Home /News /madhya-pradesh /

पहले स्वच्छ बनाया अब स्वस्थ बनाएंगे : वैक्सीनेशन के लिए इंदौर ने अपनायी थी ये रणनीति

पहले स्वच्छ बनाया अब स्वस्थ बनाएंगे : वैक्सीनेशन के लिए इंदौर ने अपनायी थी ये रणनीति

इंदौर में टीकाकरण अभियान भी चुनाव की तर्ज पर चलाया गया.

इंदौर में टीकाकरण अभियान भी चुनाव की तर्ज पर चलाया गया.

Indore-कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) में इंदौर देश के सभी जिलों में टॉप पर रहा. देश के 24 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी इंदौर ने पीछे छोड़ दिया.

इंदौर. स्वच्छता के मामले में देश भर में कीर्तिमान रचने वाले इंदौर (Indore) शहर ने एक बार फिर से यह बात साबित कर दी है कि इंदौरी जो ठान लेते हैं वह कर के दिखाते हैं. इस बार इंदौर ने वैक्सीनेशन (Vaccination) के मामले में नया कीर्तिमान गढ़ दिया है. एक ही दिन में दो लाख से ज्यादा लोगों ने वैक्सीन लगवाकर इंदौर ने एक बार फिर से बड़े शहरों को पीछे छोड़ दिया है.

देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर साफ सफाई के मामले में तो लगातार इतिहास रचता आ रहा है. अब इसी शहर में कोरोना महामारी को हराने के लिए भी तेजी से अपने कदम आगे बढ़ा दिए हैं. इंदौर में वैक्सीनेशन के आंकड़े ये बयान कर रहे हैं.

21 जून को जब मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन महा अभियान शुरू किया गया तो इंदौर ने एक ही दिन में 2 लाख 21 हजार 659 लोगों ने वैक्सीन लगवा लिया. इस तरह एक नया रिकॉर्ड कायम कर दिया. एक ही दिन में दो लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने के मामले में भी इंदौर देश का पहला जिला बन गया है. वैसे तो इंदौर की पहचान मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी के रूप में भी होती है लेकिन जब यह शहर कोई संकल्प ले लेता है तो उसे पूरा करके दिखाता है. ये किस तरह संभव हुआ ये जानना भी दिलचस्प है.

वैक्सीनेशन में नंबर वन बना इंदौर
सफाई में लगातार चार बार से नंबर वन आ रहे इंदौर में टीकाकरण अभियान भी चुनाव की तर्ज पर चलाया गया.
- वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए 5 दिन तक लगातार अवेयरनेस प्रोग्राम चलाए गए.
- जिला प्रशासन के साथ नगर निगम और पुलिस महकमे ने भी महाअभियान में मैदान संभाला.
- अलग-अलग व्यापारिक संगठनों और रहवासी संघ के साथ ही शहर के प्रबुद्ध जनों के साथ प्रशासन ने बैठक की.
- इंदौर जिला प्रशासन ने जनप्रतिनिधियों की मदद से सोशल मीडिया पर भी अभियान चलाया
- देश के पहले कोविड- सेफ रोड के जरिए भी वैक्सीनेशन का संदेश दिया गया.
- जनप्रतिनिधियों ने भी राजनीति से ऊपर उठकर इस अभियान को सफल बनाने में भूमिका निभाई.
- ऑन व्हील वैक्सीनेशन सेंटर्स के साथ ही ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर भी चलाए गए.
- वैक्सीनेशन को लेकर शहर के जनप्रतिनिधि साइकिल पर सवार होकर लोगों से अपील करने के लिए निकले
- दिव्यांग जनों के लिए अलग से वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए
- शहर के मॉल में भी वैक्सीनेशन सेंटर खोले गए.
- जगह जगह लकी ड्रॉ के लिए आयोजन
- बसों में फ्री सफर का तोहफा
- सोशल मीडिया को हथियार बनाकर कैम्पेनिंग
- शहर की राजनैतिक, सामाजिक, आध्यात्मिक,धर्मगुरुओं और खेल से जुड़ीं हस्तियों से अपील
- एआईसीटीएसएल ऑफिस में कंट्रोल रूम के जरिये वैक्सीनेशन महाभियान की मॉनिटरिंग

मुहिम का असर
प्रशासन की मुहिम का असर वैक्सीनेशन महाअभियान में देखने मिला. यही वजह रही कि इंदौर देश के सभी जिलों में टॉप पर रहा. यही नहीं, देश के 24 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी इंदौर ने पीछे छोड़ दिया. इंदौर के इसी जज्बे को सीएम शिवराज ने भी सराहा और जनप्रतिनिधियों के साथ ही अधिकारियों की भी पीठ थपथपाई. प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने इंदौर की इस सफलता का श्रेय यहां की जनता को दिया.

वैक्सीनेशन में मिसाल
कुल मिलाकर इंदौर ने बेहतर प्लानिंग के साथ ही यह बात साबित कर दी है कि चुनौती कोई भी हो यहां की जनता अगर ठान ले तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है. स्वच्छता के बाद अब कोरोना कि इस लड़ाई में भी इंदौर दूसरे जिलों के लिए मिसाल बन गया है.

Tags: Corona in indore, Corona Vaccination Center, Corona vaccination drive

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर