेजकर पॉल से कहा कि सॉफ्टवेयर तैयार है, लेकिन वह सिर्फ और सिर्फ विंडोज पर ही स्पोर्ट करेगा. अगर वह एप्पल प्लेटफॉर्म पर भी इसे चाहते है तो उसके लिए अलग से एप्पल कम्पनी से अनुबंध करना होगा. उसके लिए अलग से राशि चुकानी होगी. पॉल ने सौदा तय करते हुए राशि अदा कर दी. मयंक ने कहा कि इस तरह के कोई भी एग्रीमेंट टिम कुक ही साइन करते हैं. मयंक ने दावा किया कि वह एप्पल कम्पनी के सीईओ है. यह कहकर मयंक ने चार साल तक सॉफ्टवेयर नहीं बनाया और रुपए वसूलता रहा. जब पॉल को शक हुआ तो वे सिडनी स्थित एप्पल ऑफिस पहुंचे. यहां उन्हें सच्चाई का पता चला.

सितंबर 2018 में पॉल ने 200 डॉलर का पहला ऑनलाइन पेमेंट सीधे मयंक के खाते में किया था. 29 नवंबर 2018 को पॉल ने अपनी बीमारी के बारे में मयंक को बताया. पॉल ने कहा कि वो ब्रेन कैंसर से अधिक दिन नहीं लड़ पाएंगे. यह भी बताया कि वे कोई भी बात लंबे समय तक याद नहीं रख पाते हैं. इसी का फायदा उठाते हुए मयंक ने 4 साल में पॉल से खाते में 1 लाख 77 हजार डॉलर ट्रांसफर करा लिए. यह राशि भारतीय करंसी के हिसाब से करोड़ों में है.

जब कुछ समय बाद पॉल ने जल्द काम खत्म करने को कहा तो मयंक ने पॉल से कहा कि एप्पल के एशिया हेड अथर्व उसके स्कूल के दोस्त हैं. उनसे बात करनी होगी. मयंक ने अथर्व की एक फर्जी प्रोफाइल भी बना ली. इसपर एशिया हेड का उल्लेख भी था. इसकी जानकारी पॉल को साझा कर दी. इससे पॉल को भरोसा भी हो गया.  इस आधार पर पॉल को यकीन दिलाया कि जल्द एप्पल से अनुबंध हो जाएगा और उनकी बनाई हुई स्क्रीन प्रेजेंटेशन एप्लिकेशन अब सभी कंपनी के कम्प्यूटर पर चलेगी.

ठग ने एप्पल के सीईओ के जाली साइन भी की

मयंक ने एप्पल कंपनी के लेटर हेड पर CEO टिम कुक के जाली साइन कर एग्रीमेंट पॉल को भेजा. कुछ समय बाद कहा कि एप्पल में आप को कुछ शेयर खरीदने होंगे. कंपनी में कुछ शेयर खरीदने के बाद वो हमारे सॉफ्टवेयर को अपने प्लेटफॉर्म पर चलाने के लिए जगह देंगे. 11 जून 2020 को पॉल एप्पल के शेयर खरीदने के लिए तैयार हो गए. मयंक के माध्यम से ही शेयर खरीदे. इसके बाद 5 नवंबर 2020 को मयंक ने टिम कुक का फर्जी हस्ताक्षर किया हुआ एग्रीमेंट पॉल को भेज दिया. मयंक ने पॉल को सॉफ्टवेयर बन जाने के बाद टिम कुक द्वारा लॉन्च करने की बात कही. इसके लिए उसने पॉल से कहा कि टिम कुक के आने से पहले उनके कर्मचारियों की ड्रेस बनवानी होगी. उसने पूरा प्रोग्राम के अरेंजमेंट करने के नाम पर फिर रुपए की मांग की. इस तरह 4 साल में मयंक ने पॉल से 1 करोड़ रुपए ठग लिए.

ये भी पढ़ें:  छिंदवाड़ा में आफत की बारिश, घरों में घुसा पानी, बहते-बहते बचा बुलडोजर, देखें VIDEO
जब कुछ समय तक काम नहीं हुआ पॉल ने अपने पैसे वापस मांगना शुरू कर दिया.  इसके बाद मयंक ने अपने आपको बीमार बताया. मयंक ने कुछ हॉस्पिटल की फोटो शेयर कर दी और समय-समय पर अलग- अलग बहाने बनाता रहा. आखिर में मयंक ने अपने आपको एक बड़े राजनैतिक शख्शियत और पुलिस अफसर का करीबी रिश्तेदार बताकर धमकाना शुरू कर दिया. इसके बाद पॉल ने ऑनलाइन जानकारी जुटाकर इंदौर पुलिस की जानकारी एकत्रित की और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से शिकायत कर्ज करवाई.

Tags: Crime in Indore, Cyber Fraud, Indore news, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर