पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से उनके घर पर मिलने पहुंचे खेल मंत्री जीतू पटवारी

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से उनके घर पर मिलने पहुंचे खेल मंत्री जीतू पटवारी

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से उनके घर पर मिलने पहुंचे खेल मंत्री जीतू पटवारी

रविवार को खेल मंत्री जीतू पटवारी (Jitu Patwari) और पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) की मुलाकात ने मध्य प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) जिले में रविवार को खेल मंत्री जीतू पटवारी (Jitu Patwari) और पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) की मुलाकात ने मध्य प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है. बता दें कि जीतू पटवारी रविवार सुबह साइकिल चलाकर सुमित्रा महाजन से मिलने उनके घर पर पहुंचे, जहां बंद कमरे उनकी करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई. हालांकि जीतू पटवारी और सुमित्रा महाजन दोनों इसे सौजन्य मुलाकात बता रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Election) से पहले इस मुलाकात के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं.



लोकसभा चुनाव (Lok Sabha) में टिकट नहीं मिलने और फिर महाराष्ट्र का राज्यपाल (Governor) न बनाए जाने से आहत पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से मिलने रविवार को खेल मंत्री जीतू पटवारी उनके आवास पहुंचे. दोनों नेताओं की बंद कमरे में करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई. नगरीय निकाय चुनाव से पहले ये मुलाकात सियासी रूप से काफी अहम मानी जा रही है क्योंकि सुमित्रा महाजन अपने बेटे मंदार महाजन को सक्रिय राजनीति में देखना चाहती है.



दोनों पार्टियों में अच्छे लोग हैं: सुमित्रा महाजन





ऐसे में इस मुलाकात को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है. सुमित्रा महाजन की अपनी पार्टी से नाराजगी कांग्रेस के लिए एक फायदे का सौदा हो सकता है. शायद इसीलिए जीतू पटवारी सुमित्रा महाजन का मन टटोलने उनके घर पहुंचे. इस दौरान सुमित्रा महाजन ने जीतू पटवारी की तारीफ करते हुए कहा कि मैंने उसे अच्छा काम करने के लिए आशीर्वाद दिया. उन्होंने कहा कि अच्छा काम करने वालों को वो हमेशा सुझाव देती रहती हैं. दोनों पार्टियों में अच्छे लोग हैं उनमें एक जीतू पटवारी भी शामिल हैं.
मुलाकात-meeting
चाय पर चर्चा करते जीतू पटवारी और सुमित्रा महाजन




खेल मंत्री जीतू पटवारी का कहना है कि उनकी मुलाकात को राजनीति से जोड़कर न देखा जाए. उन्होंने कहा कि "इस मीटिंग से नगरीय निकाय चुनाव का कोई लेना-देना नहीं है. ताई का स्नेह और मार्गदर्शन उन्हें मिलता रहे वो जरूरी है. उन्होंने कहा कि ताई का लंबा राजनीतिक जीवन रहा है उनका मार्गदर्शन लेता रहता हूं. मेरे क्षेत्र में बड़ी संख्या में मराठी समाज के लोग रहते हैं उनकी समस्याओं के बारे में ताई ने मुझे निर्देशित किया वो बात भी करनी थी." वहीं सुमित्रा महाजन के अपनी पार्टी से नाराजगी के सवाल को टालते हुए मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि अभी तो वो बहुत खुश दिखाई दीं.



ये भी पढ़ें:- मध्य प्रदेश में बेरोज़गारों को सरकारी नौकरी देने की तैयारी में कमलनाथ सरकार



ये भी पढ़ें:- अलग अंदाज़ में अपनी खास फैन से मिले विराट कोहली, कैप पर दिया ऑटोग्राफ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज