नाले में खतरनाक केमिकल डालने वाला टैंकर चालक गिरफ्तार

टैंकर चालक केमिकल को लेकर नागदा से निकला था और उसे इस केमिकल को कहीं भी नाले और नदीं में खाली करना था. इसके लिए ड्रायवर को पांच हजार रुपए दिए गए थे.

Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 7:03 PM IST
नाले में खतरनाक केमिकल डालने वाला टैंकर चालक गिरफ्तार
नाले में खतरनाक केमिकल बहाने का आरोपी टैंकर चालक पुलिस की गिरफ्त में.
Vikas Singh Chauhan | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 7:03 PM IST
गत तीन अक्टूबर को इंदौर के भागीरथपुरा इलाके के नाले में खतरनाक केमिकल डालने वाले टैंकर चालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी का नाम प्रकाश बलाई है, जिसे क्षिप्रा थाना इलाके में केमिकल से भरे टैंकर को खाली करते हुए गिरफ्तार किया गया है.

बताया जाता है कि ये केमिकल बेहद ही खतरनाक है, जिसका पीएच स्तर 2.8 है. हालांकि अब तक पॉल्‍यूशन कंट्रोल बोर्ड इस बात की जानकारी नहीं दे पाया है कि ये कौन सा केमिकल है, लेकिन इसे एसिटिक बताया गया है, जो कि लोगों के लिए बेहद हानिकारक है. आरोपी टैकर चालक इस केमिकल को नागदा (उज्‍जैन) के एक गोडाउन से लेकर यहां आया था. इस गोडाउन और फैक्टरी का मालिक मनोहर पोरवाल और टैंकर मालिक योगेन्द्र चंद्रवाल है. दोनों के ही खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

इंदौर एसपी (पश्चिम) सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि अब तक की जांच में सामने आया है कि टैंकर चालक केमिकल को लेकर नागदा से निकला था और उसे इस केमिकल को कहीं भी नाले और नदीं में खाली करना था. इसके लिए ड्रायवर को पांच हजार रुपए दिए गए थे. इस पूरे मामले को नागदा में स्थित केमिकल फैक्‍टरियों की अनिमितता से भी जोड़कर देखा जा रहा है.

दरअसल, नागदा में कई केमिकल फैक्‍टरियां हैं, जिनमें खतरनाक केमिकल वेस्‍ट निकलता है, जिसे पहले तो चंबल नदी में बहा दिया जाता था, लेकिन नागदा में पॉल्‍यूशन कंट्रोल बोर्ड की सख्ती के बाद चंबल नदी में केमिकल बहाने पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है. लिहाजा अब फैक्टरी संचालक केमिकल इसी तरह से दूसरी नदियों और नालों में रुपए देकर खाली करवाते है. इसे लेकर पुलिस अब जांच का दायरा भी बढ़ा रही है.

यह भी पढ़ें- इंदौर में खतरनाक ड्रग बरामद, 50 लाख लोगों की मिनटों में जा सकती थी जान

यह भी पढ़ें- इंदौर में चल रहा था विदेशी नशीली दवाओं का अंतर्राष्ट्रीय रैकेट, 110 करोड़ की ड्रग ज़ब्त
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर